पंडित जी को 14 साल बाद पता चला पत्नी मुस्लिम है, बेडरूम से मिली इस चीज ने खोली पोल, FIR दर्ज

ADVERTISEMENT

सज-संवरकर दुल्हन करती रही बारात का इंतजार
सज-संवरकर दुल्हन करती रही बारात का इंतजार
social share
google news

UP News: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में सेंट्रल यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने अपनी पत्नी पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए FIR दर्ज करवाई है, प्रोफेसर साहब अब अपनी बीवी से तलाक चाहते हैं. उनका आरोप है कि पत्नी की पहले से ही किसी और के साथ शादी हो चुकी थी और उसने पहले पति के लिए धर्म परिवर्तन भी किया था. बावजूद इसके, उसने 13 साल पहले उनसे यह कहकर दूसरी शादी कर ली कि वह अभी कुंवारी है. साथ ही प्रोफेसर ने अपनी पत्नी पर घर में बवाल कर उन्हें उनकी मां से अलग करने का भी आरोप लगाया है.

पंडित जी की पत्नी निकली मुस्लिम

प्रोफेसर ने अपनी पत्नी के अलावा साली और सास पर भी प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पुलिस से शिकायत की है. उन्होंने शादी के 13 साल बाद पत्नी और ससुराल वालों के खिलाफ धोखा देने और उत्पीड़न करने के आरोप में एफआईआर दर्ज करवाई है. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में शिक्षक के रूप में तैनात एसोसिएट प्रोफेसर ने बताया कि उनकी शादी 13 साल पहले असम की रहने वाली युवती से हुई थी. जिस वक्त उनकी शादी हुई, उससे पहले उनकी पत्नी ने किसी मुस्लिम युवक से शादी की थी. उस पति को छोड़ने के बाद खुद को कुंवारी बताते हुए उनसे भी शादी कर ली. लेकिन उन्हें पहली शादी के बारे में 13 सालों तक कोई भनक नहीं लगी.

शादी के 13 साल बाद खोली पोल

प्रोफेसर ने आरोप लगाया कि पत्नी के कुंवारे होने के झूठ में उसके घरवाले भी शामिल थे और सभी ने मिलकर पहली शादी की बात छिपाकर उनकी शादी करवा दी थी. शादी के बाद से ही पति-पत्नी के रिश्ते ठीक नहीं थे. उसी दौरान प्रोफेसर की पत्नी ने अपनी सास के साथ इतना विवाद किया कि बेटे को मां से अलग रहना पड़ा. एक महीने पहले पत्नी की अलमारी में मिले कुछ दस्तावेज़ों से उन्हें यह बात पता चली, तो उनके होश उड़ गए. जब उन्होंने इस बारे में पत्नी से सवाल किया, तो वह उन्हें झूठे केस में फंसाने की धमकी देने लगी. इसी से तंग आकर प्रोफेसर ने थाने में मामला दर्ज करवाया.

ADVERTISEMENT

इस घटना ने प्रोफेसर के जीवन में भारी उथल-पुथल मचा दी है. अपने बयान में उन्होंने स्पष्ट किया कि उन्हें पहली शादी के बारे में कोई जानकारी नहीं थी और उनके ससुराल वालों ने भी इस सच्चाई को छुपाने में अहम भूमिका निभाई. पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है और सभी संबंधित पक्षों से पूछताछ कर रही है. प्रोफेसर की यह शिकायत उनकी निजी और सामाजिक प्रतिष्ठा को एक बड़ा धक्का है, जिससे उबरने के लिए वह अब कानूनी सहायता की उम्मीद कर रहे हैं. पुलिस की जांच के नतीजे ही बताएंगे कि इस पूरे मामले में सच क्या है और कौन दोषी है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...