What is Porn?: पॉर्न क्या है? क्या भारत में पोर्न देखना गैर कानूनी है?

Pornography in India: भारत में पोर्न को लेकर लोगों की अलग-अलग राय है, पर हमारे कानून में इसे लेकर क्या कहता है, इस पर क्या कानून है और पोर्न होता क्या है?, हम इन सभी मुद्दों पर बात करेंगे.
Is it Illegal to Watch Porn in India?

Is it Illegal to Watch Porn in India?

Porn in India: पोर्न क्या होता है. टॉप पोर्न स्टार कौन हैं. हिंदी में पोर्न फिल्में. ये ऐसे शब्द हैं जिन्हें इंटरनेट पर खूब सर्च किया जाता है. लेकिन इन्हें चुपके-चुपके सर्च किया जाता है. खुलकर नहीं. क्योंकि ये चीज ही ऐसी है. खासकर इंडिया में. क्योंकि यहां पोर्न को लेकर कई नियम-कानून हैं.

यही वजह है कि लोग ये भी जानना चाहते हैं कि आखिर पोर्न देखना गैरकानूनी तो नहीं है. मतलब अगर हम घर में छुपकर पोर्न देखेंग तो जेल होगी. या फिर घर के बाहर कहीं खुले में पोर्न देखने पर पुलिस पकड़ लेगी.

आखिर सच्चाई क्या है. क्या पोर्न बनाने पर बैन है. या फिर चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर. आपके मन में जितने सवाल आ रहे हैं. उन हर सवालों का जवाब यहां मिलेगा. आइए जानते हैं पोर्नोग्राफी से जुड़े सभी तरह की जानकारी.

पोर्न क्या होता है? (What is Porn?)

  • पॉर्न क्या है?

पॉर्नोग्राफी को अगर छोटा करे तो उसे पॉर्न कहते हैं. यानी पोर्नोग्राफी का शॉर्ट फॉर्म. कोई एक ऐसे वीडियो, मैग्जीन, बुक्स या अन्य सामग्री जिनमें सेक्सुअल और इंटरकोर्स यानी सेक्स करने वाले जुड़े कंटेंट होते हैं. पोर्न वीडियो को भारत में कई लोग ‘ब्लू फिल्म’ या फिर ‘गंदी पिक्चर’ भी कहते हैं.

Pornography in India: भारत में पोर्नोग्राफी (pornographic content) और अश्लील कंटेंट को लेकर बहुत सख्त कानून हैं. कुंद्रा के केस के बाद लोगों के मन में यह सवाल उठने लगा है कि क्या भारत में अश्लील फिल्में देखना गैरकानूनी है?

पोर्न कंटेट को आप किसी मल्टीप्लेक्स में नहीं देख सकते, क्योंकि भारत में पॉर्नोग्राफी को लेकर बहुत सख्त कानून है. इसके पीछे कारण ये है कि पॉर्न में सेक्स बिना किसी सेंसर के दिखाया जाता है. पहले लोग सीडी या पेन ड्राइव के जरिए पॉर्न देखते थे पर अब जमाना हाईटेक है और इंटरनेट की मदद से लोग अब पॉर्न कंटेंट को बड़े आसानी से मोबाइल पर देख लेते हैं.

<div class="paragraphs"><p><strong>Is it Illegal to Watch Porn in India?</strong></p></div>

Is it Illegal to Watch Porn in India?

भारत में पोर्नोग्राफी को लेकर क्या नियम-कानून हैं?

Is it Illegal to Watch Porn in India?

पोर्नोग्राफी से जुड़े अपराध करने वालों के खिलाफ आईटी एक्ट (IT Act) के तहत कार्रवाई की जाती है. कुछ वेबसाइटों को छोड़कर, भारत में पोर्नोग्राफी पूरी तरह से प्रतिबंधित (Porn Ban In India) है, लेकिन सरकार के सभी प्रयासों के बावजूद, सभी वेबसाइटें इस सामग्री को दिखाती हैं. यह भारत में गैर-कानूनी भी नहीं है. लेकिन अगर आप इस तरह के कंटेंट को पर्सनल डिवाइस पर देख रहे हैं तो कोई अपराध नहीं है.

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पोर्न देखने वाला देश

भारत में पोर्न बनाने, बेचने, शेयर करने, प्रदर्शित करने आदि पर प्रतिबंध है. इसके बावजूद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पोर्न देखने वाला देश है. साल 2018 में आई एक खबर के मुताबिक, 2017 से 2018 के बीच भारत में पोर्न देखने की दर में 75 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी. छोटे शहरों के लोग इसे बड़ी संख्या में देख रहे हैं.

कंप्यूटर पर अश्लील वीडियो सेव करना अपराध है?

भारत में कई पोर्नोग्राफी वेबसाइटों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. 2018 में भारत सरकार ने करीब 850 पॉर्न वेबसाइटों पर बैन लगा दिया था. ऐसा पहले भी किया गया है. लेकिन इसका कोई खास प्रभाव कभी पड़ा नहीं. लेकिन जो वेबसाइट दूसरे देशों में रजिस्टर्ड हैं वो भारतीय कानून के दायरे से बाहर हैं. लेकिन आप ऐसे कंटेंट को सेव नहीं कर सकते, यह भी क्राइम की कैटेगरी में आता है.

कितनी हो सकती है सजा

पोर्नोग्राफी के तहत आने वाले मामलों में आईटी एक्ट 2008 की धारा 67 (ए) और आईपीसी की धारा 292, 293, 294, 500, 506 और 509 के तहत सजा का प्रावधान है. अपराध की गंभीरता के आधार पर पहली गलती पर 5 साल तक की कैद या 10 लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है. लेकिन इस तरह के अपराध में दूसरी बार पकड़े जाने पर जेल की सजा बढ़कर सात साल तक हो सकती है.

पोर्न फिल्म देखने से क्या नुकसान होते है?

पोर्न देखने से मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है और यह व्यक्ति को डिप्रेशन में ला सकता है. जीवन पर नकारात्मक असर डालने के साथ ही पोर्नोग्राफी से पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन तक की बीमारी लग सकती है.

पोर्न एडिक्शन क्या है?

लेकिन, जब पोर्न के आदी हो जाते हैं, तो आप दूसरों के साथ बातचीत करने या महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा करने के बजाय पोर्न देखने में बहुत अधिक समय व्यतीत करते हैं. यदि पोर्न एडिक्ट के जीवन में यह व्यवहार जारी रहता है, तो यह उसके करियर, रिश्तों या यहां तक कि स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचा सकता है.

क्या पॉर्न नुक़सानदेह है?

कई रिसर्चों में यह साबित हुआ है कि पोर्न की लत पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की आशंका को बढ़ाती है. पोर्न की लत दिमाग में उस गंदे विचार को भरता है जो पोर्नग्राफी में देखा गया है. इससे संबंध बनाने के दौरान वास्तविकता से तुलना की जाती जो अक्सर गलत होता है और इस स्थिति में व्यक्ति डिप्रेस्ड होने लगता है.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in