मूसेवाला मर्डर के बाद जेल से लॉरेंस ने क्या बोला? पहली बार सुनें जेल से लॉरेंस की असली आवाज

Sidhu moosewala : सिद्धू मूसेवाला मर्डर में लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) और गोल्डी बराड़ (Goldy Brar) ही मुख्य साजिश कर्ता हैं. तिहाड़ जेल से लॉरेंस ने कैसे मूसेवाला को मरवाया. देखें बड़ा सबूत.
Sidhu Moose wala Murder Lawrence Bishnoi full Audio
Sidhu Moose wala Murder Lawrence Bishnoi full Audio

पंजाब से अरविंद ओझा की खास रिपोर्ट

Sidhu Moose wala Murder Lawrence Bishnoi : पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (Moose wala Murder) की हत्या की पूरी साजिश तिहाड़ जेल (Tihar Jail) और कनाडा से ही रची गई थी. अब इस दावे के पुख्ता सबूत मिल चुके हैं. जेल में रहते हुए लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) फोन पर बात करता था. जेल में लॉरेंस को उसके गुर्गे गुरु कहकर बुलाते हैं. पहली बार सामने आए फोन रिकॉर्डिंग में भी जेल में लॉरेंस को गुरु कहते हुए उसकी शूटर से फोन पर बात कराई जाती है.

जेल से ही लॉरेंस फोन पर किसी को मारने की सुपारी देता था. और जेल से ही साजिश रच लेता था. उसके फोन कॉल रिकॉर्ड से इन बातों का अब पूरा खुलासा हो गया है. अब पंजाब पुलिस के सीनियर पुलिस अधिकारी ने भी मान लिया है कि लॉरेंस बिश्नोई जेल में रहकर फोन से बात करता था.

सिद्धू मूसेवाला मर्डर के बाद लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) ने क्या बोला, पहली बार सुनिए तिहाड़ जेल से लॉरेंस की आवाज, Watch Full Call Recording

पंजाब पुलिस ने भी माना, जेल में रहते हुए लॉरेंस फोन पर करता था बात

इस पर आजतक संवाददाता अरविंद ओझा ने रिपोर्ट दी है कि पंजाब के ADGP प्रमोद भान ने कहा है कि लॉरेंस बिश्नोई को रिमांड में लेकर जब जांच चल रही थी तब ये पता चला था कि उसने जेल में रहते हुए फोन का इस्तेमाल किया था. वो जेल में रहते हुए ही फोन के जरिए देश और दुनिया में रहने वाले लोगों के संपर्क में था.

ये भी पता चला है कि लॉरेंस बिश्नोई के इशारे पर ही कई बड़े क्राइम को अंजाम दिया गिया है. क्या लॉरेंस बिश्नोई कनाडा में मौजूद गैंगस्टर साथी गोल्डी बराड़ के भी संपर्क में था. ये सवाल पूछे जाने पर पंजाब के पुलिस अधिकारी ने हां में जवाब देते हुए कि वो उसके लगातार में टच में रहता था.

Gangster Lawrence Bishnoi | Social Media
Gangster Lawrence Bishnoi | Social Media

फोन पर लॉरेंस बिश्नोई ने क्या बात की, पूरा पढ़ें

इससे पहले, आपको बता दें कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में क्राइम तक (Crime Tak) को एक्सक्लूसिव 1 मिनट 30 सेकंड का एक इंटरसेप्टेड कॉल मिला है. जो ये साबित करता है कि हत्या के बाद तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को पूरे मिशन से अपडेट कराया गया था. जिसमें शूटर ने फोन पर सिद्धू मूसेवाला की हत्या करने की जानकारी दी थी. आखिर उस शूटर और तिहाड़ जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई के बीच क्या बात हुई थी. उसे पूरा जान लेते हैं....

मूसेवाला के मर्डर के बाद क्या बात हुई?

लॉरेंस का शूटर अज्ञात शख्स से बोलता है: हैलो... बात हो सकती है?

अज्ञात शख्स: हां, बिल्कुल हो सकती है...

शूटर: बात करवाना...एक जरूरी बात है

अज्ञात शख्स: एक मिनट रुको...

