Jammu and Kashmir: कश्मीर से धारा 370 हटने के तीन साल बाद आंतकी घटनाओं में कमी

Jammu and Kashmir Article 370 Revoked: घाटी से धारा 370 हटाए जाने के बाद आतंकी घटनाओं में कमी आई है। कश्मीर पुलिस ने धारा-370 से पहले के तीन साल और उसके हटाए जाने के तीन साल के आंकड़े शेयर किए है।
फाइल चित्र
फाइल चित्र

पूजा शाली के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Jammu and Kashmir Artical 370 Revocked: जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के आज तीन साल पूरे हो गए हैं। धारा 370 हटाने के बाद के बाद आतंकी घटनाओं में कमी आई है। इसके साथ ही लॉ एंड ऑर्डर की घटना में किसी भी नागरिक और जवान की मौत नहीं हुई है। आतंकी घटनाओं में आम लोगों की मौतों की संख्या में भी कमी आई है।

Article 370 Removal : जम्मू-कश्मीर पुलिस ने धारा 370 (Article 370) के पहले और बाद के 3 साल की घटनाओं की तुलना करते हुए जानकारी दी है कि कश्मीर जोन में आतंकी घटनाओं में कमी आई है। पुलिस ने इन मामलों को छह कैटेगरी में बांटा है।

लॉ एंड ऑर्डर की घटनाएं : इनमें लॉ एंड ऑर्डर की घटनाएं जो 5 अगस्त 2016 से 4 अगस्त 2019 के बीच में 3686 हुई थीं, 5 अगस्त 2019 से 4 अगस्त 2022 के बीच में सिर्फ 438 ही हुईं।

इसके अलावा लॉ एंड ऑर्डर की घटनाओं में 370 हटाए जाने से तीन साल पहले 124 नागरिकों की मौत हुई थी, जो स्पेशल स्टेटस हटाए जाने के बाद शून्य हो गईं। इसके अलावा ऐसी घटनाओं में छह जवान भी शहीद हुए थे, लेकिन 2019 के बाद किसी भी जवान की मौत नहीं हुई है।

आतंकी घटनाएं: कश्मीर में आतंकी घटनाओं की बात करें तो 5 अगस्त, 2016 से 4 अगस्त, 2019 के बीच कुल 930 घटनाएं हुई थीं, जो 370 हटाए जाने के बाद घटकर 617 हो गईं। इन आतंकी घटनाओं में 370 लागू रहने से पहले 290 जवान शहीद हुए थे और 191 नागरिक मारे गए थे। धारा 370 हटाए जाने के 3 साल बाद 174 जवान शहीद हुए और 110 लोग मारे गए।

केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने साल 2019 में 5 अगस्त के दिन ही जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद-370 (Article 370 of Indian Constitution) को हटा दिया था।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in