'बिजली के झटके दिए, बुरी तरह पीटा...', UP में 'पुलिस कस्टडी में मौत' के बाद हंगामा, चक्का जाम

ADVERTISEMENT

Crime Tak
Crime Tak
social share
google news

UP Police News: उत्तर प्रदेश पुलिस की हिरासत में एक आरोपी की मौत का मामला सामने आया है. मृतक के परिजन पुलिस पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं. उनका कहना है कि पुलिस प्रताड़ना के कारण उस व्यक्ति की जान गई. पुलिस ने पांच साल की बच्ची की हत्या के मामले में आरोपी को गिरफ्तार किया था.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना लखीमपुर जिले के मितौली थाने की है. 12 अप्रैल की रात पकरिया जलालपुर गांव निवासी 50 वर्षीय आसाराम की पुलिस हिरासत में मौत हो गई. परिवार का आरोप है कि आसाराम को पुलिस हिरासत में बुरी तरह पीटा गया और उन्हें बिजली के झटके भी दिए गए. इससे उसकी मौत हो गयी.

UP में 'पुलिस कस्टडी में मौत' के बाद बवाल

 13 अप्रैल की सुबह मृतक के परिजनों ने शव रखकर लखीमपुर-मैगलगंज हाईवे जाम कर दिया. काफी समझा-बुझाकर रास्ता खुलवाया गया, लेकिन उन्होंने सड़क किनारे बैठकर अपना विरोध जारी रखा. खीरी सर्कल अधिकारी शमशेर बहादुर सिंह ने कहा, 'प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रास्ता साफ कर दिया है. लेकिन वे अभी भी सड़क किनारे बैठकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. हम लगातार उनसे बातचीत कर मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं।

ADVERTISEMENT

पुलिस ने क्या कहा? आसाराम की मौत को लेकर पुलिस ने कहा, 'शुक्रवार 12 मार्च को आसाराम को पुलिस स्टेशन लाया गया। कुछ देर बाद उन्होंने पेट दर्द की शिकायत की. इसके तुरंत बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटना के संबंध में पुलिस ने बताया कि 3 अप्रैल को मितौली थाना क्षेत्र के पकरिया जलालपुर गांव से एक लड़की के लापता होने की शिकायत मिली थी. कुछ देर बाद लड़की के घर से करीब 150 मीटर दूर उसका शव बरामद हुआ. लड़की की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया कि उसकी मौत दम घुटने से हुई. लड़की की मौत को लेकर उसके परिजनों ने पुलिस में हत्या की शिकायत दर्ज करायी थी. शिकायत में परिजनों ने पड़ोसी आसाराम पर हत्या का शक जताया था. जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT