Crime News : ऑनलाइन सुपारी किलर बुलाया और 1 करोड़ के लिए पिता का कराया मर्डर, ऐसे खुला राज

MP Crime news : बेटे ने ऑनलाइन सुपारी किलर (Online Contract Killer) बुलाया. फिर कराई पिता की हत्या (Father killer), पहले किडनैपिंग कराना चाहता था. प्लानिंग फेल हुए तो पिता का करा दिया मर्डर.
Online Contract Killer
Online Contract Killer

रवीश पाल की रिपोर्ट

MP Murder News : मध्यप्रदेश के शिवपुरी (Shivpuri) में पुलिस ने एक बेटे को अपने पिता की सुपारी देकर मर्डर (Contract Killer) करा दिया. असल में कातिल बेटा पहले एक दूसरे व्यक्ति को अगवा कर फिरौती लेना चाहता था. लेकिन जब ये प्लानिंग फेल हो गई तो सुपारी किलर से अपने पिता की ही हत्या करा दी.

असल में इस हत्यारे से आरोपी बेटे ने ऑनलाइन सुपारी किलर (Online Supari Killer) से संपर्क किया था. ऑनलाइन ही उससे डील हुई थी. लेकिन जब अपहरण की साजिश नाकाम हो गई तब भी सुपारी किलर पैसे की जिद पर अड़ा रहा. इसलिए घर पर रखे पैसे नहीं मिलने को देखते हुए आरोपी बेटे ने सुपारी किलर से अपने पिता की हत्या करा दी थी.

ये सुपारी किलर ऑनलाइन ही लोगों से हत्या और किडनैपिंग के लिए संपर्क करता है. खुद को बिहार का बताने वाला सुपारी किलर भी गिरफ्तार हुआ है. पुलिस की जांच में पता चला है कि महज 19 साल का अजीत सिंह एक सुपारी किलर है. उसने सोशल मीडिया पर अजीत किंग नाम से एक ग्रुप बनाया है. उसमें लिखा है कि अगर किसी को मर्डर, किडनैपिंग, लूट और चोरी करवानी हो तो मुझसे संपर्क करे.

इस घटना के बारे में शिवपुरी एसपी राजेश सिंह चंदेल ने बताया कि कुछ दिन पहले महेश गुप्ता नाम के एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. सूचना पर पुलिस पहुंची तो पता चला कि मृतक का एक बेटा सेना में था जबकि दूसरा शराब और नशे का आदी है.

संतोष नाम का बेटा जो सेना में था उसकी मौत हो चुकी है जबकी दूसरा बेटा अंकित जुआ, सट्टा और शराब पीने का आदी था. जिसकी वजह से उसका पत्नी और पिता के साथ आए दिन झगड़ा होता रहता था. हत्या की जांच के दौरान शुरुआत में अंकित पुलिस को गुमराह करता रहा लेकिन जब अंकित का मोबाइल का खंगाला तो सारा राज खुल गया.

आरोपी 18 साल का सुपारी किलर अजीत (दाएं) और आरोपी बेटा (बाएं)
आरोपी 18 साल का सुपारी किलर अजीत (दाएं) और आरोपी बेटा (बाएं)

ऑनलाइन बुलाया बिहार से सुपारी किलर

एसपी राजेश सिंह चंदेल ने बताया कि मृतक के बेटे अंकित ने पूछताछ में पुलिस को गुमराह करने की कोशिश तो खूब की लेकिन जब अंकित की फोन कॉल डिटेल और इंटरनेट हिस्ट्री खंगाली तो मालूम हुआ कि अंकित ने ऑनलाइन और इंटरनेट के ज़रिए बिहार के सुपारी किलर से संपर्क साधा था. ऑनलाइन ही उसने अपने पिता के मर्डर की सुपारी दे दी थी.

1 करोड़ रुपये के लालच में पिता की कराई थी हत्या

घटना के मुताबिक, 22 जुलाई को 55 वर्षीय महेश गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई. महेश किराना कारोबारी थे. इनके दो बेटे हैं. अनिल और अंकित. बड़ा बेटा अनिल आर्मी था. लेकिन एक साल पहले ही उसने फांसी लगा लगी थी. अनिल की मौत पर इंश्योरेंस के तौर पर 1 करोड़ रुपये मिले थे. वहीं, 25 साल का अंकित नशे का आदी और आपराधिक किस्म का है. शराब और जुए के लिए पैसे मांगने पर पिता मना करते थे इसलिए उन्हें रास्ते से हटाने की तैयारी कर ली थी.

ऐसे ऑनलाइन सर्च किया सुपारी किलर

पुलिस की जांच में पता चला कि अंकित ने अपने एक दोस्त नितिन लोधी के साथ मिलकर अपहरण की साजिश रची थी. क्योंकि नितिन को भी शौक पूरा करने के लिए पैसों की जरूरत थी. इसलिए दोनों ने ऑनलाइन सोशल मीडिया पर सुपारी लेने वाले बदमाशों की तलाश शुरू की. इसी दौरान बिहार में रहने वाले अजीत चौहान के बारे में जानकारी मिली. इस लड़के की उम्र करीब 18 साल है.

इस अजीत के साथ मिलकर दोनों ने ऑनलाइन बात की और उसके क्राइम के बारे में जानकारी जुटाई. इसके बाद एक मेडिकल स्टोर संचालक को अगवा कर पैसे लेने की साजिश रची. इस काम के लिए अंकित और नितिन ने बतौर एडवांस 10 हजार रुपये ऑनलाइन दे दिए. इसके बाद अजीत बिहार से झांसी पहुंचा.

इधर, मध्य प्रदेश से अंकित और नितिन भी झांसी पहुंचे. यहां पर इनके बीच बात हुई पर किडनैपिंग की साजिश पूरी नहीं हो पाई. इस पर अजीत ने कहा कि या तो वो दूसरा बड़ा काम दें या फिर जितने की डील हुई है उतने पूरे पैसे चाहिए. इसलिए अंकित ने सोचा कि अब अपने पिता को ही रास्ते से हटा देते हैं. इसलिए उसने अपने पिता की ही सुपारी दे दी.

पुलिस की पूछताछ में आरोपी अंकित ने बताया कि 21 जुलाई की रात में बहाना बनाकर घर मां और पिता दोनों को अलग-अलग कमरे में सुला दिया. इस तरह पिता तीसरी मंजिल के कमरे में सोने चले गए थे. खुद भी दूसरे कमरे में जाकर सो गया था. रात करीब 2 बजे अजीत को अपने घर पर बुलवाया. इसके बाद तीसरी मंजिल पर सो रहे पिता की हत्या करा दी. सुबह 6 बजे घटना की जानकारी हुई तब परिवार में कोहराम मच गया.

ऐसे हुआ कातिल बेटे पर शक

अब चूंकि तीन मंजिला घर में आने-जाने के लिए एक रास्ता था. पुलिस को शक हो गया कि बिना घरवाले की मर्जी से ये वारदात नहीं हो सकती. इसके अलावा ये भी पता चला कि अंकित नशे में रहता था और पिता से लड़ाई करता था. इसलिए पुलिस ने उसकी कॉल डिटेल और फोन की इंटरनेट हिस्ट्री चेक की. इस दौरान अजीत के बारे में जानकारी मिली. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी अजीत चौहान को भी गिरफ्तार कर लिया.

इसके बारे में पता चला कि अजीत एक सुपारी किलर है. उसने सोशल मीडिया पर अजीत किंग नाम से एक ग्रुप बनाया है. उसमें लिखा है कि अगर किसी को मर्डर, किडनैपिंग, लूट और चोरी करवानी हो तो मुझसे संपर्क करे.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in