D-Company और दाऊद इब्राहिम के गुर्गों पर NIA ने कसा शिकंजा, इतना घोषित किया इनाम

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Dawood in NIA Trap : देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने अब डी कंपनी (D Company) पर शिकंजा कसने निकल पड़ी है। फरवरी में दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) और उसकी डी कंपनी के ख़िलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करने वाली NIA ने अब एक कदम आगे बढ़ाया है और सबसे पहले तो दाऊद इब्राहिम के सबसे खासमखास लोगों की वो तस्वीर जारी की है जिसमें उनकी बदली हुई शक्ल और बदले हुए चेहरे दिखाई दे रहे हैं।

इसी के साथ ही देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी ने डी कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर यानी दाऊद के दरबार के सबसे खास लोगों के नए चेहरे भी ज़माने को दिखाने का इरादा किया और डी कंपनी के बड़े भाइयों' की वो तस्वीरें जारी की हैं जो शायद अब तक की सबसे ताज़ा तस्वीरे हैं...

Dawood in Trap: असल में मीडिया के जरिए लोगों तक जो तस्वीरें अभी तक पहुँच रही थीं वो पुलिस के पुराने डोजियर से मिली तस्वीरें ही थीं जिनमें काफी बदलाव हो चुका है। जबकि असलियत ये है कि उम्र बढ़ने के साथ साथ दाऊद और उसके साथियों के चेहरा का रंग और रूप दोनों ही बदल गए हैं। ऐसे में कहना ग़लत नहीं होगा कि अगर दाऊद का कोई वॉन्टेड साथी सामने आ भी जाए तो शायद उसे पहचानना मुश्किल हो जाए। जाहिर है ऐसी सूरत में NIA का ये कदम अंडरवर्ल्ड पर कसते शिकंजे की गवाही दे देता है।

ADVERTISEMENT

इसके अलावा NIA ने इनामों की बौछार करने का इरादा जाहिर किया है। ये और बात है कि अभी तक ऐसे किसी भी इनाम के बारे में आम हिन्दुस्तानी को पूरी खबर है ही नहीं। और न ही दाऊद या उसके गुर्गे की खबर देने वाले को कैसे इनाम मिलेगा इसके बारे में कोई पक्की जानकारी है। अलबत्ता NIA ने अपनी तफ्तीश को धार देने के लिए दाऊद इब्राहिम और उसके साथ के गुर्गों पर इनाम बढ़ा दिया है।

यानी अब NIA की तरफ से दाऊद इब्राहिम के बारे में कोई इत्तेला देता है तो उसे 25 लाख रुपये का इनाम मिलेगा। जबकि उसके सबसे वफादार छोटा शकील पर 20 लाख रुपये का इनाम रखा गया है। इसके अलावा उसकी कैबिनेट के तीन और सिपहसालार हैं, अनीस इब्राहिम, जावेद चिकना और टाइगर मेमन। NIA ने इन तीनों के खिलाफ 15 -15 लाख रुपये का ही इनाम रखा है।

ADVERTISEMENT

D Company Under Scan: जाहिर है कि भारत की सबसे बड़ी एजेंसी ने इस कदम से ये तो जता ही दिया कि अब दाऊद इब्राहिम के लिए शायद ज़मीन छोटी पड़ने वाली है। और अब पाकिस्तान में बैठकर डी कंपनी का कारोबार ज़्यादा दिनों तक नहीं चलने वाला।
मुंबई के अंडरवर्ल्ड पर अपने नाम का सिक्का चलाने वाले डी कंपनी के ज़्यादातर गुर्गे पाकिस्तान या खाड़ी के देशों में बैठकर धंधा कर रहे हैं।

ADVERTISEMENT

दाऊद के वफादार रहे टाइगर मेमन के इशारे पर मुंबई को बम धमाकों से दहलाने वाला जावेद चिकना मुंबई से भाग कर पाकिस्तान में छुपा बैठा है और वहां ड्रग्स का धंधा कर रहा है। कुछ अरसा पहले ही जावेद चिकना को पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में वो जेल से बाहर आ गया था।

अब तक ये बात साफ हो चुकी है कि दाऊद इब्राहिम का असली ठिकाना पाकिस्तान के कराची में ही है। साथ ही दाऊद को ग्लोबल टेररिस्ट भी घोषित करवाया जा चुका है। साथ ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की तरफ से भी दाऊद के सिर पर 25 मिलियन डॉलर का इनाम रखा जा चुका है।

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...