राजकोट के TRP मॉल के गेम जोन मे लगी भीषण आग, 9 बच्चों समेत 27 लोगों की मौत, PM ने जताया दुख

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

गुजरात के राजकोट के TRP गेम जोन में भीषण आग लग गई। पूरा गेम जोन आग में जलकर खाक हो गया। जानकारी के मुताबिक बच्चे समेत कई लोग फंसे होने की आशंका जताई जा रही थी। पुलिस अफसरों ने बताया है कि इस हादसे में 27 लोगों की मौत हुई है। घटना की जानकारी मिलते ही फायर ब्रिगेड की 14 गाड़ियां मौके पर पहुंची।

जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन के साथ आग पर काबू पाने की कोशिशें की गईं। आग कैसे लगी इसकी अभी जानकारी नहीं मिल सकी है। पुलिस कमिश्नर ने कहा, अभी भी कुछ लोग अंदर फंसे हो सकते हैं। आग पर काबू के बाद अंदर टीम जाएगी अभी कुछ स्पष्ट होगा। 

अभी आग पर काबू पाने की कोशिश जारी हैं। अब तक कई बच्चों के फंसे होने की भी खबर आ रही है। गुजरात के मुख्यमंत्री ने बचाव कार्य के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। अग्निकांड में झुले लोगों को राजकोट सिविल अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है. राजकोट गेम जोन के संचालक, मालिक समेत 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। वरिष्ठ IPS अधिकारी सुभाष त्रिवेदी की अगुवाई मे 5 अधिकारियों की SIT जांच करेगी। 

ADVERTISEMENT

राजकोट गेम ज़ोन दुर्घटना मामले में कलेक्टर ने कहा कि इलेक्ट्रिक कारणों से आग लगी थी. आग लगने का मुख्य कारण अभी तक सामने नहीं आ पाया है पर इलेक्ट्रिक कारणों से आग लगी थी यह बात पता चली है. इस गेमिंग जोन को फायर विभाग की ओर से NOC नहीं मिला था. इसके बारे में ज्यादा जानकारी फिर विभाग की ओर से ही मिल पाएगी. 

शनिवार शाम को जब यह हादसा हुआ तब गेम जोन में खेल रहे हैं बच्चों में से जो बाहर निकल गए उन्होंने कहा कि अचानक वहां के स्टाफ ने हमे आकर कहा कि आग लगी है, आप बाहर निकले, जिसके बाद वहां से सभी लोग दौड़ कर बाहर आए पर कुछ लोग बाहर नहीं निकल पाए. पहली मंजिल से बाहर निकलने का एक ही रास्ता था. 

ADVERTISEMENT

टीआरपी गेम जोन में  1500 से 2000 लीटर डीजल जनरेटर के लिए, गो कार रेसिंग के लिए 1000 से 1500 लीटर पेट्रोल जमा पड़ा था...जिसकी वज़ह से आग इतनी फैली और पूरा स्ट्रक्चर जल कर खाक हो गया. गेम जोन से बाहर निकलने और प्रवेश के लिए 6 से 7 फीट का एक ही रास्ता था.आज एंट्री के लिए 99 रुपये की स्कीम थी जिसकी वज़ह से बड़ी संख्या में लोग हादसे के वक्त गेम जोन मे मौजूद थे.

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT