IAS एग्जाम छूटने पर मां-बाप हुए बेसुध, UPSC एस्पिरेंट को देरी से आने के कारण एंट्री नहीं मिली, मां मिन्नतें करती हुए बेहोश हो गई

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Gurugram News: गुरुग्राम का एक वीडियो कल से सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में सिविल सेवा परीक्षा में देरी से पहुंचने पर एक युवती को परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया गया. वीडियो में युवती की मां गेट के बाहर बेहोशी की हालत में पड़ी हुई दिख रही हैं, जबकि पिता बार-बार गेट के अंदर मौजूद परीक्षाकर्मियों से अपनी बेटी को एक मौका देने की विनती कर रहे हैं. यह पूरा दृश्य बेहद भावुक है.

बेसुध मां-बाप को संभालती बेटी

 वीडियो में दिख रही युवती ने पूरे साल मेहनत की थी, लेकिन कुछ सेकंड की देरी ने उसकी मेहनत को बेकार कर दिया. बावजूद इसके, युवती ने अपने धैर्य और समझदारी का परिचय दिया, जो काबिलेतारीफ है. उसने अपने पिता और बेसुध मां को संभालते हुए कहा, "पापा, हम अगली बार पेपर दे देंगे."

मां मिन्नतें करती हुए बेहोश हो गई

रविवार को यूपीएससी ने देशभर में सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा 2024 का आयोजन किया, जिसमें लाखों छात्र शामिल हुए. परीक्षा का पहला सत्र सुबह 9 बजे शुरू हुआ. गुरुग्राम के एक केंद्र पर एक युवती को देरी से पहुंचने पर परीक्षा देने से रोक दिया गया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. साक्षी नामक एक यूजर ने एक्स पर यह वीडियो शेयर किया, जिसमें युवती की मां बेहोशी की हालत में दिख रही हैं और पिता गेट के अंदर जाने की गुहार लगा रहे हैं. यह दृश्य सोशल मीडिया पर खूब चर्चित हुआ.

ADVERTISEMENT

वायरल वीडियो में युवती के पिता को रोते-बिलखते देखा जा सकता है, जबकि युवती उन्हें संभालते हुए कह रही है, "पापा, पानी पियो. क्यों ऐसे कर रहे हो? हम अगली बार दे देंगे, कोई बात नहीं है." पिता दुखी होकर कहते हैं, "एक साल गया बाबू हमारा." युवती उन्हें सांत्वना देती है, "कोई बात नहीं, उम्र नहीं निकली जा रही." पिता और बेटी मिलकर मां को संभालने की कोशिश करते हैं, जो बार-बार कह रही हैं, "ना जाऊंगी."

वीडियो देखने के बाद सोशल मीडिया पर विभिन्न प्रतिक्रियाएं आईं. एक यूजर ने क्लिप के कैप्शन में लिखा, "दिल दहला देने वाला वीडियो. माता-पिता की हालत जो अपनी बेटी के साथ यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के लिए आए थे, लेकिन उसे देर से आने की वजह से अनुमति नहीं दी गई. परीक्षा सुबह 9:30 बजे शुरू होती है और वे 9 बजे गेट पर थे, लेकिन गुरुग्राम के सेक्टर 47 स्थित एस.डी. आदर्श विद्यालय के प्रिंसिपल ने उन्हें अंदर नहीं जाने दिया."

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...