खूबसूरत जालसाज हसीना, डेटिंग एप से ब्लैकमेलिंग, अफ़साना के इस हसीन धोखे से बचके रहना!

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

दिल्ली से हिमांशु मिश्रा की रिपोर्ट

Delhi: एक ऐसी शातिर हसीना जो भी उसके क़रीब गया, समझो काम से गया। अपने हुस्न से किसी को भी दीवाना बना देने वाली इस लड़की से दोस्ती सबको महंगी पड़ी। ठगी के धंधे की ये पुरानी खिलाड़ी है। जब लूटने पर आती है तो शिकार से ना तो रोते बनता और ना हंसते। जी हां हम बात कर रहे हैं दिल्ली की जालसाज हसीना की। दिल्ली एनसीआर में ठगी ऐसा ही खूबसूरत जाल फैलाया जा रहा था। दिल्ली पुलिस ने डेटिंग एप के जरिए एक ऐसी ही ठगी का खुलासा किया है। ये कहानी भी दिलचस्प है। 

एक खूबसूरत धोखे वाला जाल

दरअसल दिल्ली पुलिस ने डेटिंग एप से ठगी करने वाले जिस गिरोह का खुलासा किया है उसमें एक रेस्टोरेंट का मालिक, रेस्टोरेंट में काम करने वाला मैनेजर, रेस्टोरेंट का स्टाफ और साथ में इस पूरे रैकेट के अन्य मेंबर और एक 25 साल की खूबसूरत लड़की भी शामिल थी। ठगी की पूरी कहानी इस लड़की के इर्द गिर्द घूमती है। लड़की का काम डेटिंग एप पर शिकार की तलाश करना था। फिर शिकार को किसी बहाने से अलग अलग रेस्तरां मे बुलाना और फिर बहाना करके अचानक से रेस्टोरेंट से रफ़ूचक्कर हो जाना था। लड़की के जाने के तुरंत बाद होटल मैनेजर की तरफ से सामने बैठे शख्स को एक लंबा चौड़ा बिल देते थे।

ADVERTISEMENT

डेटिंग एप से ब्लैकमेलिंग का खेल

ये बिल लाखों रुपए में होता था। सामने वाला शख्स अगर बिल देने से मना करता तो उसे डराया धमकाया जाता था। उसे रेस्टोरेंट के अंदर ही कैद कर लिया जाता था और फिर जब तक वह पूरा का पूरा बिल का भुगतान नहीं कर देता उसे रेस्टोरेंट से बाहर नहीं जाने दिया जाता था। इस गैंग की जानकारी दिल्ली पुलिस को तब चली,  जब 24 जून को एक शिकायतकर्ता नें पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। यूपीएससी की तैयारी कर रहे शख्स ने पुलिस को बताया कि उसकी दोस्ती डेटिंग एप पर एक 25 साल की लड़की से हुई थी। लड़ीक ने अपना नाम वर्षा बताया। उस लड़की ने शिकायतकर्ता को विकास मार्ग के एक रेस्टोरेंट में बुलाया जहां पर उसे बंधक बनाकर सवा लाख रूपए का बिल वसूल लिया गया। 

और फिर हसीना सलाखों के पीछे

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि वर्षा से उसकी बातचीत डेटिंग एप शुरू हुई थी, 23 जून को उसने बताया कि उसका जन्मदिन है और उसने उसे विकास मार्ग के ब्लैक मिरर कैफ़े में बुलाया। जहाँ उन्होंने स्नैक्स और दो केक खाए और वर्षा ने चार शॉट फ्रूट वाइन पी थी। उसके बाद वह शिकायतकर्ता को बताए बिना अचानक कहीं चली गई, बाद में पारिवारिक मुद्दों का हवाला दिया। वर्षा के जाने के बाद मैनेजर पीड़ित के पास आता है और उसे एक लाख 21 हजार का बिल थमा देता है। पीड़ित ने कहा कि जब उसने बिल पर आपत्ति जताई तो उसे धमकाया गया बंधक बनाया गया और जबरदस्ती मोटी रकम वसूली गई। जिसके बाद डर से पीड़ित ने ऑनलाइन पेमेंट किया।

ADVERTISEMENT

इस तरह फंसाते हैं शिकार

इस शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने ठगी और आपराधिक षडयंत्र की साजिश के तहत एफआईआर दर्ज की और जांच में जुट गई। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि ऑन लाइन पैसा कैफे के मालिकों में से एक अक्षय पाहवा को ट्रांसफर हुआ है, पूछताछ करने पर आरोपी अक्षय ने घटना का खुलासा किया। जब वर्षा किसी ग्राहक को फंसा कर उनके रेस्टोरेंट में लाती है तो जो भी बिल बढ़ाकर उसे वसूला जाता है उसके तीन हिस्से होते थे,  जिसमे से 30 प्रतिशत वर्षा ले जाती थी, 30 प्रतिशत मालिक खुद अपने पास रखता था। बाकी का 40 परसेंट पैसा मैनेजर और बाकी स्टाफ के बीच बांटा जाता था।

ADVERTISEMENT

जो एक बार फंसा समझो काम से गया

जांच में पता लगा की वर्षा का असली नाम अफसाना परवीन है। इसने फेक नाम से डेटिंग एप पर अपनी प्रोफाइल बना रखी है। वहां पर वह लोगों को टारगेट कर अपने जाल में फंसाती और उसके बाद रेस्टोरेंट में ले जाकर इसी तरीके से उनके साथ ठगी करती थी। पुलिस ने अफसाना को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह एक अन्य ग्राहक को फंसा कर पूर्वी दिल्ली के ही कड़कड़डूमा इलाके में एक रेस्टोरेंट में बैठी हुई थी। इस शिकार को उसने मुंबई से फंसाया था और मुंबई से युवक उससे मिलने के लिए दिल्ली आया था। पुलिस ने उस रेस्टोरेंट के मालिक और इस लड़की  दोनों को मौके से गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इस गैंग ने कितने और लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है।

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...