पुणे पोर्श कार एक्सीडेंट: नाबालिग के कारोबारी पिता को कोर्ट ले जा रही थी पुलिस, तभी कुछ लोग आये और धावा बोल दिया

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Pune Porsche Accident: पुणे में पोर्श कार हादसे में आरोपी नाबालिग के पिता और व्यापारी विशाल अग्रवाल पर स्याही फेंके जाने का मामला सामने आया है. घटना के समय पुलिस विशाल को लेकर कोर्ट जा रही थी. पुणे पुलिस ने मंगलवार को विशाल को छत्रपति संभाजी नगर से गिरफ्तार किया था.

जानकारी के अनुसार, विशाल अग्रवाल की आज कोर्ट में पेशी है. दोपहर में जैसे ही पुलिस विशाल को सत्र न्यायालय ले जाने के लिए पहुंची, तो रास्ते में एक संगठन से जुड़े लोगों ने विशाल पर स्याही फेंक दी.

कार मार्च से बिना रजिस्ट्रेशन के चल रही थी

आरोपी के पिता ने मार्च में बेंगलुरु के एक डीलर से इलेक्ट्रिक लग्जरी स्पोर्ट्स सेडान पोर्शे कार खरीदी थी. डीलर ने अस्थायी पंजीकरण के बाद कार विशाल को सौंप दी, लेकिन आवश्यक शुल्क का भुगतान न करने के कारण इसका पंजीकरण पूरा नहीं हो सका.

ADVERTISEMENT

आरटीओ अधिकारी संजीव भोरे के मुताबिक, रजिस्ट्रेशन कराना कार मालिक की जिम्मेदारी थी। वाहन जांच के लिए पुणे आरटीओ कार्यालय आया, लेकिन शुल्क का भुगतान न करने के कारण उसे पंजीकरण नंबर नहीं दिया गया। भारत में इस कार की कीमत 1.61 करोड़ रुपये से लेकर 2.44 करोड़ रुपये तक है.

पोर्शे से इंजीनियर्स को कुचलने वाला नाबालिग 

19 मई को पुणे में एक नाबालिग ने अपनी पोर्शे कार से बाइक सवार दो आईटी इंजीनियरों को टक्कर मार दी. दोनों की मौके पर ही मौत हो गई. आरोपी नाबालिग 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद अपने दोस्तों के साथ पार्टी कर लौट रहा था. वह शराब के नशे में करीब 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कार चला रहा था.

ADVERTISEMENT

 

ADVERTISEMENT


 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT