Dumka Ankita Case : अंकिता को जलाकर मारने वाले शाहरुख और पेट्रोल देने वाले नईम की ये है असली कहानी

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Ankita Murder Case : दुमका में अंकिता मर्डर और इसकी गहरी साजिश की परतें अब खुलती जा रहीं हैं. अंकिता की हत्या की साजिश में मुख्य आरोपी बेशक शाहरुख (Shahrukh) है लेकिन इसके पीछे का पूरा शातिर दिमाग उसके दोस्त नईम का है. नईम ही वो शख्स है जिसने शाहरूख को अंकिता को जलाने के लिए उकसाया.

पेट्रोल से जलाने की साजिश रचवाई. ताकी जलने के बाद जिंदा बचने की गुंजाइश ना रहे. जांच में पता चला है कि नईम ने ही 60 रुपये का पेट्रोल खरीदकर शाहरूख को दिया था. जिससे शाहरूख ने अंकिता को जला दिया था. इस साजिश के पीछे शामिल रहे शाहरुख के दोस्त नईम भी शातिर क्रिमिनल है.

अब अंकिता की मौत के बाद दुमका पुलिस ने इस केस में पॉक्सो एक्ट (POCSO ACT) की धाराएं भी जोड़ीं हैं. असल में इससे पहले अंकिता की उम्र 19 साल मानकर जांच हो रही थी. लेकिन बाद में उसकी उम्र 15 साल होने की जानकारी हुई. जिसके बाद पुलिस ने पॉक्सो एक्ट में भी केस को शामिल किया.

ADVERTISEMENT

IPS बनने का सपना रह गया अधूरा

परिवार के लोगों ने बताया कि अंकिता पुलिस ऑफिसर बनना चाहती थी. उसने IPS बनने का सपना देखा था. लेकिन उसके इन सपनों पर शाहरुख ने पानी फेर दिया. उसकी हंसती-खेलती जिंदगी को पेट्रोल की आग में जलाकर हमेशा के लिए खत्म कर दिया. अंकिता तीन भाई-बहनों में बीच वाली थी. बड़ी बहन शादीशुदा है जबकि छोटा भाई 12 साल का है. अंकिता 15 साल की थी. पिता एक बिस्किट कंपनी में सेल्समैन हैं. जबकि मां की पिछले साल ही मौत हो गई थी.

ADVERTISEMENT

घर की खिड़की से पेट्रोल डाल शाहरूख ने लगाई थी आग

पुलिस ने बताया कि 23 अगस्त की ये घटना है. उस समय दुमका के जरुवाडीह इलाके में रहने वाली अंकिता अपने घर में सो रही थी. घर की खिड़की खुली हुई थी. उसी समय पड़ोस में रहने वाले शाहरुख ने खिड़की से ही सुबह 5 बजे के करीब पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी. 5 दिनों तक अंकिता जिंदगी और मौत से लड़ती रही.

ADVERTISEMENT

पर आखिरकार उसने दम तोड़ दिया. वो जिंदगी से जंग हार गई. बता दें कि शाहरूख पिछले 2 साल से लगातार अंकिता को परेशान कर रहा था. कभी दोस्ती का दबाव बनाता था तो कभी जान से मारने की धमकी देता था. परिवार के लोग बदनामी के डर से चुप रह जाते थे. जिसका आरोपी शाहरुख खुलकर फायदा उठाता था.

ऐसे हुई थी अंकिता की मौत

शाहरुख ने जब पेट्रोल डालकर अंकिता के कमरे में आग लगाई थी तब वो 40 फीसदी ही जली थी. लेकिन इसके बाद भी हालत ऐसी गंभीर हुई कि आखिरकार अंकिता की मौत हो गई. असल में पेट्रोल इतना ज्यादा संवेदनशील होता है कि उससे अंकिता के शरीर का जो हिस्सा आग से जला था उससे पूरा मवाद भर गया था. पीएम रिपोर्ट से पता चला है कि लड़की के शरीर के ऊपर की पूरी परत में मवाद यानी पस भर गया था. जिस वजह से उसकी जान नहीं बचाई जा सकी.

