कौन शामिल था Prajwal Revanna को जर्मनी भगाने में? उठे कई सवाल, क्या है 3000 वीडियो Clips का सच? 

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

सगाय राज के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Prajwal Revanna Sex Scandal: सेक्स स्कैंडल में देवेगौड़ा के विधायक बेटे एचडी रेवन्ना और हासन सीट से सांसद पोते प्रज्वल रेवन्ना पर गंभीर आरोप लगे हैं, लेकिन खबर ये भी है कि रेवन्ना जर्मनी भाग गया है। आखिर वो विदेश कैसे भागा गया? ये सवाल खड़ा हो गया है। इसके पीछे क्या साजिश थी? सवाल ये भी है कि इतनों दिनों से आरोपी ये कृत्य कर रहा था, लेकिन ये मामला प्रकाश में अब क्यों आया? क्यों पुलिस ने शुरुआत में इस सिलसिले में कोई कार्रवाई नहीं की?

प्रज्वल रेवन्ना को जर्मनी किसने भगाया?

प्रज्वल रेवन्ना पर यौन शोषण, सेक्स वीडियो रिकॉर्ड करने, धमकाने सहित साजिश रचने जैसे आरोप लगे हैं। 33 साल का रेवन्ना शनिवार सुबह ही जर्मनी भाग गया। उधर,  रेवन्ना का दावा है कि उनके वीडियो से छेड़छाड़ की गई है और उनकी छवि खराब करने के लिए इन वीडियो को सर्कुलेट किया जा रहा है। जांच के लिए 18 अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को नियुक्त किया गया है, जिनमें तीन असिस्टेंट कमिश्नर पुलिस (एसीपी) और दो इंस्पेक्टर शामिल हैं। इन पुलिसकर्मियों को जांच के सिलसिले में राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा।

ADVERTISEMENT

ये हैं आरोप?

दरअसल, इस सिलसिले में शिकायत रेवन्ना के घर काम करने वाली एक महिला ने की थी। महिला ने एचडी रेवन्ना और उनके बेटे प्रज्वल पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 354(A) (यौन शोषण), 354(D) (पीछा करना), 506 (धमकाना) और 509 (बोलकर या इशारों से महिला की गरिमा का अपमान करना) के तहत केस दर्ज किया था। पीड़िता होलेनरासीपुर की रहने वाली है। उसका पति एचडी रेवन्ना की मिल्क डेयरी में मजदूरी करता है। दावा है कि पीड़िता एचडी रेवन्ना की पत्नी भवानी की रिश्तेदार है। 2019 में रेवन्ना के बेटे सूरज रेवन्ना की शादी के दौरान काम करने के लिए उसे बुलाया गया था। तभी से वो यहां काम कर रही थी। फिर रेवन्ना ने उसका यौन शोषण किया। इस सिलसिले में एसआईटी जांच शुरू हो गई है। कर्नाटक के हासन में दो मामले दर्ज किए गए हैं। एक मामला एचडी रेवन्ना और दूसरा उनके बेटे प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ दर्ज हैं। एक अन्य मामला नवीन गौड़ा के खिलाफ भी दर्ज है। ये दोनों मामले कर्नाटक सरकार के आदेश पर जांच के लिए एसआईटी को सौंप दिए गए हैं। 

तीन टीम लगी जांच में, तीनों का अलग-अलग काम

मामले में एसआईटी ने तीन विशेष यूनिट का गठन किया है। मैसूर की SP सीमा लटकर की अगुवाई में गठित पहली टीम यौन उत्पीड़न के एंगल से मामले की जांच करेगी। SP सुमन डी पन्नाकर की अगुवाई में दूसरी टीम मामले में सामने आए वीडियो और पेन ड्राइव का एनालिसिस करेगी। वहीं, मामले में सबूतों के तकनीकी पहलू की जांच के लिए एक टेक्निकल टीम का भी गठन किया गया है। सीमा लटकर की अगुवाई वाली टीम पीड़ितों का पता लगाने और हासन से सूचना इकट्ठा करने पर ध्यान केंद्रित करेगी। इसके अलावा ये टीम हासन में शुरुआती जांच भी शुरू करेगी। सुमन पन्नाकर की टीम पीड़ितों को एसआईटी हेडक्वार्टर लाकर पूछताछ की प्रक्रिया शुरू करेगी और उनके बयान दर्ज करेगी। वहीं, टेक्निकल टीम सभी वीडियो की जांच करेगी।
 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT