एक साल पहले हुई माँ की मौत, घर में रखी लाश, कंकाल के साथ 365 दिन से रह रही थीं दो बेटियां!

ADVERTISEMENT

Photo
Photo
social share
google news

Varanasi Crime News: वाराणसी के लंका क्षेत्र के मदरवा इलाके स्थित एक मकान में दो बहनें अपनी मां के कंकाल के साथ रह रही थीं जिसकी करीब एक साल पहले मृत्यु हो गई थी। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि महिला की एक साल पहले मौत हो गई थी, लेकिन उसकी दोनों बेटियों ने उसका अंतिम संस्कार नहीं किया था और उसके शव को एक कमरे में बंद कर दिया था। पुलिस के अनुसार इसकी सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे।

लंका के थाना प्रभारी शिवाकांत मिश्र ने बताया कि लंका के सामनेघाट, मदरवा निवासी उषा त्रिपाठी (52 वर्ष) की लंबी बीमारी के बाद दिसंबर 2022 में मृत्यु हो गई थी। उन्होंने बताया कि जब पुलिस उक्त मकान में पहुंची तो पाया कि महिला का शव कंकाल में तब्दील हो गया है।

ADVERTISEMENT

पुलिस के मुताबिक उषा त्रिपाठी के पति दो साल पहले घर छोड़कर चले गये थे और अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद भी घर वापस नहीं आये। पुलिस के अनुसार उनकी दो बेटियों पल्लवी त्रिपाठी (27) और वैश्विक त्रिपाठी (18) ने अपनी मां की मृत्यु के बाद शव का अंतिम संस्कार नहीं किया और शव को एक कमरे में बंद कर दिया।

पुलिस के अनुसार पिछले एक सप्ताह से दोनों घर से बाहर नहीं निकल रही थीं और घर का दरवाजा बंद था जिससे पड़ोसियों को शक हुआ। पुलिस ने बताया कि जब पड़ोसियों ने दरवाजा खटखटाया लेकिन जब किसी ने दरवाजा नहीं खोला तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची ।

ADVERTISEMENT

थाना प्रभारी मिश्र ने बताया कि जब मकान का दरवाजा नहीं खोला गया तो पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी और भीतर एक कंकाल मिला। उन्होंने बताया कि महिला की दोनों बेटियां भी उसी कमरे में बैठी मिलीं। पुलिस ने दोनों लड़कियों को हिरासत में ले लिया है और मामले की जांच की जा रही है।

ADVERTISEMENT

(PTI)

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT