Uttar Pradesh: ट्रैफिक पुलिस वाले ने कार के कागज मांगे, ड्राइवर ने पुलिस का ही अपहरण कर लिया!

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

UP CRIME NEWS: ग्रेटर नोएडा में सूरजपूर के दुर्गा गोल चक्कर पर वाहनों की चेकिंग कर रहे ट्रैफिक पुलिसमैन एक कार को रोकता है। वो कार के ड्राइवर से डॉक्युमेंट मांगता है। ड्राइवर कहता है कि सर बाहर खड़े होकर क्या कागज देखेंगे, अंदर आकर बैठिए. ट्रैफिक कॉन्स्टेबल ड्राइवर की बात मान लेता है और गाड़ी में बैठ जाता है। फिर क्या था ड्राइवर गाड़ी के कागज दिखाने के बजाए ट्रैफिक पुलिस कॉन्स्टेबल पुलिस का ही अपहरण कर लेता है और 10 किलोमीटर दूर जाकर उसे छोड़ता है।

घटना 17 अक्टूबर की सुबह ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर इलाके में हुई. उस दिन ट्रैफिक हवलदार वीरेंद्र सिंह ने एक स्विफ़्ट डिज़ायर रुकवाई. उन्होंने कार के चालक को डॉक्युमेंट दिखाने को कहा. चालक ने डॉक्युमेंट दिखाने के बहाने ट्रैफिक पुलिस वाले को कार के अंदर बैठने के लिए कहा. वीरेंद्र सिंह ने उससे फिर कागज मांगे. लेकिन ड्राइवर ने काग़ज़ तो दिखाए नहीं, उलटा पुलिसवाले को जबरन 10 किमी तक ले गया.

ट्रैफिक पुलिस ने बताई पूरी घटना

ADVERTISEMENT

ट्रैफिक कॉन्स्टेबल वीरेंद्र सिंह ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए बताया कि उन्हें गाड़ी की चोरी की सूचना मिली थी। इसी को लेकर रविवार 17 अक्टूबर की सुबह 9:30 बजे उन्होंने सूरजपुर में एक मारुति स्विफ़्ट डिज़ायर को रुकवाया और चालक से गाड़ी के काग़ज़ मांगे। वीरेंद्र सिंह के मुताबिक चालक ने ही उनसे गुहार लगाई कि वो गाड़ी के अंदर आ जाएं ताकि वो मोबाइल पर गाड़ी के डाक्युमेंट्स दिखा सके। चालक ने अजैबपुर पुलिस चेक पोस्ट पर हवलदार को उतारा और गाड़ी लेकर भाग गया।

पुलिस ने ये भी बताया कि आरोपी ने इसी तरह की धोखाधड़ी कर ये गाड़ी गुड़गांव के एक शोरूम से 2 साल पहले चुराई थी. उसने टेस्ट ड्राइव करने के लिए गाड़ी निकाली और लेकर भाग निकला।

ADVERTISEMENT

गाड़ी चलाने वाले का नाम सचिन रावल बताया जा रहा है। वो घोड़ी बछेड़ा गांव का रहने वाला है. सोमवार 18 अक्टूबर की शाम उसे उसके गांव से गिरफ़्तार किया गया। सचिन पर अपहरण और पब्लिक सर्वेंट पर ड्यूटी के दौरान हमला करने के आरोप लगे हैं। उसे आईपीसी की धारा 364, 353 और 368 के तहत अरेस्ट किया गया है। 19 अक्टूबर को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...