पत्नी की बेरहमी से हत्या, बच्चे को पटका, खुद मेट्रो के आगे कूदा पति, नशे की लत से उजड़ गया परिवार!

ADVERTISEMENT

Crime Tak
Crime Tak
social share
google news

Gurgaon Murder: डीएलएफ फेज-3 इलाके के एस ब्लॉक में एक महिला की तेजधार हथियार से वार कर हत्या कर दी गई. बंद घर में कई घंटों तक रोने की आवाज सुनने के बाद गार्ड ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ताला तोड़कर अंदर घुसी तो महिला के शव के पास डेढ़ साल का बच्चा रो रहा था. जांच में पता चला कि मृतक 23 वर्षीय लक्ष्मी रावत का पति गौरव शर्मा फरार है. पुलिस ने उस पर हत्या का शक कर जांच शुरू की. इस बीच सोमवार सुबह पता चला कि गौरव ने भी यूपी गाजियाबाद के कौशांबी मेट्रो स्टेशन से कूदकर आत्महत्या कर ली है. डीएलएफ फेज-3 थाना पुलिस अब मृतक के परिवार के आने का इंतजार कर रही है.

यह मामला रविवार रात को सामने आया. डीएलएफ फेज-3 के एस ब्लॉक में मकान नंबर 31/15 की पहली मंजिल से एक बच्चे के काफी देर तक रोने की आवाज आ रही थी. घर में बाहर से ताला लगा हुआ था. रहवासियों ने गार्ड को बताया तो गार्ड ने पुलिस को सूचना दी। डीएलएफ फेज-3 थाना अंतर्गत नाथूपुर चौकी से पुलिस टीम यहां पहुंची और ताला तोड़कर अंदर दाखिल हुई तो कमरे में एक महिला का लहूलुहान शव पड़ा मिला. शव के पास डेढ़ साल का मासूम बच्चा रो रहा था। पुलिस टीम ने बच्चे को संभाला और मृतक की पहचान 23 वर्षीय लक्ष्मी रावत के रूप में हुई. जांच में पता चला कि महिला का पति गौरव शर्मा भी यहीं रहता था और अब फरार है.

लक्ष्मी रावत का पति गौरव शर्मा

किराए पर रह रहा था परिवार

यह दंपत्ति करीब 6 महीने से अपने बच्चे के साथ यहां रह रहा था। फोरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया। मृतक का मोबाइल फोन घर में बने शौचालय में बहा दिया गया था. जिसे पुलिस टीम ने अपने कब्जे में ले लिया है. पुलिस ने मृतक के परिवार को उत्तर प्रदेश के आगरा में घटना की जानकारी दी। जिसके बाद महिला के पति गौरव शर्मा की तलाश शुरू हुई, लेकिन सोमवार सुबह गाजियाबाद पुलिस से सूचना मिली कि गौरव शर्मा ने कौशांबी मेट्रो स्टेशन से कूदकर आत्महत्या कर ली है. डीएलएफ फेज-3 थाना पुलिस अब मृतक के परिवार के आने का इंतजार कर रही है.

ADVERTISEMENT

किराए पर रह रहा था परिवार

तो नशे की लत ने बर्बाद कर दिया खुशहाल परिवार!

यूपी के आगरा निवासी गौरव शर्मा बीटेक करने के बाद गुड़गांव की एक निजी आईटी कंपनी में नौकरी करने लगे। करीब 6 महीने पहले वह अपनी पत्नी लक्ष्मी और बच्चे के साथ डीएलएफ फेज-3 के एस ब्लॉक में रहने आया था। आगरा में गौरव और लक्ष्मी के परिवार भी इससे बहुत खुश थे, लेकिन कुछ दिनों बाद गौरव की नशे की लत ने पूरे परिवार को बर्बाद कर दिया।

गौरव कुछ महीनों से नशे का आदी हो गया था

रविवार रात लक्ष्मी की मौत की सूचना मिलने के बाद उनका परिवार सोमवार दोपहर गुड़गांव पहुंचा। पोस्टमार्टम हाउस पर मौजूद लक्ष्मी के पिता राजेश रावत ने बताया कि वह भाजपा नेता हैं। उनका कहना है कि गौरव और लक्ष्मी कुछ दिनों तक ठीक रहे, लेकिन करीब दो महीने पहले गौरव के परिवार और लक्ष्मी के परिवार को पता चला कि गौरव ने नशा करना शुरू कर दिया है.

ADVERTISEMENT

ससुर को फोन कर पैसे मांगता था

वह फोन कर कभी 5 हजार तो कभी 10 हजार रुपये मांगता था. राजेश ने कई बार अपने दामाद की यह मांग पूरी भी की. 10 दिन पहले भी गौरव ने अपने ससुर को फोन कर 20 हजार रुपये मांगे थे लेकिन वह नहीं दे सका। उन्होंने बताया कि लक्ष्मी ने 5 दिन पहले अपनी मां से बात की थी लेकिन यह सामान्य दिनचर्या की बात थी और उन्होंने झगड़े के बारे में कुछ नहीं बताया था. उन्होंने कहा कि हत्या कर आत्महत्या का कारण नशा हो सकता है. इसके अलावा हमें कोई अन्य कारण या विवाद नहीं मिला.

ADVERTISEMENT

आरोपी ने बच्चे को भी पटक दिया, जिससे सिर में चोट आई

रविवार दोपहर गौरव ने अपनी पत्नी पर जानलेवा हमला कर दिया। उसने गर्दन और सिर पर चाकू से कई वार किए। जिसके बाद लक्ष्मी के सिर पर किसी भारी वस्तु से वार किया गया और लक्ष्मी की मौत हो गई. आरोपियों ने लक्ष्मी को भी काफी प्रताड़ित किया. उसके सिर के बाल इतनी जोर से खींचे गए कि बाल भी उखड़ गए। आरोपियों ने बच्चे को भी उठाकर फेंक दिया. जिससे बच्चे के सिर और शरीर के अंदरूनी हिस्सों में भी चोटें आईं। पुलिस ने बच्चे को इलाज के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया। जहां से उन्हें दिल्ली एम्स रेफर कर दिया गया. अब वहां बच्चे का इलाज चल रहा है.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT