कंधे पर 12 बोर की दुनाली बंदूक टांगकर थाने पहुंच गईं 62 साल की दादी, चौंककर रह गए दरोगा

ADVERTISEMENT

Crime Tak
Crime Tak
social share
google news

MP News: लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होते ही लाइसेंसी हथियार पुलिस थानों में जमा होने शुरू हो गए हैं. इसी बीच मध्य प्रदेश के शाजापुर से एक तस्वीर सामने आई. शहर की एक बुजुर्ग महिला कंधे पर 12 बोर की लाइसेंसी बंदूक लेकर थाने पहुंची. कानून की जानकारी रखने वाली इस बुजुर्ग महिला को देखकर हर कोई हैरान रह गया.

दरअसल, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर छह दिन पहले ही आचार संहिता लगा दी गई है. ऐसे में लाइसेंसधारी अभी भी अपने हथियार जमा नहीं करा रहे हैं. वहीं, चुनाव आचार संहिता की जानकारी मिलते ही एक बुजुर्ग महिला कोतवाली थाने पहुंच गई.

बंदूक शाजापुर शहर निवासी 62 वर्षीय भगवती बाई के पिता झालाजी चौकीदार के नाम पर थी. वृद्धा ने बताया कि पिता की मौत के बाद मैंने उनकी बारह बोर की बंदूक का लाइसेंस अपने नाम करा लिया था.

ADVERTISEMENT

भगवती बाई अपना भरण-पोषण करने के लिए सफ़ाईकर्मी और मज़दूरी का काम करती हैं और अकेली रहती हैं, इसलिए उन्हें सुरक्षा के लिए बंदूक रखनी पड़ती है. कोतवाली थाने में पदस्थ एसआई जया सुनेरी ने बताया, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर थाने में लाइसेंसी हथियार जमा करने की प्रक्रिया चल रही है. इसी दौरान एक बुजुर्ग महिला अपने नाम पर 12 बोर की बंदूक जमा कराने आई.

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगते ही पुलिस और प्रशासन बेहद सख्ती बरत रहा है. पुलिस गांवों और शहरों में फ्लैग मार्च कर जनता को कानून व्यवस्था बनाए रखने का संदेश दे रही है. वहीं, लाइसेंसी हथियारों को भी पुलिस स्टेशनों में जमा कराया जा रहा है, ताकि कानून व्यवस्था बनाए रखने में किसी तरह की कोई दिक्कत न हो.

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT