बेटी ने की लव मैरिज, ससुर ने दी दामाद के कत्ल की सुपारी, सोने के हार और चार चूड़ियों मे तय हुआ हत्या का सौदा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Noida: कत्ल का ये चौंका देने वाला मामला दिल्ली से सटे नोएडा का है। यहां एक ससुर ने अपने दामाद के कत्ल की साजिश रची। ये शख्स अपनी बेटी की लव मैरिज से नाराज था और किसी भी हालत में बेटी के पति को मौत की नींद सुला देना चाहता था। ये 16 जून 2024 की सुबह थी जब नोएडा पुलिस लाइन के पास झाड़ियों मे पुलिस को एक 30-32 साल के युवक की लाश मिली। मौके पर पहुंची थाना इकोटेक की पुलिस ने शव की शिनाख्त शुरु की और लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

पुलिस लाइन के पास मिली लाश

नोएडा पुलिस ने आस पास के थानों मे मैसेज किया तो पता चला कि मरने वाले का नाम भुवनेश यादव है वो नोएडा के मूलरुप से संभल का रहने वाला था। जांच में पता चला कि भुवनेश नोएडा के बिसरख में रहता था और पेशे से ऑटो ड्राइवर था। पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई तो पता चला कि भुवनेश ने पांच साल पहले लव मैरिज की थी। भुवनेश ने नंदरोली में अपने ही गांव में रहने वाले बुद्धसेन की बेटी को भगाकर शादी कर ली थी। दोनों एक दूसरे से बेपनाह मुहब्बत करते थे।

5 साल पहले की थी लव मैरिज

पुलिस ने भुवनेश के मोबाइल की कॉल डिटेल को खंगाला तो उसमें मौत से पहले अवधेश नाम के शख्स से फोन पर बात की थी। सर्विलांस के जरिए पुलिस ने अवधेश की तलाश शुरु की तो उसकी लोकेशन नोएडा के सीएनजी पंप ईकोटेक 3 के पास मिली। पुलिस ने दबिश दी और अबधेश यादव और उसके साथ यशपाल उर्फ टिण्डा उर्फ टीटू को भुवनेश के ऑटो के साथ धर दबोचा। पुलिस ने भुवनेश के गांव नंदरोली के रहने वाले अवधेश से सख्ती से पूछताछ की तो भुनेश के कत्ल का राज़ खुल गया। 

ADVERTISEMENT

बेटी की लव मैरिज का खूनी बदला 

जांच में खुलासा हुआ कि भुवनेश के ससुर ने ही भुवनेश के कत्ल की साजिश रची थी। वो अपनी बेटी की शादी से खुद को अपमानित महसूस करता था और मन ही मन भुवनेश से नफरत करता था। भुवनेश जब भी अपने गाँव जाता था तो बुद्धसेन और उसका परिवार खुद को अपमानित महसूस करता था। खडग सिंह व बुद्धसेन दोनो भाई हैं जो उसी के साथ गाँव मे रहता है। दरअसल नीरज उर्फ नीरेश नाम के शख्स की बुद्धसेन के गाँव नन्दरोली में ससुराल है। यही वजह थी कि बुद्धसेन ने नीरज उर्फ नीरेश के साथ मिलकर अपने अपमान का बदला लेने के लिये भुवनेश की हत्या कराने की प्लानिंग की।

दामाद की हत्या की सुपारी वाली साजिश

बुद्धसेन और उसके भाई खड़ग सिंह ने नीरज उर्फ नीरेश से भुवनेश की हत्या कराने के लिये भाडे के हत्यारे ढूंढने के लिये कहा और बताया कि हत्या के बदले तीन लाख रूपये दिए जाएंगे। जिसके बाद नीरज ने गांव में ही रहने वाले अवधेश यादव और यशपाल उर्फ टिण्डा से सम्पर्क किया तथा उन्हे पूरी बात बताकर भुवनेश की हत्या करने की योजना बनाई। बुद्धसेन ने हत्या के बदले पेशगी मे दी जाने वाली तीन लाख की रकम के बदले 01 सोने का हार व 04 सोने की चूडियां सम्भल मे ज्वैलर्स की दुकान पर गिरवी रख दी। 

ADVERTISEMENT

सोने के हार और चार चूड़ियों में हत्या का सौदा

सुपारी किलर्स को बताया कि जब भुवनेश की हत्या कर दी जाएगी तो गिरवी रखे सोने के जेवरात आकर दुकान से ले लें। बीती 10 जून को नीरज अपनी बोलेरो गाडी से अवधेश व यशपाल उर्फ टूण्डा के साथ भुवनेश की रेकी करने नोएडा गया था लेकिन उस दिन उन्हे भुवनेश के बारे मे ज्यादा जानकारी हासिल नही हो पायी। मृतक भुवनेश यादव नोएडा मे ऑटो चलाता था। भुवनेश को इन तीनों ने टेम्पो स्टेण्डों के आसपास काफी ढूंढा पर वो नही मिला। 12 जून को यशपाल उर्फ टुण्डा ने फोन कर अबधेश को बताया कि ये लोग भुवनेश को नही ढूंढ पा रहे हैं।

ADVERTISEMENT

संभल से नोएडा आए कातिल

यशपाल ने अवधेश को नोएडा आने को कहा। अबधेश 12 जून को नोएडा आ गया और नीरज अपनी बोलेरो गाडी यशपाल के पास छोडकर अपने गाँव चला गया। 15 जून को शाम के समय भुवनेश यादव इन लोगो को सूरजपुर टैम्पू स्टैण्ड में सवारी लेता हुआ नजर आ गया। इन लोगों ने हमेशा की तरह भुवनेश से हाल चाल लेकर बातचीत की। अभी तक भुवनेश किसी भी साजिश से बेखबर था। वो अपने गांव के लोगों को देखकर खुश था। अबधेश व यशपाल उर्फ टीटू दोनो भुवनेश के टैम्पू में बैठकर सवारियो के साथ गौर सिटी की तरफ चल दिये।

किसी साजिश से बेखबर था भुवनेश

भुवनेश के टेम्पो से कुछ पीछे अवधेश भी बोलेरो से उनके पीछे पीछे चल दिया। भुवनेश के पास दो सवारी एटीएस गोल चक्कर की थी। गौर सिटी पहुँचकर भुवनेश ने बताया कि उसे एटीएस गोल चक्कर सवारी छोडने जाना है। भुवनेश ने कहा कि सवारी छोडकर वापस आता हूँ फिर बैठकर ड्रिंक पार्टी की जायेगी। बहुत दिन बाद तुम लोग मिले हो। योजना के अनुसार यशपाल उर्फ टीटू मृतक भुवनेश के टैम्पू में बैठकर सवारियो के साथ ही चला गया। वापस आने पर भुवनेश ने अबधेश को फोन किया और बोला कि अबधेश तुम कहां हो।

कातिलों के साथ शराब पार्टी

अबधेश ने बात करते हुए बताया कि तुम लोग जिस जगह पर हो मुझे बताओ मै वहीं आ रहा हूँ। इसके बाद ये सभी लोग आपस मे मिल गये और टेम्पू में बैठकर बिसरख क्षेत्र में ही अंग्रेजी शराब के ठेके पर पहुँचे। इस दौरान पीछे पीछे अवधेश यादव नीरज वाली बोलेरो लेकर आ गया। मृतक भुवनेश के टेम्पो छोटी मिलक के पार्क में बहुत गाडियां खडी रहती है वहां कार से एक कवर निकालकर ढक कर खडा कर दिया था। अवधेश अंग्रेजी शराब के ठेके से एक अंग्रेजी शराब की बोतल ले आया।

अब बारी थी साजिश को अंजाम तक ले जाने की

मृतक भुवनेश ने पास की दुकान से खाने का सामान खरीदा फिर इन लोगो ने कार में बैठकर एक साथ शराब पी। अबधेश व यशपाल उर्फ टीटू ने थोडी थोडी शराब दिखाने के लिये पी। प्लान के मुताबिक इन लोगों ने बहाने से भुवनेश को बहुत ज्यादा शराब पिला दिया था। लगभग एक घण्टा उसी जगह पर इन लोगो ने कार में बैठकर शराब पी। अवधेश यादव शराब का सेवन नही करता था। यह कार में साथ में मौजूद था। समय करीब 11.00 बजे रात के आसपास तीनों आरोपी भुवनेश के साथ कार से चल निकले, भुवनेश शराब के नशे में धुत हो गया तथा कार में ही उल्टी करने लगा।

बुलेरों में ही गला दबाकर मार डाला

जब ये लोग कार से गांव की तरफ जाने लगे तो रास्ते में ही भुवनेश को पकडकर कपडे के लाल रंग के अंगौछे से गला घोंट कर मार डाला। अवधेश यादव बोलेरो गाडी चला रहा था। जब ये लोगो को यकीन हो गया कि भुवनेश मर चुका है। तो उसके जेब में रखा मोबाईल फोन ले लिया था और स्विच आफ कर दिया था क्योकि लगातार उसके फोन की घण्टिया बज रही थीं। फिर ये लोग भुवनेश के शव को पुलिस लाईन के पास फेंककर वापस अपने गांव को चल दिये। भोर में ही ये लोग गांव पहुँच गये थे। अगले दिन आरोपियों ने राजा ज्वैलर्स की दुकान से गिरवी रखे गये जेवर, सोने के हार व सोने की चूडियां ले लीं।

चार गिरफ्तार ससुर फरार

अगले दिन अवधेश और यशपाल मिलक लच्छी गाँव मे खडे मृतक भुवनेश के ऑटो को यहाँ से हटाने के लिये नोएडा आये थे। पुलिस ने कत्ल में शामिल अबधेश यादव, यशपाल उर्फ टिण्डा, अवधेश और नीरज उर्फ नीरेश को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की साजिश रचने वाले भुवनेश से ससुर बुद्धसेन और उसका भाई खड़ग सिंह फिलहाल फरार हैं। पुलिस ने आलाकत्ल, 04 मोबाइल फोन, मृतक का ऑटो व घटना में इस्तेमाल एक बोलेरो गाडी नंबर यूपी 38 एम 8150 बरामद कर ली है। पेशगी मे मिले 01 गले का हार सोने का व सोने की 04 चूडियाँ कीमत लगभग 3 लाख रूपये जब्त कर लिए गए हैं। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...