अवैध धर्मांतरण मामला : अल-कायदा के संपर्क में ऐसे आए थे आरोपी, इतने करोड़ की मिली थी विदेशी फंडिंग? जानें

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

लखनऊ: अवैध धर्मांतरण की जांच में जुटी यूपी एटीएस को अब तक लगभग 100 करोड़ की विदेशी फंडिंग के जुटाए है. बस इतना ही नहीं, गिरफ्तार किए गए 16 आरोपियों में 2 आरोपीयों के संपर्क आतंकवादी संगठन अल-कायदा से भी रह चुके हैं.

अवैध धर्मांतरण के सिंडिकेट को बड़े पैमाने पर विदेशों से फंडिंग की जा रही थी बीती 20 जून को दिल्ली से गिरफ्तार किए गए मौलाना उमर गौतम और जहांगीर आलम से यह बात सामने आई. यूपी एटीएस ने अब तक दाखिल की 10 आरोपियों के खिलाफ दूसरी चार्जशीट में इस फॉरेन फंडिंग का 89 करोड़ हवाला के सिंडिकेट से पहुंचना बताया है. यूपी ATS की मानें तो उमर गौतम की संस्था अल हसन एजुकेशनल एंड वेलफेयर फाउंडेशन को ब्रिटेन की अलफलाह ट्रस्ट से 57 करोड़ रुपए दिए गए. वहीं, मौलाना कलीम की संस्था जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट को भी 22 करोड़ की फॉरेन फंडिंग हासिल हुई है.

150 करोड़ की विदेशी फंडिंग

ADVERTISEMENT

लंदन से लेकर अमेरिका और खाड़ी देशों से हुई इस फंडिंग में हवाला सिंडिकेट का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल हुआ है. इतना ही नहीं, अवैध धर्मांतरण में पकड़े गए दो आरोपी अल-कायदा के भी संपर्क में थे. जांच में साफ हुआ है कि एक गिरफ्तार किए गए गणेश प्रसाद कावरे उर्फ एडम और कौसर आलम तो लोगों को लालच देकर अवैध धर्मांतरण के इस अभियान में काम करते-करते आतंक की राह पर भी चल रहे थे. अल-कायदा से जुड़े तमाम लोगों की धार्मिक कट्टरता से प्रभावित होकर दोनों ही आरोपी अलकायदा के संपर्क में आ गए थे.

सांप्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ने की कोशिश

ADVERTISEMENT

यूपी एटीएस ने अब तक की जांच के बाद आशंका जताई है कि अवैध धर्मांतरण के इस अभियान से देश के सांप्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ने की कोशिश हो रही थी. जनसंख्या संतुलन बिगाड़ कर देश में चुनी गई संवैधानिक सरकार के बजाय शरीयत से चलने वाली सरकार को अवस्थापित करने का षड्यंत्र रचा जा रहा था.

ADVERTISEMENT

अब तक 16 गिरफ्तार
धर्मांतरण मामले में यूपी एटीएस की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है. कई चौकाने वाले राज सामने आ रहे है. अभी तक इस मामले में एटीएस 16 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है. जिनमें से 10 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की जा चुकी है. चुकी है, लेकिन अभी मौलाना कलीम समेत छह आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल होना बाकी है.

गोरखपुर में पुलिसवालों का आतंक : आधी रात में चेकिंग करने आए तो इस शख्स ने पूछा, आतंकी हैं क्या? फिर राइफल की बट से पीटकर मार डाला समलैंगिक को देखते ही मार देंगे तालिबान के आतंकवादी ?

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...