"अपने केबिन में बुलाकर करता था गंदी हरकतें," 50 से ज्यादा लड़कियों ने प्रिंसिपल पर लगाए आरोप

ADVERTISEMENT

Crime News
Crime News
social share
google news

Haryana News: हरियाणा के जींद में 50 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने एक स्कूल प्रिंसिपल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. हरियाणा राज्य महिला आयोग ने शुक्रवार को कहा कि जींद जिले के एक सरकारी स्कूल की 50 से अधिक छात्राओं ने प्रिंसिपल पर उनके साथ अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया है. आयोग ने शिकायतों के प्रति पुलिस के ढीले रवैये पर भी नाराजगी जताई. आयोग ने कहा कि उसने स्कूल की कुछ छात्राओं की शिकायत 14 सितंबर को पुलिस को भेजी थी, लेकिन कार्रवाई 30 अक्टूबर को की गई.

मामला दर्ज होने के बाद प्रिंसिपल फरार हो गया

मालूम हो कि छात्राओं से यौन उत्पीड़न के आरोप में जींद प्रशासन ने प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया था. कुछ दिन बाद सोमवार को हरियाणा पुलिस ने स्कूल प्रिंसिपल के खिलाफ मामला दर्ज किया था. जिला पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि जींद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें गठित की है. उन्होंने बताया कि प्रिंसिपल करीब 55 साल का है और फरार है.

50 नाबालिग लड़कियां शारीरिक शोषण का शिकार हुईं

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रेनू भाटिया ने पंचकुला में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "हमें छात्राओं से प्रिंसिपल के खिलाफ 60 लिखित शिकायतें मिली हैं। इनमें से 50 शिकायतें उन लड़कियों की हैं, जिन्हें आरोपियों के हाथों शारीरिक शोषण का सामना करना पड़ा।" दस अन्य लड़कियों ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्हें पता था कि प्रिंसिपल ऐसी हरकतें करते हैं.' भाटिया ने कहा कि सभी शिकायतकर्ता नाबालिग थे। भाटिया ने सवाल उठाया कि एफआईआर दर्ज होने के तुरंत बाद आरोपियों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि इससे आरोपियों को फरार होने का समय मिल गया.
'ऑफिस में बुलाकर करता था अश्लील हरकत'

ADVERTISEMENT

हरियाणा महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि आरोपी उन्हें अपने कार्यालय में बुलाता था और "अश्लील हरकतें करता था।" मामले में जींद पुलिस के 'लापरवाहीपूर्ण रवैये' का जिक्र करते हुए भाटिया ने कहा, 'शुरुआत में, हमें 13 सितंबर को कुछ छात्राओं से शिकायत मिली और इसे अगले ही दिन पुलिस को भेज दिया गया। 14 सितंबर से 29 अक्टूबर।" उन्होंने कहा, "लड़कियों ने हमसे दोबारा संपर्क किया। हमने पुलिस अधीक्षक से बात की, जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज की गई"

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...