लॉरेंस से शूटर:- मैं केहा स्पीकर ऑन तो नहीं...गोल्डी नूं लाई फोन...मेरी गल्ल

शूटर: सुन.. बहुत मुबारकां...परा (भाई) को...ठीक हो...ठीक हो

लॉरेंस: हां...

शूटर: मैं केहा कि ज्ञानी चढ़ा दित्ता गड्डी

लॉरेंस: हैं... (मतलब लॉरेंस को कुछ समझ नहीं आता है)

शूटर फिर से बोलता है: ज्ञानी चढ़ा दित्ता गड्डी

लॉरेंस: की करता....

शूटर: मैं केहा कि ज्ञानी चढ़ा दित्ता गड्डी...मूसेवाला मार दित्ता....(मार दिया)

लॉरेंस: मारता...ओके काट दो (कॉल डिस्क्नेक्ट करने की कहता है)

Goldy Brar Full Video Part-1 नीचे देखें

वीडियो में गोल्डी बराड़ (Goldy Brar) का ये पूरा कबूलनामा...पढ़ें

Goldy Brar sidhu moosewala murder full Confession video : मेरा नाम गोल्डी बराड़ है मै मुक्तसर साहिब का रहने वाला हूं.. आप सब लोग मुझे जानते ही हो...पिछले काफी समय से आप सभी लोग मेरा नाम ख़बरों में सुन रहे होगे.... मूसेवाला केस से मेरा नाम जोड़ा गया... मुझे कोई पछतावा नहीं है...मैने पहले भी बोला था कि ये काम मैने करवाया था... समय के साथ सब होता है... सिद्धू दोषी था..

हमारे 2 भाइयों के कत्ल में इसका हाथ था...मूसेवाला ने अपनी गाने की इमेज को सच साबित करने की कोशिश की थी.. ऐसी गलतियां की थी जिसकी सज़ा मिलनी ही थी जो भूलनेवाली नहीं थी... कानून इन लोगों के लिए नहीं है ये बड़े बड़े मंत्रियों का, उनके बेटों का दोस्त था.. इनको कोई कुछ नहीं कह सकता इनके लिए सब जायज़ है... इसके अलावा हमारे पास कोई ऑप्शन नहीं था... जो हमे सही लगा हमने किया हमने जस्टिस कर दी... भगवान सब जानते है सब के मन की जानते है...

हमे अकालपुरख के आगे जो भी सज़ा मिलेगी हमे मंज़ूर है... हमे और किसी पर यकीन नहीं... जो हमने करना था कर दिया... हम वीडियो बनाते है इसके पीछे हमारा मकसद है.. हमे खराब ही रहने दो... हमे अच्छा नहीं बनना... अच्छे लोगों की कोई पूछ नहीं होती है... सिद्धू मूसेवाला को उसके जीते जी लोग गालियां देते थे. उसको कोई पंसद नहीं करता था कि वो पंजाबियों की इमेज खराब करता है.. उसके मरने पर उसकी इमेज बदल गई....

लोगों को ये नहीं पता कि इससे पहले मूसेवाला ने कितने घरों का ये हाल किया था... कितने घरों के चिराग बुझाए थे.. मेरा क्या कर लिया... मेरा क्या पट लिया वो गाने में भी ऐसी बाते करता था... मेरा बेकसूर भाई मारा गया था... जो मूसेवाले को सिख शहीदों के साथ जोड़ रहे हो हमे उसके बारे में बात करनी है... उसको लेकर हम विडियो बना रहे हैं... यो उसका हकदार नही था... ये सिख योद्धाओं की भी बेसती है.... सिख समुदाए का नाम नीचे ज़रुर किया उसने... सारी कांग्रेस सिद्धू के बहुत करीब थी.. .ये सब को पता हा....

IG उमरानंगल सिद्धू के साथ नाचता था शराब पिता था.. बरगाड़ी बेअदबी और गोलीकांड का दोषी है जिसे SIT ने पकड़ा था और सस्पेंड भी किया था... ये IG सिद्धू का बहुत खास था... उसके साथ उठता बैठता था... उमरानंगल अखाड़े में क्या क्या हुआ सिख कौम का क्या हाल हुआ है.. पुलिस अफसरों ने कितने सिखों को मारा है ये कभी पढ़ना... विडियो देखना...

सिख इतिहास में जो बहुत बड़ा कांड था.. पुलिस और सरकार के बीच... उमरानंगल के मंत्रियों ने करवाया था... उन्होंने अमृतसर में बैसाखी वाले दिन निरंकारी बाबे का दिवान लाया था...भिंगरेवाला ने विरोध किया था कि ये चीज़ होने ना दो इससे माहौल खराब होगा... भिंडरावाला ने कहा था कि जिस निरंकारी बाबा की गद्दी सरकार हरमंदिर साहि्ब के नज़दीक लगा रही है वो गुरु ग्रंथ साहिब के बारे में बहुत खराब बाते बोलता था... उसकी गद्दी अकाली दल के मंत्री ने लगाई...

1978 की ये घटना है जब भिंडरावाला ने संगत से कहा कि निरंकारी बाबा के दीवान का विरोध करना चाहिए... 100-150 लोगों का जत्था जब विरोध करने गया उनके पास कोई हथियार नहीं थे... उनको गोलियां मार दी गई थी.. 11 सिंह शहीद हो गए थे... उस समय की सरकार ने ये किया ... उमरानगल परिवार के साथ सिद्धू का उठना बैठना था ये सिखों की निशानी नहीं होती है.. ये बागियों की निशानी होती है... जीवन सिंह ने भिंडरावाला के साथ बहस हुई थी... सिद्धू उस कांग्रेस में शामिल हुआ जिस पार्टी ने हमेशा से सिखों का खून पिआ था..

सिद्धू मूसेवाला ने अपनी जान बचाने के लिए 2 करोड़ का दिया था ऑफर

मूसेवाला उस कांग्रेस को मज़बूत करने में लग गया... उसूलों का कोई मतलब नहीं... SYL गाने गाए जाता था सिद्धू.. बागियों के के गाने गाता था.. ऐसे थोड़ी होता है.... जब दीप सिद्धू का संस्कार हो रहा था तब भी मूसेवाला शराब पी रहा था... नाच रहा था.. ऐसे समय में भी... उसने अखाडा़ लगाया हुआ था.. लोग तब विरोध कर रहे थे.. लेकिन अब लोग सब भूल गए... मिद्दूखेड़ा की मौत के बाद सिद्दू ने मुझे 2 करोड़ का ऑफर दिया था और कहा कि गुरुद्वारे जाकर कसम खाओ कि नुकसान नहीं पहुंचाओगे लेकिन मैने भाई के खून का बदला ले लिया...
Sidhu Moosewala Murder में Goldy Brar के कबूलनामे का Full video PART-2

sidhu Moose wala murder full Story : आगे गोल्डी बराड़ कहता है....

उसको पता था कि उसको मार देंगे... कई लोगों के पास गया लेकिन राज़ीनामा नहीं हुआ... मूसेवाला को शहीद कह रहे हो... पहले शहीद का मतलब समझ लो... हमे तो खराब ही रहने दो... लॉरेंस बिश्नोई को गद्दार कह रहे हो... शक्ति सि्ंह के घर भोला गया भी था जिन्होंने बेअदबी की थी... लेकिन कुछ मिला नहीं... मैं भी गरीब घर से हू... मेरे दोस्त भी गरीब घर से है... मैने कभी सुपीरी देकर काम नहीं करवाया...

लारेंस बिश्नोई को गद्धार कहते तो... वो भिंडरावाला की टीशर्ट पहनता है. जिसकी वजह से उसे प्रताड़ित भी किया गया... वो नियमित तौर पर पाठ भी करता है... वो और मैं इक्ट्ठे पढ़े हैं.. विक्की मिड्डूखेड़ा के हत्यारे सिद्धू की बुलेटप्रूफ गाड़ी में घूम रहे होते थे... आगे पीछे पुलिस घूम रही होती थी....

लॉरेंस बिश्नोई गैंग के दुश्मन सिद्धू के साथ घूम रहे होते थे... विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या में जब सिद्धू का नाम आया था तब सिद्धू ने टैटू बनवाया था... उसने विक्की के शूटर्स को पनाह दी थी...जो लोगों के घरों में चिट्ठियां जा रही हैं कि हम फिरौती मांग रहे हैं तो ऐसा नहीं है हम आम लोगों से फिरौती नहीं मांगते है जिन लोगों के पास करोड़ों रुपये होते है हम उनसे फिरौती मांगते हैं...

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in