सफेद चादर बिछाकर दुल्हन का कराया 'वर्जिनिटी टेस्ट', फेल हुई तो पंचायत ने लगाया 10 लाख का जुर्माना

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Crime News: कहने को हम 21 सदी में पहुंच गये हैं. लेकिन आज भी हमारी सोच नहीं बदली है. कई जगह पर वर्जिनिटी टेस्ट (virginity test) के नाम पर महिलाओं के साथ अत्याचार किया जाता है. ताजा मामला राजस्थान के भीलवाड़ा जिले (Bhilwara district of Rajasthan) के बागोर थाना से सामने आया है. यहां 'V' टेस्ट (वर्जिनिटी टेस्ट) के नाम पर नई नवेली दुल्हन के साथ जुर्म किया गया.

Virginity Test : जानकारी की मानें तो दुल्हन सुहागरात पर अपनी वर्जिनिटी साबित नहीं कर पाई. जिसके बाद पति अपनी मां के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट की. इसके बाद उसे घर से निकाल दिया. दुल्हन और उसके परिवारवालों को सजा देने के लिए पंचायत बुलाई गई. पंचायत ने कुकड़ी प्रथा के तहत युवती के घरवालों पर 10 लाख का जुर्माना लगा दिया. अब पैसे नहीं देने पर युवती के फैमिली को परेशान किया जा रहा है.

दरअसल, भीलवाड़ा की रहने वाली 24 साल की युवती की शादी 11 मई 2022 को हुई थी. पारंपरिक कुकड़ी प्रथा के तहत उसका वर्जिनिटी टेस्ट कराया गया. जिसमें वो फेल हो गई।.पूछताछ में सामने आया कि शादी से पहले उसके पड़ोस में रहने वाले युवक ने उसका रेप किया था. पंचायत में लड़की के घरवालों ने 18 मई को सुभाष नगर थाने में रेप का मामला दर्ज कराने की बात बताई. इस पर पंचायत ने कुछ नहीं बोला. फिर 31 मई को पंचायत बुलाई गई और लड़की के परिजनों पर 10 लाख का जुर्माना लगा दिया गया.

ADVERTISEMENT

पुलिस ने ससुरालवालों के खिलाफ मामला दर्ज किया

इसके बाद लड़की के घरवालों ने पंचायत और सुसरावालों के खिलाफ पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने मामले की जांच करते हुए शनिवार 3 मई की रात को विवाहिता के पति और ससुर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

ADVERTISEMENT

क्या है कुकड़ी प्रथा
कुकड़ी प्रथा के तहत शादी की पहली रात को लड़के के कमरे में सफेद चादर बिछाया जाता है। लड़की की तलाशी ली जाती है कि उसके पास पिन या नेलपॉलिस तो नहीं है। अगर संबंध बनाने के दौरान चादर पर खून लग गया तो लड़की को वर्जिन मान लिया जाता है। अगर नहीं लगता है तो उसे सजा दी जाती है

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT