चश्मदीद ने पहली बार कैमरे पर बताया कैसे इस हैवान ने लिव इन पार्टनर की हत्या कर कुकर में उबाले टुकड़े

ADVERTISEMENT

Mumbai sharddha like murder case: मुंबई (Mumbai) में श्रद्धा वाकर हत्याकांड (Shraddha Walkar murder case) जैसा मामला सामने आया है. यहां मीरा रोड इलाके में एक 32 वर्षीय महिला की उसके 56 वर्षीय लिव-इन पार्टनर (live-in patner murder) ने हत्या कर दी

social share
google news

Mumbai sharddha like murder case: मुंबई (Mumbai) में श्रद्धा वाकर हत्याकांड (Shraddha Walkar murder case) जैसा मामला सामने आया है. यहां मीरा रोड इलाके में एक 32 वर्षीय महिला की उसके 56 वर्षीय लिव-इन पार्टनर (live-in patner murder) ने हत्या कर दी और उसके शव को आरी से काट दिया. उसने कुकर में कुछ टुकड़े भी उबाले. बताया जाता है कि दोनों के बीच मारपीट भी हुई थी. इसके बाद आरोपी ने गुस्से में हत्या कर दी. वहीं, पड़ताल में एक बात और सामने आई है कि महिला को मनोज पर शक था कि उसका किसी और से अफेयर चल रहा है. इसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ, जिसके बाद आरोपी ने उसकी हत्या कर दी. वहीं इस मामले में अब पड़ोसी का बयान सामने आया है, जिससे इस मामले का पता चला. ये वही चश्मदीद है जो पहली बार पुलिस के साथ फ्लैट के अंदर गया था. वह शुरू से ही हत्या का संदेह करने वालों में से एक था.

मुख्य चश्मदीद गवाह सोमेश श्रीवास्तव की पहली गवाही

सोमवार से फ्लैट से तेज दुर्गंध आ रही थी. मैंने फिल्मों और वेब सीरीज में देखा है कि कैसे इस तरह की दुर्गंध संदिग्ध होती है. मैंने अपनी मां से कहा कि कुछ समस्या है और हमें इसकी रिपोर्ट करनी चाहिए. मेरी मां ने कहा कि चूहे के मरने पर ऐसी गंध आती है. मेरे परिवार ने मुझे बताया कि मैं बहुत ज्यादा सोच रहा हूं. लेकिन दुर्गंध आती रही. देर शाम और सुबह सुबह हमें खुशबू की महक आती थी. बुधवार को मैं दोपहर में लंच के लिए घर वापस आया. इस बार फिर से दुर्गंध बहुत ज्यादा थी. में खड़ा भी नहीं हो सकता था. मैंने अपनी माँ से कहा कि मैं उनसे बात करने जा रहा हूँ.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

मुख्य चश्मदीद गवाह सोमेश श्रीवास्तव की पहली गवाही

मैं फ्लैट नंबर 704 पर गया और दरवाजा खटखटाया जैसे ही मैंने दरवाजा खटखटाया मैंने तुरंत किसी को डियो बोतल छिड़कते हुए सुना. मुझे लगातार अंदर से खुशबू की बोतल छिड़कने की आवाज सुनाई दे रही थी. मैं 15 मिनट से अधिक समय तक फ्लैट के बाहर खड़ा रहा और कई बार दरवाजा खटखटाया लेकिन मनोज ने दरवाजा नहीं खोला. मैंने अपनी बिल्डिंग सोसाइटी कमेटी को सूचित किया और हम नीचे खड़े थे. अब मुझे पूरा यकीन हो गया था कि कभी-कभी तो अंदर ही अंदर कुछ हो गया है और मनोज छिप गया है. मैं नीचे मनोज अंकल से मिला. मैंने उनसे कहा अंकल आपके फ्लैट से तेज दुर्गंध आ रही है तो उन्होंने कहा गटर डकट से आ रही है. मैंने उससे कहा कि उसे फिर से जाँच करने की आवश्यकता है, जिस पर उसने उत्तर दिया कि वह रात में आएगा और फिर से जाँच करेगा और वह चला गया.

मैंने और बिल्डिंग के सदस्यों ने तुरंत पुलिस को सूचित किया जिस तरह से बदबू आ रही थी उससे पुलिस को तुरंत शक हुआ कि अंदर लाश है. पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो फ्लैट में एक पैर कटा मिला. हम फ्लैट में खड़े नहीं हो सकते थे इतनी दुर्गंध आ रही थी. हम बेडरूम के अंदर गए और बेडरूम में बिस्तर पर हमें प्लास्टिक की लंबी काली चादर मिली. महिला के कटे हुए बाल भी मिले. 

ADVERTISEMENT

सबसे चौंकाने वाला किचन था. किचन के अंदर हमें खून से भरी तीन बाल्टियां मिलीं और शरीर के अंग उसमें डूबे हुए थे. शाम को जब पुलिस अंदर ही थी कि आरोपी मनोज आया और उसने लिफ्ट का गेट खोल दिया. जैसे ही वह लिफ्ट का गेट खोल रहा था और उसने अपने फ्लैट के अंदर पुलिस को देखा और वह भागने ही वाला था. इसी दौरान फ्लैट एजेंट ने आरोपी मनोज को देखा तो उसने पुलिस को सूचना दी. आरोपी भागने ही वाला था कि पुलिस ने उसे दबोच लिया. उन्हें फ्लैट के अंदर ले जाकर उसका बयान लिए. शुरू में उसने पुलिस वालों से पूछा कि शरीर के अंग कहां हैं? पुलिस को शक है कि इमारत के पास से ड्रेनेज लाइन गुजर रही है जहां उसने शव को फेंका होगा और आवारा कुत्तों को खिलाया होगा.

आरोपी का नाम मनोज सहनी है

आरोपी का नाम मनोज सहनी है. वह पिछले 3 साल से मीरा रोड इलाके में आकाशगंगा बिल्डिंग की 7वीं मंजिल पर किराए के फ्लैट में सरस्वती वैद्य नाम की महिला के साथ रह रहा था। फ्लैट से बदबू आने के बाद बिल्डिंग के लोगों ने बुधवार को पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस यहां जांच करने पहुंची.

आरी से काटा और टुकड़ों को कुकर में उबाला

पुलिस को शक है कि शरीर के कुछ हिस्सों को आवारा कुत्तों को खिलाया गया था. सोसायटी के लोगों ने पुलिस को बताया कि आरोपी पिछले दो-तीन दिनों से कुत्तों को खाना खिलाते देखा जा रहा था. इन लोगों ने बताया कि आरोपी को पहले कभी ऐसा करते नहीं देखा गया था. पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है.

डीसीपी जयत बजबाले ने बताया कि जब हम मौके पर पहुंचे तो फ्लैट में एक महिला की लाश के टुकड़े मिले। ये टुकड़े सड़े हुए थे, जिसे देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्या तीन-चार दिन पहले की गई होगी। हत्या की तारीख का अभी पता नहीं चला है. शुरुआती जांच में सिर्फ इतना पता चला है कि महिला की बेरहमी से हत्या की गई है.

डीसीपी जयंत बाजबले ने बताया कि मनोज साहनी और सरस्वती वैद्य के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था, जिसके बाद मनोज ने उसकी हत्या कर दी. मनोज ने उसके शरीर को कटर से काट डाला। जब हम वहां पहुंचे और गेट खोला तो हमें पता चला कि यह हत्या का मामला है और आरोपी ने सबूत छिपाने की कोशिश की. पुलिस हत्या के पीछे के कारणों की जांच कर रही है.

पिछले हफ्ते 2 जून को मुंबई के भायंदर बीच पर एक महिला की सिर कटी लाश मिली थी। लाश एक सूटकेस में रखी हुई थी. पुलिस ने मृतका की पहचान कर ली है। ये लाश बिहार के सीतामढ़ी की रहने वाली अंजलि सिंह की थी. अंजलि पिछले 2 साल से मुंबई में रह रही थी। पुलिस ने हत्या के आरोप में अंजलि के पति मिंटू सिंह को गिरफ्तार किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मिंटू ने लड़ाई के दौरान अंजलि का सिर दीवार में दे मारा, जिससे उसकी मौत हो गई.


 

 

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT