Bageshwar Dham Sarkar: 'रामचरितमानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित किया जाना चाहिए'

Bageshwar Dham Sarkar: पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कहा है कि रामचरितमानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित कर देना चाहिए तभी भारत विश्व गुरू बनेगा।
बागेश्वर धाम सरकार | Facebook
बागेश्वर धाम सरकार | Facebook

Bageshwar Dham Sarkar: अपने दावे और कथित चमत्कार से विवादों में घिरे पंडित धीरेंद्र शास्त्री रायपुर से अब मध्यप्रदेश के छतरपुर पहुंचे हैं। वहां उन्होंने कहा है कि रामचरितमानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित कर देना चाहिए तभी भारत विश्व गुरू बनेगा। बाबा ने कहा कि तभी सामाजिक समरसता होगी। अभी एक दिन पहले ही उन्होंने हिंदू राष्ट्र बनाने की बात भी कही थी। अब उन्होंने रामचरित मानस को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित करने की वकालत की है।

क्या कहा था एक दिन पहले?

Bageshwar Dham Sarkar: रायपुर में लगे दरबार के आखिरी दिन बाबा धीरेंद्र शास्त्री ने कहा था, 'तुम मेरा साथ दो, मैं हिंदू राष्ट्र दूंगा।' धीरेंद्र शास्त्री हाल के दिनों में सुर्खियों में रहे हैं और अब सीधे धर्म को लेकर खुलेआम बयान भी दे रहे हैं। उन्होंने हिंदू राष्ट्र के साथ-साथ मौलवियों और पादरियों पर भी टिप्पणियां की थी। दो दिन पहले उनके मंच से धर्म परिवर्तन हुआ था। सुल्ताना सुरभि बन गई थी।

Bageshwar Dham Sarkar: गौरतलब है कि नागपुर में एक कार्यक्रम के दौरान उनके खिलाफ महाराष्ट्र के जादूटोना विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की मांग हुई थी। चुनौती दी गई थी कि अगर वो वाकई सबके बारे में सब जान लेते हैं, तो अंधश्रद्धा उन्मूलन समीति के सामने आएं। अगर वो जीत गए, तो उन्हें 30 लाख रुपये दिये जाएंगे। इल्ज़ाम है कि धीरेंद्र शास्त्री ने चैलेंज स्वीकार नहीं किया था और जो कार्यक्रम 13 जनवरी तक चलना था, वो 11 जनवरी तक ही चला। उनके समर्थकों ने नागपुर में अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति की सभा में हंगामा कर दिया था।

लखीमपुर खीरी केस के आरोपी आशीष मिश्रा
लखीमपुर खीरी केस के आरोपी आशीष मिश्रा

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in