इस कैमरामैन के चिप में ऐसा क्या था राज की हाई प्रोफाइल महिला और सरकारी अधिकारी हुए अरेस्ट

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Odisha Cameraman Murder Case: ओडिशा के भद्रक जिले की पुलिस ने सोमवार को एक वेब न्यूज चैनल के कैमरामैन मानस स्वैन के अपहरण और हत्या के मामले में 45 दिनों से फरार चल रही वेब न्यूज चैनल की मालकिन को गिरफ्तार किया है. पुलिस का मानना ​है कि स्वैन की हत्या एक मेमोरी चिप को लेकर की गई थी जिसे उसने अपनी मालकिन को सौंपने से इनकार कर दिया था.

क्या है पूरा मामला?

नयागढ़ के गोदीपोखरी गांव का रहनेवाले मानस स्वैन भुवनेश्वर के एक वेब पोर्टल चैनल में कैमरामैन के रूप में काम करता था. इस चैनल की मालकिन शर्मियष्ठा राउत है जो खुद को एक पत्रकार बताती है. इन्हीं मैडम पर अपने ही कैमरामैन के हत्या का आरोप लगा है. ऐसा पता चला है की कैमरामैन स्वैन के पास कोई चिप थी जिसमें कई बड़े लोगों का काला चिठा कैद था. वहीं चिप जब उसने अपने चैनल की मालकिन को देने से इनकार कर दिया तो उसकी हत्या कर दी गई.

मामला है 7 फरवरी का जब मानस एक शादी की शूटिंग के लिए चांदबाली गया हुआ था. शादी में शूटिंग के बाद से ही मानस रहस्यमय तरीके से लापता हो गया.

ADVERTISEMENT

उसके लापता होने के बाद उसे घरवालों ने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भाग्यधर नायक नाम के एक ड्राइवर को पकड़ लिया. इसी ड्राइवर ने मानस को चांदबली ले गया था. पूछताछ में दौरान ड्राइवर ने मानस की हत्या के बारे में सच बता दिया.

उसके खुलासे के बाद पुलिस ने 12 मार्च को बधिपटना के पहड़ियों में से मानस का शव बरामद किया. जांच के दौरान पुलिस ने दो और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने इस मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है और उनका कहना है की इन सभी लोगों के खिलाफ सबूत हैं. जिनमें से तीन आरोपी फरार हैं.

ADVERTISEMENT

हालांकि की पुलिस ने अपनी जांच में ये पाया की हत्या की मुख्य आरोपी वेब पोर्टल की मालकिन शर्मिष्ठा है जिसे पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है. कहा जाता है कि मानस की हत्या के बाद शर्मिष्ठा छिप गई थी जिस वजह से उनको खोज पाना बड़ा मुश्किल भर काम था.

ADVERTISEMENT

ऐसा संदेह है कि मानस का चांदबाली से घर लौटते समय बीच में ही अपहरण कर लिया गया था और भुवनेश्वर में शर्मिष्ठा द्वारा संचालित एक आश्रम में रखा गया था. वहां उसकी कथित तौर पर हत्या कर दी गई और फिर नयागढ़ स्थानांतरित कर दिया गया जहां आरोपी ने उसका शव फेंक दिया.

इस मामले में एक बड़े अधिकारी का नाम सामने आया है

पुलिस सूत्रों ने कहा कि मुख्य आरोपी और उसका साथी कोलकाता और वहां से गुवाहाटी भाग गया था, जिसके बाद वे भुवनेश्वर वापस जा रहे थे जब उन्हें पकड़ा गया. मामले के सिलसिले में ओडिशा सूचना सेवा (OIS) के एक सेवानिवृत्त अधिकारी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

हत्या के पीछे का कारण?

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला की शर्मिष्ठा ने मानस को खत्म करने की प्लानिंग की थी. कहा जा रहा है की मानस के पास अश्लील वीडियो की कई क्लिप थी जिस वजह से शर्मिष्ठा को डर लगने लगा था की कहीं वह वीडियो क्लिप किसी और के हाथ ना लग जाऐ.

शर्मिष्ठा ने मानस को माइक्रोचिप में रखी वीडियो क्लिप वापस करने के लिए मनाने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वह नौकरी छोड़कर घर वापस चला गया. शर्मिष्ठा ने अश्लील वीडियो क्लिप वापस पाने के लिए मानस को ट्रैक करने और मारने के लिए शायद एक टीम का गठन किया.

शर्मिष्ठा जो भुवनेश्वर में दयाल आश्रम नाम से एक वृद्धाश्रम का संचालन करती हैं, वह हर दिन वहां प्रसिद्ध हस्तियों का मनोरंजन करती थीं. उन्होंने बुजुर्ग देखभाल गृह में ऐसी कई प्रसिद्ध हस्तियों की यात्रा की तस्वीरें भी अपलोड कीं हैं.

आश्रम के कार्यवाहक ने कहा कि शर्मिष्ठा आश्रम में कहानियों की शूटिंग करती थी, लेकिन स्पष्ट किया कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि किस तरह की कहानियों की शूटिंग की जा रही है. सूत्रों ने बताया, कुछ दिन पहले शर्मिष्ठा ने दयाल आश्रम में शनि मेला लगाया था. वृद्धाश्रम की कार्यवाहक ने कहा कि वह तब से पहुंच से बाहर थी.

चर्चा जोर-शोर से चल रही है कि ओडिशा सरकार की सत्ताधारी पार्टी की कई हाई-प्रोफाइल हस्तियों के साथ अपने संबंधों के कारण पुलिस के रडार से बचने में सफल रही है.

Manas Swain's Murder Case: पिछले हफ्ते इस केस को CID को सौंपे दिया गया था. इस पहले जिला पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया था और राउत की तलाश की जा रही थी. पुलिस उस चिप की तलाश में है और आगे की जांच को बड़ा रही है. पुलिस का कहना है कि इसमें कई हाई प्रोफाइल लोगों के शामिल होने की संभावना है. पुलिस की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है इस हत्याकांड में चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT