असली एंबुलेंस में नकली मरीज, सिर और पैर में बांधी पट्टी... सीट के नीचे छिपा रखी थीं दारू की बोतलें

ADVERTISEMENT

Crime Tak
Crime Tak
social share
google news

Bihar News: बिहार में सारण जिले के मांझी थाना क्षेत्र में शराब तस्करी का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां फर्जी मरीज बनकर एंबुलेंस से शराब तस्करी का मामला सामने आया है. पुलिस ने स्कैनर से एंबुलेंस की जांच की तो उसमें शराब की बोतलें दिखीं. इसके बाद पूरा मामला सामने आया. शराब तस्कर ने किसी घायल व्यक्ति की तरह अपने सिर और पैरों पर पट्टियां बांध रखी थीं और वह मरीज की तरह एम्बुलेंस में भी लेटा हुआ था.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सारण पुलिस ने सूचना के आधार पर मांझी चेक पोस्ट पर एम्बुलेंस की तलाशी ली. पुलिस ने हैंडहेल्ड स्कैनर से जांच की तो अंदर शराब की बोतलें रखी हुई थीं. पुलिस को चकमा देने के लिए शराब तस्कर ने एंबुलेंस में तहखाना बना रखा था, जिसमें शराब की खेप छुपाई गई थी.

किसी को शक न हो इसके लिए शराब तस्कर खुद मरीज बनकर लेटा हुआ था. उसने अपने सिर और पैर पर पट्टी बांध रखी थी. पुलिस ने खुद को मरीज बताने वाले युवक और एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों की पहचान बंटी पुत्र सतवीर सिंह निवासी सोनीपत और अंकित पुत्र सतीश कुमार निवासी भिवाणी हरियाणा के रूप में हुई है. एंबुलेंस के अंदर 195 लीटर अंग्रेजी शराब छिपाकर बिहार लायी जा रही थी.

ADVERTISEMENT

कार्रवाई पर क्या बोले पुलिस अधीक्षक?

सारण के पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव मंगला ने बताया कि लोकसभा चुनाव को लेकर सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. तलाशी के दौरान उत्तर प्रदेश की ओर से आ रही एक एंबुलेंस की जांच की गई। तलाशी के दौरान फर्जी मरीज बनकर शराब तस्करी का मामला सामने आया है। दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मांझी थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और कार्रवाई की जा रही है.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT