ऑनलाइन बुलाई लड़की, बेड पर निकला किन्नर तो मटन वाले चाकू से 2 टुकड़ों में काटा, मर्डर की अजीब कहानी

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Crime Ki kahani : वो भूखा था लड़की के जिस्म का. उस भूख को मिटाने के लिए तलाश थी उसे एक लड़की की. और एक ऑनलाइन ऐप ने उसकी तलाश पूरी की. इस ऐप पर उसे मिलती है बेहद ही एक खूबसूरत लड़की. जिसे देखते ही वो हो गया दीवाना. अब इस दीवाने की मंजिल थी उससे मिलना. फिर मिलने को लेकर उससे बात होती है. बात तो पैसों की भी हुई. फिर पैसों से सौदा जिस्म का हुआ. उस जिस्म को पाने के लिए उसने कुछ पैसे पहले ही दे दिए. फिर कमरे पर होती है इनकी मुलाकात.

लेकिन ये मुलाकात एक की आखिरी मुलाकात साबित हुई. और उसके बाद मिलती है एक अधकटी लाश. वो लाश जिसका ना सिर था और ना धड़. अगर कुछ था तो बस शरीर का निचला हिस्सा. और उस बदन पर बेजान सा लिपटा एक दुपट्टा. अब ये लाश किसकी थी. क्यों थी. कहां से आई. कुछ भी पता नहीं चला. लेकिन उसी चुनरी वाले दुपट्टे से खुलता है एक बड़ा राज. आज पढ़िए क्राइम की कहानी (Crime Stories in hindi) में एक किन्नर के अजीब मर्डर की कहानी.

30 अगस्त की सुबह ग्रीन बेल्ट में बंद बोरी में अधकटी लाश मिली

Crime Story : मध्य प्रदेश के इंदौर का खजराना थाना एरिया में 30 अगस्त की सुबह ग्रीन बेल्ट में एक बोरी मिली. सफाई कर्मचारी उस बोरी को हटाने का प्रयास किया. लेकिन काफी भारी थी. खोलकर देखा तो सन्न रह गया. उसमें अधकटी लाश थी. शरीर का सिर्फ निचला हिस्सा था. पैरों में एक चुनरी लिपटी हुई थी. उसने तुरंत इंदौर पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने इस सूचना के आधार पर जांच शुरू की. लेकिन पहले कुछ पता नहीं चला.

ADVERTISEMENT

इसके बाद पुलिस ने शव की पहचान कराने के लिए आसपास के लोगों से पूछताछ की. लेकिन सिर नहीं होने की वजह से पहचान करना मुश्किल हो रहा था. ऐसे में पुलिस की जांच में एक किन्नर के लापता होने की जानकारी मिली. पुलिस ने पहचान के लिए कटे हुए शरीर के हिस्से को दिखाया तो उसके पहचान के लोगों ने शिनाख्त कर ली. ये भी बताया गया कि ये तो दो दिनों से लापता है. और पहचान पैरों में जो चुनरी लिपटी थी उससे हुई. क्योंकि जिस शाम को जोया किन्नर अपने साथियों से बोलकर निकली थी उस दिन उसी चुनरी को ओढ़कर गई थी.

जोया किन्नर की हत्या क्यों हुई? ऐसे शुरू हुई जांच

अब पुलिस को ये तो समझ में आ गया कि मरने वाली जोया किन्नर है. इसका असली नाम मोहिसिन है लेकिन लोग जोया किन्नर के नाम से जानते हैं. लेकिन इसकी हत्या किसने की. मर्डर क्यों किया. उसका धड़ वाला हिस्सा कहां है. अब पुलिस ने इसकी तलाश शुरू की. अब पुलिस ने वहां के आसपास के इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया.

ADVERTISEMENT

काफी तलाश के बाद ये पता चला कि एक शख्स बाइक पर एक बोरी लेकर जा रहा है. लेकिन कुछ देर बाद जब वो दोबारा सीसीटीवी में दिखता है तो बाइक पर बोरी नहीं दिखती है. ये देखकर पुलिस उस बाइक को ट्रेस करती है. तब पता चलता है कि बाइक उस शख्स की है जो टाइल्स का काम करता है. उसका नाम है नूर मोहम्मद. वो घर बंद कर कहीं भाग गया था. फिर पुलिस ने उसके मोबाइल फोन की लोकेशन निकालकर दबोच लिया.

ADVERTISEMENT

पुलिस की पूछताछ में उसने बताया कि शव का ऊपर वाला हिस्सा उसके घर में एक बक्से में बंद है. इसके बाद पुलिस ने उस हिस्से को भी बरामद कर लिया. इसके बाद इस हत्याकांड की पूरी कहानी सामने आई.

जोया किन्नर मर्डर की ये है पूरी कहानी

Joya Kinner murder Story : आरोपी नूर मोहम्मद अशरफी नगर में रहकर टाइल्स का काम करता था. दो साल पहले उसकी शादी हुई थी. पत्नी इस समय गर्भवती थी. इसलिए वो डिलीवरी के लिए अपने मायके चली गई थी. पिछले काफी समय से नूर मोहम्मद घर में अकेला था. इसी बीच उसने शारीरिक संबंध बनाने के लिए एक लड़की की तलाश में जुट गया.

इसके बाद कोई डेटिंग ऐप डाउनलोड किया. उसी ऐप के जरिए उसकी मुलाकात जोया से हुई. जोया ने खुद को लड़की बताया और फिर दोनों के बीच मिलने की बात हुई. मिलने के लिए जोया ने 2 हजार रुपये मांगे. नूर मोहम्मद तैयार हो गया. इसके बाद ऑनलाइन ही जोया ने 500 रुपये एडवांस मांगे. नूर मोहम्मद ने ऑनलाइन उसे एडवांस पैसे दे दिए. इसके बाद 27 अगस्त की शाम को एक ऑटो से जोया अशरफी नगर में नूर मोहम्मद के घर पहुंची. यहां आने के बाद जोया ने बाकी 1500 रुपये भी पहले ही ले लिए.

इसके बाद जब दोनों फिजिकल रिलेशन बनाने लगे तब नूर मोहम्मद को जोया की हकीकत का पता चल गया. वो विरोध करने लगा. गालियां देने लगा. लेकिन जोया ने उस पर रिलेशन बनाने का दबाव बनाया. इसके बाद गुस्से में नूर मोहम्मद ने तौलिया से जोया के गले को दबाया और किसी भारी सामान से उसके सिर पर हमला कर दिया. जिसके बाद जोया की मौत हो गई. जोया को मरा हुआ देख वो घबरा गया. इसके बाद शव को एक बक्से में रखकर भागने की सोचने लगा. लेकिन बक्से में पूरा शव नहीं आ सका. इसके बाद उसने मीट काटने वाले धारदार चाकू से जोया के शरीर के दो टुकड़े कर दिए.

इसके बाद शरीर से खून निकलता रहा और दो दिनों तक नूर मोहम्मद घर में ही रहा. वो शव के साथ दो दिनों तक रहा. इसके बाद 29 अगस्त की रात में एक बोरी में जोया के निचले हिस्से को बोरी में रखकर दूर ले गया और अंधेरे में ग्रीन बेल्ट में फेंककर लौट आया. इसके बाद वो घर को बंद कर कहीं भाग गया था. लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...