कुर्सी से उठा, बंदूक तान पुलिस स्टेशन के अंदर BJP MLA ने मारी गोली, सामने आया CCTV वीडियो

ADVERTISEMENT

दो सत्ताधारी पार्टियों के नेताओं के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि एक विधायक ने दूसरे नेता को गोली मार दी.

social share
google news

Ganpat Gaikwad and Mahesh Gaikwad: महाराष्ट्र में जमीन को लेकर हुई लड़ाई के बाद दो सत्ताधारी पार्टियों के नेताओं के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि एक विधायक ने दूसरे नेता को गोली मार दी. आरोपी बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ ने शिंदे गुट के शिवसेना नेता महेश गायकवाड़ पर थाने के अंदर पांच राउंड फायरिंग की. मामला ठाणे के उल्हासनगर का है जहां हिल लाइन पुलिस स्टेशन के अंदर फायरिंग की ये घटना हुई. पुलिस ने बताया कि आरोपी विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है. थाने के अंदर का सीसीटीवी फुटेज आया सामने.

इस बीच, महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और गृह मंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. गिरफ्तार बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ को मेडिकल जांच के लिए पुलिस स्टेशन से बाहर लाया जा रहा है. आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. घटना के सिलसिले में गायकवाड़ सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

डीसीपी सुधाकर पठारे का कहना है, 'छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिनमें से तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य तीन की तलाश जारी है. एफआईआर में आईपीसी और आर्म्स एक्ट की धाराएं लगाई गई हैं.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

पुलिस अधिकारी के चैंबर में गोली मारी

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दत्तात्रेय शिंदे ने मीडिया को बताया कि भाजपा के कल्याण विधायक गणपत गायकवाड़ ने शुक्रवार रात उल्हासनगर क्षेत्र के हिल लाइन पुलिस स्टेशन में वरिष्ठ निरीक्षक के कक्ष के अंदर कल्याण शिवसेना प्रमुख महेश गायकवाड़ पर गोलियां चलाईं। गिरफ्तारी से पहले गणपत गायकवाड़ ने एक न्यूज चैनल को बताया कि उनके बेटे को पुलिस स्टेशन में पीटा जा रहा था इसलिए उसने गोली चला दी.

आरोप बीजेपी विधायक और पीड़ित शिवसेना नेता महेश गायकवाड़ पर लगा है

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र में 'अपराधियों का साम्राज्य' स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. महेश गायकवाड़ को पहले स्थानीय मीरा अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी हालत बिगड़ने के बाद उन्हें ठाणे के ज्यूपिटर अस्पताल ले जाया गया। शिवसेना की कल्याण इकाई के प्रभारी गोपाल लांडगे ने कहा, 'उनका (महेश गायकवाड़) ऑपरेशन सफल रहा.'

ADVERTISEMENT

जमीन विवाद को लेकर दोनों पक्ष थाने पहुंचे थे

एडिशनल सीपी शिंदे के मुताबिक, गणपत गायकवाड़ का बेटा जमीन विवाद की शिकायत दर्ज कराने पुलिस स्टेशन आया था, तभी महेश गायकवाड़ अपने लोगों के साथ पहुंचे. बाद में गणपत गायकवाड़ भी थाने पहुंचे. अधिकारी के अनुसार, विधायक और शिवसेना नेता के बीच विवाद के दौरान, गणपत गायकवाड़ ने कथित तौर पर वरिष्ठ निरीक्षक के कक्ष के अंदर महेश गायकवाड़ पर गोली चला दी, जिससे वह और उनके सहयोगी घायल हो गए.

आरोपी विधायक ने कहा- मुझे कोई अफसोस नहीं है

गणपत गायकवाड़ ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा, 'हां, मैंने (उसे) खुद गोली मारी है। मुझे कोई पछतावा नहीं है। अगर मेरे बेटे को पुलिस स्टेशन के अंदर पुलिस के सामने पीटा जा रहा है तो मैं क्या करूंगा? उन्होंने दावा किया कि उन्होंने पांच राउंड फायरिंग की. बीजेपी विधायक ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे 'महाराष्ट्र में अपराधियों का साम्राज्य बनाने की कोशिश कर रहे हैं.' भाजपा और शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा हैं.

विधायक गणपत ने कहा, 'एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री होंगे तो महाराष्ट्र में सिर्फ अपराधी पैदा होंगे. आज उन्होंने मुझ जैसे भले आदमी को अपराधी बना दिया।' पुलिस ने गणपत गायकवाड़ के अलावा दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है. एक अधिकारी ने कहा, उन पर 307 (हत्या का प्रयास) और 120बी (आपराधिक साजिश) सहित भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...