VIDEO: शादी में आतिशबाजी से लगी आग, 100 से ज्यादा की मौत, दूल्हा-दुल्हन के साथ हुआ ये

ADVERTISEMENT

Iraq Fire In Wedding ceremony: इराक में एक शादी समारोह के दौरान आग लगने से 100 लोगों की मौत हो गई, जबकि 150 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

social share
google news

Iraq Fire In Wedding ceremony: इराक में एक शादी समारोह के दौरान आग लगने से 100 लोगों की मौत हो गई, जबकि 150 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. अधिकारियों ने कहा कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है. आग लगने के पीछे के कारणों की अभी जांच चल रही है. यह घटना इराक के उत्तरी इलाके की बताई जा रही है.

इराक के स्वास्थ्य मंत्री ने एएफपी से पुष्टि की है कि निनेवेह प्रांत के हमदानिया में एक शादी हॉल में आग लगने से 100 लोगों की मौत हो गई है, जबकि इस घटना में 150 लोग घायल भी हुए हैं. इराक की राजधानी बगदाद से करीब 335 किलोमीटर दूर मोसुल शहर के बाहर हमदानिया एक ईसाई बहुल इलाका है.

Iraq Fire In Wedding ceremony

एएफपी के मुताबिक, टीवी पर दिखाए गए वीडियो में आग की लपटें तेजी से उठ रही थीं और लोग आग लगने के बाद मौके से भाग रहे थे. इस घटना के कई पीड़ित ऑक्सीजन की कमी के कारण स्थानीय अस्पताल पहुंचे, उनके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता सैफ अल-बद्र ने कहा कि इस दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना से प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं.

प्रधान मंत्री मोहम्मद शिया अल-सुदानी ने आग की जांच के आदेश दिए हैं. इसके अलावा देश के गृह और स्वास्थ्य अधिकारियों को राहत देने के लिए कहा गया है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

घटना का कारण आतिशबाजी हो सकती है

नीनवे के गवर्नर नजीम अल-जुबौरी ने कहा कि कुछ घायलों को क्षेत्रीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. उन्होंने कहा कि आग में घायल और मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है. आग लगने के कारण के बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन शुरुआती रिपोर्टों से पता चलता है कि आग आतिशबाजी के कारण लगी। सिविल डिफेंस ने कहा कि कम लागत वाली सामग्री के कारण लगी आग के कारण हॉल के कुछ हिस्से कुछ ही मिनटों में ढह गए.

इराक में ईसाई आबादी तेजी से घटी

यह आग इराक में अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय पर हमला करने वाली थी. पिछले दो दशकों में उन्हें पहले अल-कायदा और फिर इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह के चरमपंथियों ने निशाना बनाया. हलांकि यह इलाका छह साल पहले आईएस से आजाद हो चुका है. कई ईसाई यूरोप, ऑस्ट्रेलिया या संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए रवाना हो गए हैं। एएफपी के मुताबिक, फिलहाल इराक में ईसाई आबादी करीब 1,50,000 है, जो 20 साल पहले यानी 2003 में 15 लाख थी. इराक की कुल आबादी 40 मिलियन यानी चार करोड़ से ज्यादा है.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...