जेल बैरक में घुसे, कटर से हमला किया; 2 की मौत, 2 की हालत गंभीर

ADVERTISEMENT

Crime Tak
Crime Tak
social share
google news

Punjab News: संगरूर जेल में बंद कैदी आपस में इस कदर भिड़े कि दो कैदियों की मौत हो गई. दो की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें पटियाला रेफर कर दिया गया है. पूरे मामले की जांच डीआइजी जेल और संगरूर पुलिस कर रही है. अधिकारियों का कहना है कि मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. पुलिस कैदियों के बीच हुई झड़प की घटना की जांच कर रही है.

जानकारी के मुताबिक, कल शाम 7 बजे संगरूर जेल में जब कैदियों की गिनती की जा रही थी और उन्हें बैरक में बंद किया जा रहा था, उसी समय एक बैरक से निकले 10 कैदियों ने दूसरे बैरक में मौजूद चार कैदियों पर जानलेवा हमला कर दिया. पुलिस का कहना है कि कैदियों के बीच आपसी रंजिश के चलते मारपीट हुई है. पहले ये सभी एक ही बैरक में बंद थे. इनमें से ज्यादातर के खिलाफ धारा 302 के तहत मामले दर्ज हैं.

जैसे ही संगरूर जेल से सूचना मिली कि कुछ कैदी आपस में भिड़ गए हैं. इसके बाद जेल डॉक्टर चारों कैदियों को संगरूर के सरकारी अस्पताल ले गए. संगरूर के सरकारी अस्पताल के डॉक्टर के मुताबिक अस्पताल पहुंचने से पहले ही दो कैदियों की मौत हो चुकी थी. अन्य दो के शरीर पर गंभीर चोटें हैं और उन्हें राजेंद्रा अस्पताल, पटियाला रेफर कर दिया गया है.

ADVERTISEMENT

अस्पताल पहुंचने से पहले ही दो कैदियों की मौत हो चुकी थी

अस्पताल के डॉ. करणदीप काहेल ने बताया कि जिला जेल में तैनात डॉक्टर हमारे पास चार कैदियों को लेकर आए थे, जिनमें से दो कैदियों हर्ष और धर्मेंद्र की मौत हो गई थी. जबकि गगनदीप सिंह और मोहम्मद शाहबाज को गंभीर हालत के चलते पटियाला रेफर कर दिया गया है.

घटना पर क्या बोले DIG जेल?

मामले की जांच करने पहुंचे पंजाब जेल के डीआइजी सुरेंद्र सैनी ने बताया कि शाम करीब सात बजे जब कैदियों की गिनती की जा रही थी और उन्हें बैरक में बंद किया जा रहा था, तभी कुछ कैदी दूसरी बैरक में घुस गये और चार कैदियों पर हमला कर दिया, जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गये. धारदार हथियार से हमला किया गया. पुलिस ने तुरंत सभी को बचाया. इसके बावजूद दो कैदियों की मौत हो गई. पूरे मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

ADVERTISEMENT

जेलों में कैदियों को लेकर सख्त नियम हैं. उन्हें ऐसे कपड़े व अन्य चीजें मुहैया नहीं कराई जातीं, जिससे वे किसी को नुकसान पहुंचा सकें. कैदियों तक पहुंचने वाली हर चीज की जांच की जाती है. उनसे मिलने जाने वाले लोगों की भी सख्ती से जांच की जाती है. जेल की निगरानी कैमरे से भी की जाती है.

ADVERTISEMENT

ऐसे में सवाल यह है कि इतनी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के बाद भी संगरूर जेल में कैदियों के पास धारदार सरिया कहां से आ गई, जिससे उन्होंने दूसरी बैरक में घुसकर चार कैदियों पर हमला कर दिया, जिनमें से दो की मौत हो गई और दो की हालत गंभीर हो गई.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT