UP STF करेगी चीनी घुसपैठियों के मामला की जांच, चीनी नागरिकों के स्लीपर सेल बनाने का शक

CHINESE CITIZEN IN NOIDA: नोएडा में चीनी घुसपैठियों को लेकर जांच अब UP STF को सौंपी गई है। नोएडा में चीनी घुसपैठिए (Chinese Infiltrates) क्यों आए और उनका मकसद (Intention) क्या था?
उत्तर प्रदेश पुलिस की गिरफ़्त में चीनी नागरिक
उत्तर प्रदेश पुलिस की गिरफ़्त में चीनी नागरिक

CHINESE IN NOIDA: बिहार में इंडो नेपाल बॉर्डर (INDO NEPAL BORDER) से दो घुसपैठियों को गिरफ्तार करने के बाद से नोएडा पुलिस (NOIDA POLICE) और अन्य सुरक्षा एजेंसी (SECURITY AGENCIES) जांच कर रही थी। लेकिन जाँच जैसी होनी चाहिए थी वैसी हुई नहीं इसी वजह से पुलिस से जांच STF को सौंपी गई है। फिलहाल इस सिलसिले में अब तक आठ लोग गिरफ्तार हो चुके हैं जिसमें पांच भारतीय समेत 3 चीनी नागरिक है।

दरअसल कि बिहार के सीतामढ़ी इंडो नेपाल बॉर्डर पर सीमा सशस्त्र बल ने 11 जून को बॉर्डर पार कर रहे दो चीनी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में दोनों चीनी नागरिकों ने बताया था कि वह 15 दिन तक नोएडा में अपने एक चीनी मित्र सु फाई के यहां रुके थे। लेकिन जांच में पता चला है कि उन सभी का ताल्लुक वित्तीय जालसाजी से था। लिहाजा सूचना मिलने के बाद नोएडा पुलिस ने चीनी घुसपैठियों के मित्र और चीनी नागरिक सु फाई उर्फ कैरी को उसकी महिला मित्र के साथ गुरुग्राम के एक पांच सितारा होटल से गिरफ्तार कर लिया था।

चीनी नागरिकों की मदद कर रहा था भारतीय नटवरलाल

CHINESE IN NOIDA: पूछताछ की गई तो पता चला खुद सु फाई का वीजा ख़त्म हो चुका है लेकिन वह फर्जी तरीके से वीजा पर डेट आगे बढ़ा कर भारत में रह रहा था। ये भी पता चला है कि वो भारत ने कई फैक्ट्रियां चला रहा था। जिसमें मोबाइल डिस्प्ले और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाए जाते थे। इसके अलावा चाइनीस क्लब का भी संचालन कर रहा था।

हालांकि पूरी कहानी के बीच एक भारतीय किरदार रवि नटवरलाल है जो सु फाई का पार्टनर बताया गया। बताया जा रहा है कि सु फाई ने अपनी फैक्ट्रियों का निदेशक रवि नटवरलाल को बनाया था जो गुजरात का रहने वाला है। सु फाई के गिरफ्तार होने के बाद से ही पुलिस रवि नटवरलाल के तलाश में जुटी। और रविवार देर रात पुलिस ने रवि नटवरलाल को उसके अन्य तीन साथियों के साथ गिरफ्तार भी कर लिया।

ग्रेटर नोएडा में चीनी स्लीपर सेल तैयार करने का यूं हुआ शक

CHINESE IN NOIDA: चीनी घुसपैठ के मामले में सबसे बड़ा सवाल लोकल पुलिस और LIU की टीम को लेकर है। आखिर वीजा खत्म होने के बाद भी ये चीनी नागरिक ग्रेटर नोएडा में कैसे टिके रहें। क्या LIU की टीम और लोकल पुलिस को इसकी भनक नही लगी? क्या चीनी घुसपैठियो में इतना भी खौफ नही था कि चीन से अपने दो और साथियों को बॉर्डर के जरिए अवैध रूप से भारत में बुलवा लिया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जांच में यह बात सामने आई है कि चीनी घुसपैठिये ग्रेटर नोएडा में चीनी स्लीपर सेल तैयार कर रहे थे, हालांकि पुलिस के आला अधिकारी चीनी स्लीपर सेल के बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in