अमित शाह के फेक वीडियो से मचा बवाल, एक्शन में दिल्ली पुलिस

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Loksabha Election Trend News: लोकसभा चुनाव का जोर और शोर अब अपने शबाब पर जाता दिखाई पड़ रहा है। चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमाने उतरे तमाम उम्मीदवारों में से अब तक दो चरणों में 190 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद भी हो चुकी है। अब तीसरे चरण में अपनी पूरी ताकत झोंककर विरोधियों को परास्त करने के जज्बे के साथ तमाम प्रत्याशी जोर लगा रहे हैं। तमाम तरह के साम दाम दंड भेद की नीति के साथ हर पार्टी चुनाव में बाजी मारने की जद्दोदजहद में है।

अमित शाह का वीडियो हुआ ट्रेंड

इसी जोरआजमाइश के बीच अचानक सोशल मीडिया पर देश के गृहमंत्री अमित शाह और उनका एक वीडियो ट्रेंड करने लगा। आरक्षण के मुद्दे को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री का ये बयान अपने आप में चर्चा में आ गया, लेकिन थोड़ी ही देर में ये बात भी सोशल मीडिया पर फैलने लगी कि ये वीडियो फेक है, और साथ ही उसी वीडियो का असली वर्जन सामने आ गया। केंद्रीय गृह मंत्री के फेक वीडियो को लेकर दिल्ली पुलिस फौरन ऐक्टिव हो गई। और देखते ही देखते दिल्ली पुलिस ने एक सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स हैंडल के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज की है। क्योंकि गृहमंत्री का फेक वीडियो एक्स पर ही ट्रेंड कर रहा था। 

Amit Shah Trend Video fir against X

एक्स हैंडल के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की

दरअसल गृह मंत्री अमित शाह के बयान को कांट छांट करके फर्जी तरीके से उसे आरक्षण खत्म करने वाला बयान बनाकर वायरल कर दिया गया। अमित शाह के एडिट बयान को सर्कुलेट करने वाले एक्स हैंडल के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही इस मामले में गिरफ्तारी भी मुमकिन है। हालांकि इससे पहले भारतीय जनता पार्टी ने आंध्र प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के पास शनिवार को एक शिकायत दर्ज कराई थी। 

ADVERTISEMENT

कांग्रेस के खिलाफ शिकायत

बीजेपी का आरोप था कि कांग्रेस के एक सोशल मीडिया हैंडल पर परंपरागत रूप से वंचित समुदायों के लिए आरक्षण के मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का 'छेड़छाड़ किया गया भाषण' पोस्ट किया। । बीजेपी की आंध्र प्रदेश इकाई की ओर से दी गई शिकायत में निर्वाचन आयोग के अधिकारी से कार्रवाई करने और कांग्रेस के उक्त 'एक्स' खाते को फौरन से पेश्तर बंद करने की भी अपील की गई है। 

मूल भाषण के साथ छेड़खानी

शिकायत यही है कि एक रैली में दिए गए अमित शाह के मूल भाषण के साथ छेड़खानी की गई। शिकायत में कहा गया, 'केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी ने एससी, एसटी और ओबीसी के आरक्षण के खिलाफ ऐसा कोई शब्द नहीं कहा और कांग्रेस पार्टी के IT cell ने अपने राजनीतिक लाभ और आंध्र प्रदेश समेत पूरे भारत में चुनाव में बीजेपी को नुकसान पहुँचाने की गरज से ही मूल भाषण के साथ छेड़खानी की गई। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT