प्यार से किया इनकार तो लड़की पर फेंका तेजाब, 3 लड़कियां एसिड से झुलसीं, 17 साल पुरानी थी दोस्ती, स्कूल ड्रेस पहन आया था आरोपी

ADVERTISEMENT

Crime : सांकेतिक फोटो
Crime : सांकेतिक फोटो
social share
google news

Acid Attack : दक्षिण कन्नड़ जिले के कड़ाबा कस्बे में स्थित एक सरकारी कॉलेज में एक युवक ने तीन छात्राओं पर तेजाब फेंक दिया, जिससे तीनों झुलस गईं और इनमें से एक की हालत गंभीर है। पुलिस ने यह जानकारी दी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि युवक की पहचान केरल के मलप्पुरम जिले के नीलांबुर के रहने वाले 23 वर्षीय आबिन शिबी के रूप में हुई है। दक्षिण कन्नड जिले के पुलिस अधीक्षक रिष्यंथ ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘केरल के मलप्पुरम जिले के नीलांबुर तालुक के रहने वाले 23 वर्षीय युवक आबिन की मलप्पुरम जिले की रहने वाली 17 वर्षीय छात्रा से पहले से पहचान थी, छात्रा बाद में कड़ाबा में सरकारी प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज में पढ़ने आ गयी।’’

पूछताछ के दौरान आबिन ने पुलिस को बताया कि पीड़ितों में से एक छात्रा ने उसके प्रेम प्रस्ताव को ठुकरा दिया था, जिससे आहत होकर उसने यह बड़ा कदम उठाया। हमलावर ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि उसने केवल लड़की को निशाना बनाया था, लेकिन तेजाब उसके पास बैठी अन्य दो लड़कियों पर भी गिर गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ''दो अन्य लड़कियां मामूली रूप से झुलस गई हैं।'' एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ''इस घटना के बाद लड़कियों को एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। छात्राएं कॉलेज के गलियारे में बैठकर प्री-यूनिवर्सिटी कोर्स (पीयूसी) परीक्षा की तैयारी कर रही थीं, उसी दौरान एक युवक ने उन पर तेजाब फेंक दिया।’’

पुलिस ने कहा कि युवक ने अपनी पहचान छिपाने के लिए नकाब और टोपी पहन रखी थी। वह तेजाब से भरी एक बोतल लेकर छात्राओं के करीब पहुंचा और उनके चेहरे को निशाना बनाकर तेजाब फेंक दिया। अधिकारिय़ों ने कहा कि हमलावर ने स्कूल की वर्दी पहनी हुई थी, इसलिए उसे स्कूल के अंदर प्रवेश मिला गया जिसके बाद उसने इस अपराध को अंजाम दिया। उन्होंने यह भी कहा कि हम इस बारे में भी जांच कर रहे हैं कि उसे स्कूल की वर्दी किसने दी। हमले के बाद उसने भागने की कोशिश की लेकिन इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी स्थानीय लोगों ने पीछा कर उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। अधिकारी ने कहा, ''पीड़ितों को कड़ाबा के सरकारी अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन वहां के डॉक्टरों ने परिजनों को सलाह दी कि वह उन्हें बेहतर इलाज के लिए मंगलुरु ले जाएं क्योंकि उनके चेहरे काफी ज्यादा झुलस गए हैं।’’ कड़ाबा पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

ADVERTISEMENT

 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT