पटना के स्कूल में 4 साल के बच्चे की मौत, प्रिसिंपल ने गटर में छुपाई बच्चे की लाश, खून के धब्बे धोए, ऐसे हुआ खुलासा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Bihar: पटना के दीघा में एक प्राइवेट स्कूल में छात्र की लाश मिली है। यहां निजी स्कूल के गटर में एक नाबालिग लड़के का शव मिला तो सभी हैरान रह गए। पीड़ित परिवार का आरोप है कि लड़के की स्कूल के अंदर हत्या कर दी गई और उसके शव को क्लासरूम के गटर में फेंक दिया गया है। जानकारी के मुताबिक 4 साल का आयुष सुबह करीब 6 बजे अपने घर से दीघा स्थित स्कूल टिनी टॉट एकेडमी के लिए निकला था।

आयुष कुमार की मौत में बड़ा खुलासा

क्लास खत्म होने के बाद वहां कोचिंग किया करता था। जब देर शाम तक घर नहीं लौटा तो परिजनों ने स्कूल की प्रिंसिपल को फोन किया। उन्होंने बताया कि बच्चा स्कूल में नहीं है। परिजन जब स्कूल पहुंचे तो स्कूल के सीसीटीवी फुटेज में दोपहर 12 के आस पास आयुष स्कूल में दिखाई दिया। इसके बाद का सीसीटीवी फुटेज के कई वीडियो गायब मिले।

प्रिंसिपल ही निकली हत्यारी

परिजनों का आरोप था कि आयुष की हत्या स्कूल में की गई है। स्कूल के चेंबर में लाश को ठिकाने लगा दिया गया है। घटना के बाद परिजनों में बेहद गुस्सा है। घटना के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आये। गुस्साई भीड़ ने स्कूल में तोड़फोड़ भी की। चार साल के बच्चे की मौत के मामले में पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस अफसरों के मुताबिक आयुष की मौत स्कूल में स्लाइडर से गिरने से हुई थी। 

ADVERTISEMENT

खून के धब्बे भी साफ कर दिए

पुलिस की पूछताछ में प्रिंसिपल ने खुलासा किया कि आयुष की मौत के बाद हम लोग बाद में डर गए थे और इसलिए जल्दबाजी में हमने बच्चे का शव स्कूल के गटर में छुपा दिया। बाद में गटर पर लगी लोहे की जाली पर लकड़ी और फूलों का गमला रख दिया था। इतना ही नहीं आरोपियों ने सीसीटीवी फुटेज की पिछले 3 घंटे की रिकॉर्डिंग भी उड़ा दी। जमीन पर लगे बच्चे के खून के धब्बे भी साफ कर दिए। पुलिस ने प्रिंसिपल और उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT