Rape Case:12 साल के लड़के से 4 लोगों ने रेप के बाद प्राइवेट पार्ट में डाला रॉड, बेटे के लिए लड़ रही मां का दर्द, कहा...

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Delhi Seelampur Rape Case: दिल्ली के सीलमपुर इलाके में 18 सितंबर को उस मां के लिए कितना दुख हुआ होगा जब उसे पता चलेगा कि उसका 12 साल का बेटा क्रूरता का शिकार हुआ है और यह क्रूरता राजधानी दिल्ली में की गई है. बीते दिनों जिस 12 साल के लड़के के साथ हैवानियत की गई थी, उसकी 13 दिन बाद मौत हो गई है. ये बच्चा दिल्ली के एलएनजेपी हॉस्पिटल में एडमिट था. Crimetak से खास बातचीत में मां ने बेटे की दर्दभरी दास्‍तां सुनाई.

क्या है मामला?

Delhi Seelampur Rape Case: दिल्ली (Delhi Gang Rape) में एक 12 साल के लड़के के साथ हैवानियत का मामला सामने आया था. आरोप है कि सीलमपुर इलाके में 4 लोगों ने बच्चे के साथ पहले सामूहिक कुकर्म (Gang Rape) किया है. फिर उसकी लाठी डंडों से बेरहमी से पिटाई भी की. 13 दिन बाद बच्चे की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मां ने बताई सारी कहानी

18 सितंबर को जब 12 साल का बच्चा खेलने के बहाने नाबालिग को बाहर ले गया था, जब मैं वापस आई तो देखा कि मेरा बेटा खून से लथपथ घर में रो रहा है. बेटे को रोता देख मां भी रोने लगी और बार-बार पूछती रही कि उसे क्या हुआ, तुम्हें इतनी चोट कैसे लगी. तुम्हें किसने मारा, यह तो मां ही बेटे का चेहरा देखकर समझ गई कि उसके बेटे के साथ कुछ गलत हुआ है. सोनू (बदला हुआ नाम) ने अपने साथ हुई क्रूरता को छुपाया और अपनी मां से कहा कि तीन लड़कों ने उसे बहुत पीटा है.

3 दिनों तक बच्चे ने अपने शरीर के दर्द को सहा और मानसिक पीड़ा को भी झेला जिसने एक बार फिर दिल्ली के लोगों को निर्भया कांड की याद दिला दी. लेकिन जब तीन दिन यानी 21 सितंबर को उनकी तबीयत बिगड़ने लगी तो सोनू की मां ने उनके घरवालों ने उनसे पूछा. तब सोनू ने रोते हुए बताया कि उसके साथ रेप किया गया है. आरोपी ने नाबालिग लड़के के प्राइवेट पार्ट से रॉड डाल दिया गया था. सोनू जब घर पहुंचा तो उसकी तबीयत लगातार खराब हो रही थी. वह खाना भी नहीं खा पाता था.

ADVERTISEMENT

दरअसल, निर्भया के साथ जो हुआ वो इस बच्चे के साथ भी किया गया. यह सुनकर उसकी मां फूट-फूट कर रोने लगी, बेटे को दर्द से तड़पता देख फौरन पुलिस को फोन किया. पुलिस उसे एलएनजेपी अस्पताल ले गई जहां सोनू अभी भी आईसीयू में भर्ती है, उसके परिवार वाले उसके ठीक होने की लगातार दुआ कर रहे हैं.

ADVERTISEMENT

बेटे को तड़पता देख मां ने कहा कि अगर मुझे पहले पता होता कि उसके साथ ऐसी क्रूरता की गई है तो मैं 18 तारीख को पुलिस को फोन करती लेकिन 3 दिन बाद मेरे बेटे ने मुझे बताया जिसके बाद मैंने पुलिस को सूचना दी. सोनू की मां चाहती हैं कि उनके बेटे को इंसाफ मिले और जिन पर आरोप लगे हैं उन्हें सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT