रूसी सरकारी मीडिया को मिल गया नया टास्क, चैनल के एंकर ने ब्रिटेन को दी परमाणु हमले की धमकी

क्या रूस की परमाणु सुनामी में डूब जाएगा यूनाइटेड किंगडम ? क्या रूस की सिर्फ एक सरमत मिसाइल पूरे यूनाइटेड किंगडम को तबाह कर सकती है?
रूसी सरकारी मीडिया को मिल गया नया टास्क, चैनल के एंकर ने ब्रिटेन को दी परमाणु हमले की धमकी
रूस का सरकारी मीडिया के न्यूज़ एंकर ने दी ब्रिटेन को परमाणु हमले की धमकी

Russian Ukraine War: रूस के पास दुनियाभर की मिसाइलें हैं। एक से बढ़कर एक तबाही के हथियार हैं। इन्हीं के दम पर रूस अमेरिका से लेकर नाटो को धमकाता है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से लेकर उनके विदेश मंत्री तक परमाणु युद्ध की धमकी देकर दुनिया को धमका चुके हैं। लेकिन अब इस काम का ज़िम्मा रूस के मीडिया ने अपने कंधों पर उठा लिया है।

नाटो को परमाणु युद्ध की धमकी देने वाले रूस के सरकारी टीवी के एंकर दिमित्री किसील्योव्सक हैं, जिन्होंने यूक्रेन को बढ़चढ़कर हथियारों की सप्लाई कर रहे यूनाइटेड किंगडम पर कई तरह से हमला करने की धमकी दे डाली। ऐसे में सवाल यही है कि क्या रूस इस तरह से UK पर हमला करेगा जैसा वहां के सरकारी ऐंकर ने फरमाया? या फिर रूस की पनडुब्बी अमेरिकी दोस्त को पूरी तरह से तबाह और बर्बाद करेगी ? ये सवाल फिलहाल सवाल ही है लेकिन इसी सवाल ने ब्रिटेन की फिज़ा में एक अजीब सी दहशत का ज़हर घोल दिया है। जिसने माहौल बेहद डरावना बना दिया है।

ब्रिटेन को रूस का तिरछी निगाहों से घूरने की ये है सबसे बड़ी वजह

Russian Ukraine War: इसी बीच रूस ने हाल ही में सरमत मिसाइल का भी परीक्षण कर डाला। और इस मिसाइल की खूबिया बताते बताते रूसी अधिकारी और यहां तक रूसी राष्ट्रपति भी नहीं आघाते। इस बात में कोई शक नहीं है कि सरमत मिसाइल दुनिया की सबसे खतरनाक मिसाइल है। ये मॉस्को से अगर उड़ान भरे तो इंग्लैंड और अमेरिका के टैक्सास तक को तबाह करने के लिए अकेले काफी है।

लेकिन आखिर यहां ब्रिटेन को इस तरह से डराने और धमकाने की कौन सी ज़रूरत आ गई। क्यों रूस ब्रिटेन को लगातार तिरछी निगाहों से घूर रहा है। हालांकि शुरू में तो उसका ब्रिटेन से कोई झगड़ा नहीं था। मगर रूस ये तो अच्छी तरह से जानता है कि यूरोप के भीतर अमेरिका का अगर कोई सबसे सच्चा साथी है तो वो ब्रिटेन है। ऐसे में अमेरिका के खिलाफ़ रूस का सारा ग़ुस्सा भी तो ब्रिटेन को झेलना पड़ सकता है। वैसे इस जंग के दौरान ब्रिटेन ने भी कम अति नहीं जोती। ब्रिटेन लगातार यूक्रेन की मदद कर रहा है। जहां अमेरिका रूस से सीधे टकराने से कतरा रहा है तो वहीं बोरिस जॉनसन लगातार रूस को उकसा रहे हैं। यहां तक की यूक्रेन की राजधानी कीव जाने से लेकर वो यूक्रेन की संसद तक को संबोधित कर चुके हैं।

यूक्रेन की मदद करने में ब्रिटेन बढ़ चढ़कर तैयार

Russian Ukraine War: इसके अलावा रूस के खिलाफ हथियार देने वालों में यूनाइटेड किंडगम का नाम सबसे ऊपर की तरफ है। ब्रिटेन इस जंग के शुरू होने के बाद से यूक्रेन को अब तक 4000 एंटी टैंक वेपन सिस्टम, स्टारस्ट्रीक मिसाइल, स्टॉर्मर आर्मर्ड व्हीकल की सप्लाई कर चुका है। बात यहीं ख़त्म नहीं हुई बोरिस जॉनसन ने इसके अलावा यूक्रेन को 400 बिलियन डॉलर की सहायता देने का भी वादा कर दिया है। जाहिर है रूस के मीडिया ने उनको निशाने पर ले लिया।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन रूस पर जवाबी कार्रवाई की धमकी देते हैं। जबकि सच्चाई ब्रिटेन भी अच्छी तरह जानता है कि रूस जैसे बड़े देश के सामने यूनाइटेड किंगडम बहुत छोटा है। रूस के टीवी चैनल के एंकर की बातों को सुने तो यूनाइटेड किंगडम इतना छोटा है कि उसके लिए रूस की एक सरमत मिसाइल भी काफी है

रूसी न्यूज़ एंकर ने ब्रिटेन को तबाह करने की धमकी दे डाली

Russian Ukraine War: रूस के सरकारी टीवी चैनल का ये एंकर यहीं नहीं रुका और इसने दुनिया की सबसे बड़ी परमाणु पनडुब्बी की भी याद बोरिस जॉनसन को दिलाई और कहा कि बेलगोरोड सबमरीन का एक वार पूरे यूनाइटेड किंगडम को सुनामी में डुबो देगा। सारे देश में रेडियोएक्टिव पदार्थ फैल जाएंगे जिससे UK हमेशा हमेशा के लिए बर्बाद हो जाएगा।

टीवी एंकर के जरिए जो धमकी रूस ने भिजवाई वो वाकई डरावनी तो है। उसका कहना है कि सरमत के वार से पूरा यूनाइटेड किंगडम तबाह हो जाएगा। लिहाजा ब्रिटेन की भलाई इसी में है कि वो रूस से उलझें।

UK के खिलाफ सबसे बड़ी परमाणु पनडुब्बी बेलगोरोड भी तैयार है। जो दुनिया की सबसे खतरनाक सबमरीन है। इससे दागी जाने वाली मिसाइल 200 किलो मीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलती है। इसे रोकना नामुमकिन है। इसमें 100 मेगाटन के वॉरहेड लगे हैं। इसके वार से 500 मीटर ऊंची सुनामी पैदा हो सकती है। जिसमें पूरा UK डूब सकता है।

रूस की तरफ से इस तरह ही धमकी नई बात नहीं है। लेकिन बड़ी बात ये है कि अब रूस का सरकारी टीवी भी खुलकर धमकी देने में जुट गया है। सवाल ये है कि क्या इसकी वजह यूक्रेन युद्ध में हो रही देरी है। जिसने पुतिन की छवि पर बट्टा लगा दिया है। रूस में पुतिन की सत्ता कमजोर होने की बात हो रही है। जिससे ध्यान बंटाने के लिए ये सब किय जा रहा है।

Related Stories

No stories found.