शाहरूख को साजिश का दिमाग देने वाला नईम है

नईम के खिलाफ अब एक और लड़की ने आवाज उठाई है. जब इस लड़की को पता चला कि अंकिता को जलाकर मारने वाले शाहरूख की साजिश के पीछे नईम का हाथ है, तब उस लड़की ने कई राज खोले.

पुराना दुमका की रहने वाली इस लड़की ने बताया कि नईम जबरन उसका धर्म परिवर्तन कराना चाहता था. जब उसने मना किया तो उसे दुबई में किसी भाई को बेचने की धमकी देता था. कोचिंग आने-जाने के दौरान नईम अक्सर लड़की से छेड़खानी करता था. विरोध करने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देता था.

लड़की ने ये भी बताया कि एक दिन उसी नईम ने उसका अपहरण भी कर लिया था. एक कमरे में उसे बंद करके रखा गया. परिवार के लोगों ने जब पुलिस को इस बारे में जानकारी दी तब जाकर किसी तरह उनके चंगुल से मुझे बचाया गया था. इसके बाद आरोपी नईम को जेल भेजा गया था. लेकिन जेल से जमानत पर छूटकर आया तो फिर से किडनैपिंग करने की धमकी देने लगा था. अब उसका नाम अंकिता मर्डर में भी सामने आया तो मेरा परिवार डरा हुआ है. इनका दावा है कि नईम ने एक शादीशुदा महिला को भी अगवा कर 3 महीने तक बंधक बनाए रखा था.

मौत से पहले अंकिता का बयान : जैसे मैं मर रहीं हूं, वैसे ही शाहरुख को सजा हो

अंकिता ने मौत से पहले पूरी घटना के बारे में बताया था. अंकिता ने बयान दिया था कि....

सोमवार रात 10 बजे के आसपास को हमने पापा को शाहरुख के बारे में बताया था. पापा ने कहा कि सुबह देखते हैं. लेकिन सुबह वह खिड़की से हम पर पेट्रोल डालकर आग लगाकर भाग गया. शाहरुख के साथ उसका दोस्त छोटू खान भी था. हमने खिड़की से दोनों को भागते देखा था. मैं चाहती हूं कि जैसे मैं मर रही हूं आज वैसे ही शाहरुख को भी सजा मिले. वो भी ऐसे ही मरे.
‘मैं सिर्फ यही देख पाई कि ब्लू टीशर्ट पहने, हाथ में पेट्रोल की कैन लिए शाहरुख भाग रहा था. ये वही शाहरुख था जो पिछले 10-15 दिन से मुझे परेशान कर रहा था. मोहल्ले में उसे आवारा किस्म के लड़के के रूप में सब जानते थे. उसका काम सिर्फ लड़कियों को परेशान करना और उन्हें अपने झांसे में लेकर इधर-उधर घुमाना था
पिछले 10-15 दिन से वो मेरा पीछा कर रहा था. जब भी मैं स्कूल या ट्यूशन के लिए जाती, वह मेरा पीछा करता. हालांकि, मैंने कभी उसकी हरकतों को सीरियसली नहीं लिया, लेकिन उसने कहीं से मेरा मोबाइल नंबर भी जुगाड़ कर लिया था. उसके बाद अक्सर मुझे फोन करके मुझसे दोस्ती करने का दबाव बनाने लगा. शाहरुख ने धमकी भी दी थी कि अगर मैं उसकी बात नहीं मानूंगी तो वह मुझे और मेरे परिवार वालों को मार देगा. मुझे उसकी हरकतों का अंदेशा तो था, लेकिन यह नहीं समझ पाई कि मेरे साथ ऐसा होगा. 22 अगस्त की रात उसने मुझे धमकी दी थी कि अगर मैं उसकी बात नहीं मानूंगी तो वह मुझे मारेगा. मैंने पापा को यह बात बताई तो उन्होंने कहा कि सुबह होने के बाद इस मामले का हल निकाला जाएगा. पर उसी सुबह उसने पेट्रोल डालकर जला दिया.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT