यूपी में बाइक रोकने पर पुलिस दरोगा को दिया धक्का, कहा 'वर्दी उतरवा दूंगा', बीच सड़क हाथापाई

ADVERTISEMENT

Varanasi News: इंस्पेक्टर से बदसलूकी, गाली-गलौज, मारपीट और वर्दी उतरवाने की धमकी की घटना

social share
google news

Varanasi News: इंस्पेक्टर से बदसलूकी, गाली-गलौज, मारपीट और वर्दी उतरवाने की धमकी की घटना कहीं और नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हुई. घटना का वीडियो भी काफी तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें भगवाधारी हिंदू संगठन के कार्यकर्ता न सिर्फ एक सब-इंस्पेक्टर से धक्का-मुक्की कर रहे हैं, बल्कि उनके साथ बदसलूकी भी कर रहे हैं और वर्दी उतरवाने की धमकी भी दे रहे हैं. 

वाराणसी के गोदौलिया चौराहे पर तैनात इंस्पेक्टर की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने बिना नंबर प्लेट वाली एक बाइक को रोका और बाइक के कागज मांगे. इसी बीच आसपास मौजूद हिंदू संगठनों के दर्जनों कार्यकर्ता इंस्पेक्टर पर टूट पड़े और हंगामा करने लगे. हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए 5 लोगों को नामजद किया है और 15 अज्ञात लोगों पर भी गंभीर धाराएं लगाई हैं और उनकी गिरफ्तारी में जुटी है. 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय राय और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पूरी घटना का वायरल वीडियो अपने 'एक्स' हैंडल से पोस्ट कर सरकार को घेरने की कोशिश की है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

अखिलेश यादव ने पोस्ट कर सरकार को घेरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के गोदौलिया चौराहे पर तैनात 2019 बैच के इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश को बिना नंबर प्लेट वाली बाइक रोकना उस वक्त भारी पड़ गया, जब बाइक सवार युवक ने न सिर्फ इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश के साथ बदतमीजी करते हुए धकेल दिया. उसने न सिर्फ उसके साथ अभद्रता की बल्कि वर्दी उतरवाने की धमकी भी दी. इतना ही नहीं आरोपी युवक की ओर से भगवाधारी हिंदू संगठन के दर्जनों लोग भी मौके पर जमा हो गए और इंस्पेक्टर के साथ हाथापाई शुरू कर दी. रविवार देर रात हुई यह घटना सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हो रही है. घटना के बाद ही पीड़ित इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश की शिकायत पर संबंधित दशाश्वमेध थाने में पांच नामजद और 15 ज्ञात आरोपियों के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है. आरोपियों के नाम नीतेश सिंह, नीतेश नरसिंघानी, राहुल सिंह, सन्नी गुप्ता और गप्पू सिंह शामिल हैं.

घटना के बाद से विपक्षी दलों के नेताओं ने वायरल वीडियो को लेकर बीजेपी सरकार को घेरने का मौका नहीं छोड़ा है और उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स के जरिए अपना गुस्सा जाहिर किया है. जिसमें उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने लिखा है कि.. 

ADVERTISEMENT

“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में क्या हो रहा है? आरएसएस के लोगों द्वारा इंस्पेक्टर को पीटा जाता है और सरकार मूकदर्शक बन कर बैठी रहती है. RSS के लोगों को खुली छूट है, कोई कार्रवाई नहीं होती, इन बड़े लोगों को किसका संरक्षण मिल रहा है?

तो वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट किया कि...

"देश के प्रमुख संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा इंस्पेक्टर के साथ किया गया हिंसक व्यवहार भाजपा की अराजकता की पराकाष्ठा है. अब देखते हैं इन असामाजिक तत्वों के घरों पर कब बुलडोजर चलेगा।"

दरअसल, बीती रात बीजेपी कार्यकर्ताओं ने वाराणसी के चितईपुर थाने का घेराव किया था और उनके नेता पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते हुए थाना प्रभारी के दफ्तर में भी घुस गए थे, क्योंकि वे पुलिस पर मारपीट के एक मामले में कार्रवाई न करने का आरोप लगा रहे थे. और पीड़िता की शिकायत के बावजूद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है.

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT