UP Police: यूपी में 16 IPS का ट्रांसफर, लखनऊ और प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर हटाए गए, यहां देखें लिस्ट

ADVERTISEMENT

आईपीएस रमित शर्मा | आईपीएस अमरेंद्र सिंह सेंगर
आईपीएस रमित शर्मा | आईपीएस अमरेंद्र सिंह सेंगर
social share
google news

UP IPS Transfer: उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के बाद 11 आईपीएस अफसरों का तबादला कर दिया गया है. इनमें लखनऊ और प्रयागराज समेत कई जिलों के पुलिस कमिश्नर भी शामिल हैं. प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर आईपीएस रमित शर्मा को बरेली जोन का एडीजी बनाया गया है. इसके साथ ही आईपीएस अमरेंद्र सिंह सेंगर को लखनऊ पुलिस का नया कमिश्नर बनाया गया है.

लखनऊ और प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर हटाए गए

अमरेंद्र सिंह सेंगर 1995 बैच के अधिकारी हैं और उनके पास लखनऊ जोन के एडीजी का भी प्रभार है. इससे पहले वह एसएसबी में आईजी और 2017 में गृह मंत्री राजनाथ सिंह के ओएसडी रह चुके हैं. आईपीएस प्रेम चंद मीना जो अब तक बरेली में अपर पुलिस महानिदेशक के पद पर तैनात थे, उन्हें अब अपर पुलिस महानिदेशक/सीएमडी पुलिस आवास निगम भेजा गया है.

 यूपी में 16 IPS का ट्रांसफर

एसबी शिरडकर जो पहले लखनऊ के पुलिस कमिश्नर थे, अब लखनऊ जोन में अपर पुलिस महानिदेशक के पद पर स्थानांतरित किया गया है. यह बदलाव यूपी पुलिस में प्रभावी प्रशासनिक बदलाव को दर्शाता है. इसके साथ ही कई अन्य अफसरों का भी तबादला किया गया है. इनमें आईपीएस प्रकाश डी, बिनोद कुमार सिंह, जय नारायण सिंह, एलवी एंटनी और देव कुमार शामिल हैं. इन सभी अधिकारियों की नई तैनाती इसलिए की गई है ताकि प्रदेश की कानून व्यवस्था को और मजबूत किया जा सके.

ADVERTISEMENT

इसके अलावा अमरेंद्र कुमार सेंग, रघुवीर लाल, के. सत्यनारायण, बीडी पाल्सन और रमित शर्मा का भी तबादला किया गया है। रमित शर्मा जो अब तक प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर थे, उन्हें अब बरेली जोन में अपर पुलिस महानिदेशक (प्रशिक्षण) नियुक्त किया गया है. इन तबादलों का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश की पुलिस व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाना है.

 वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले से विभिन्न जोन में कानून व्यवस्था में सुधार होने और जनता को बेहतर सुरक्षा सेवाएं मिलने की उम्मीद है. यह कदम प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के उद्देश्य से उठाया गया है, जिससे अपराध नियंत्रण में भी मदद मिलेगी. इन प्रशासनिक बदलावों से साफ है कि उत्तर प्रदेश सरकार अपने पुलिस बल को बेहतर और मजबूत बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है. नए तैनात अधिकारियों से उम्मीद है कि वे प्रदेश की कानून व्यवस्था को और अधिक सक्षम बनाएंगे. यह बदलाव न केवल प्रशासनिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि प्रदेश में सुरक्षा और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए भी जरूरी है.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...