Bihar Crime: पिता की दुश्मनी का बेटी से खौफनाक इंतकाम, गैंगरेप के बाद जिंदा जलाया

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Sitamarhi Crime News: बिहार के सीतामढ़ी में गैंगरेप (Gangrape) का विरोध करने पर 15 साल की नाबालिग लड़की (Minor Girl) को जिंदा जलाने (Brunt-Alive) का मामला सामने आया था। 20 दिन जिंदगी और मौत की जंग लड़ने के बाद आखिरकार इलाज के दौरान मुजफ्फरपुर के अस्पताल में उसकी मौत हो गई। लड़की ने मौत से 10 घंटे पहले बयान दिया है।

अपने डाइंग डिक्लेरेशन में पीड़ित लड़की ने गांव के ही चार युवकों को नामजद किया था। उसने पुलिस जांच अधिकारी से कहा था, ‘सर, विवाद मेरे पिता से था फिर दरिंदो ने मेरे साथ दरिंदगी क्यों की? मरने के बाद भी मुझे न्याय जरूर दिलवाना।

यह वारदात 29 अगस्त की है जब पीड़िता को शाम के वक्त 5 आरोपियों ने जबरदस्ती उठा लिया था और अगवा करके अपने साथ लेकर चले गए। लड़की के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की गई। दुष्कर्म के सबूत छिपाने को लेकर आरोपियों ने पहले चेहरे पर तेजाब फेंका और केरोसिन डाल कर आग लगा दी थी।

ADVERTISEMENT

घटना के 20 दिन के बाद बेटी की मौत से माता-पिता का रो रो कर बुरा हाल है। मालूम हो कि रविवार को किशोरी ने अपने बयान में बताया था कि गांव के ही कुछ लोगों से उसके परिवार का जमीन विवाद है। इसी दुश्मनी को लेकर चारों आरोपी युवक रात में उसे घर से उठाकर खेत में ले गए। सभी ने दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध करने केरोसिन डालकर जला दिया।

इलाज के लिए लड़की को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था। वहीं, एसकेएमसीएच पुलिस चौकी के इंचार्ज आदित्य कुमार ने बताया कि मौत से पहले किशोरी ने अपना बयान दर्ज कराया था। पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT