Video: आलू की वजह से लुटने से बच गया ज्वेलरी शोरूम और दो बैंक, ट्रैक्टर धंसा तो निकली लुटेरों की लंबी सुरंग, देखिए वीडियो

ADVERTISEMENT

Shocking Video: दुकान के नीचे 10 फीट नीचे से सुरंग खोदी गई थी। 100 मीटर सुरंग का रास्ता एसबीआई बैंक, सेन्ट्रल बैंक और एक ज्वैलरी शोरूम की तरफ निकल रहा था।

social share
google news

जयपुर से विशाल शर्मा की रिपोर्ट

Crime Video News: आलू से भरे ट्रैक्टर ने करोड़ों की डकैती बचा ली। लुटेरों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। शहर के दो बैंक और एक ज्वैलरी शोरूम में डकैती की प्लानिंग नाकाम हो गई। दरअसल जयपुर की अंबाबाड़ी सब्जी मंडी जहां रोजाना की तरह सब्जियों से भरे ट्रैक्टर मंडी में आ-जा रहें थे। एक व्यापारी का आलू से भरा ट्रैक्टर मंडी में आ रहा था लेकिन जैसे ही मंडी में ट्रैक्टर एंट्री करता उससे पहले ही जमीन में धंस गया। 

ज्वैलरी शोरूम में डकैती की प्लानिंग नाकाम 

ट्रैक्टर चालक और मंडी व्यापारी ट्रैक्टर को निकालने की जुगत में जुट गए। कड़ी मशक्कत के बाद जब ट्रैक्टर को आगे पीछा किया तो देखा जहां ट्रैक्टर फंसा है वहां कोई नाला या सड़क नहीं टूटी बल्कि एक लंबी सुरंग बनी हुई थी। पुलिस को खबर दी गई। जैसे ही विद्याधरनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो होश फाख्ता हो गए। एक दुकान के नीचे 10 फीट नीचे से सुरंग खोदी गई थी। 100 मीटर सुरंग का रास्ता एसबीआई बैंक, सेन्ट्रल बैंक और एक ज्वैलरी शोरूम की तरफ निकल रहा था।  

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

100 मीटर सुरंग का रास्ता एसबीआई बैंक की तरफ

ज्वैलरी शोरूम और दोनों बैंक तक पहुंचने में 50 फिट की खुदाई बाकी रह गई थी लेकिन आलू से भरे ट्रैक्टर के धसने से साजिश का पर्दाफाश हो गया। पुलिस को दुकान मालिक और उसके बेटे राजेश ने बताया कि 11 हजार रुपए प्रतिमाह 6 महीने पहले उन्होंने अपनी दुकान उत्तरप्रदेश के रहने वाले अनवर, सलमान सहित 4 लोगों को किराए पर दी थी। जिस दुकान से सुरंग खोदी वहां से नक्शा बरामद हुआ है। सुरंग के अंदर एलईडी बल्ब भी लगे थे और सुरंग खोदने के औजार भी मिले है। 

एसबीआई बैंक में डकैती की साजिश 

यह गैंग यूपी के बरेली का है। जो करीब 4-5 महीनों से सुरंग खोदने का काम कर रहे थे। हालांकि दुकान के अंदर जो नक्शा मिला है उसके आधार पर एसबीआई बैंक में डकैती की साजिश थी। स्थानीय व्यापारियों ने बताया कि यह आरोपी रात में सुरंग खोदने का काम करते और किसी और शक ना हो इसके लिए लाइट भी जलाकर रखते थे। जब व्यापारी पूछते तो बोलते खाद का काम कर रहें है। ई-रिक्शे के जरिए कट्टो में भरकर मिट्टी लेकर जाते और व्यापारी सोचते खाद लेकर जाते थे लेकिन जब से सुरंग का खुलासा हुआ है तब से व्यापारी डरे सहमे हुए हैं।

ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT