Amritpal Singh: कैसे ISI के संपर्क में आया दुबई में ट्रक चलाने वाला अमृतपाल?

ADVERTISEMENT

खालिस्तानी समर्थक और 'वारिस पंजाब दे' के मुखिया अमृतपाल सिंह पर पंजाब पुलिस शिकंजा कस रही है.

social share
google news

Amritpal Singh: खालिस्तानी समर्थक और 'वारिस पंजाब दे' के मुखिया अमृतपाल सिंह पर पंजाब पुलिस शिकंजा कस रही है. राज्यभर में उसके खिलाफ बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चलाया जा रहा है. उसे भगोड़ा घोषित कर दिया गया है और उसके फाइनेंसर दलजीत सिंह कलसी, कई बॉडीगार्ड्स समेत 78 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही कई अन्य को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया गया है. इसी बीच एक एक ऐसी बात सामने आई है, जो चिंता बढ़ाने वाली है. दुबई में आईएसआई के संपर्क में आया था अमृतपाल...

amritpal singh file photo

खुफिया विभाग के सूत्रों का कहना है कि अमृतपाल सिंह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी की मदद और इशारे पर पंजाब को फिर पुराने दौर (आतंकवाद) की धकेलने की साजिश रच रहा है. वह दुबई में ट्रक ड्राइवर था, तभी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के संपर्क में आया था. यहां उसे धर्म के नाम पर सिख युवाओं को मोटिवेट करने का टास्क दिया गया था. इसके लिए आईएसआई की फंडिंग से खालिस्तान के नाम पर सिखों को एकजुट करके पंजाब में सक्रिय होना था.

amritpal singh file photo

पंजाब के मुद्दों और सिखों को सरकार के खिलाफ भड़काया

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

  इनपुट्स के मुताबिक, पंजाब आने के बाद आईएसआई के कहने पर अमृतपाल सिंह ने अपना संगठन खड़ा किया. इसके लिए उसने अमृत संचार का सहारा लिया. बाद में उसने 'खालसा वहीर' नामक अभियान चलाया और गांवों में जाकर संगठन को मजबूत किया. इस दौरान पंजाब के मुद्दों को भड़काया और सिखों को केंद्र सरकार के खिलाफ भड़काना शुरू किया.

amritpal singh file photo

इस तरह अमृतपाल धर्म की आड़ में लोगों से मनचाहा काम करवाने में सफल होने लगा. इससे आईएसआई और उसका मनोबल मजबूत हुआ. इस सबसे पंजाब के लोगों के बीच आतंकवाद के बुरे दौर की यादें ताजा हो गईं. 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...