पंजाब में लाइसेंस के लिए कुछ भी करेगा

Punjab Weapon Licence Drama: हथियारों (Weapon) का लाइसेंस (Licence) हासिल करने के लिए अख्तियार किए जा रहे हथकंडों का पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने खुलासा किया है।
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

Weapon Licence Drama: पंजाब (PUNJAB) में हथियारों (WEAPON) का लाइसेंस (LICENCE) लेना और हथियार लेकर चलने का चलन बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। और हथियारों का लाइसेंस हासिल करना एक तरह से यहां लोगों के लिए शान की बात हो गई है, तभी तो हथियारों के लाइसेंस पाने के लिए हर कोई कुछ न कुछ दांव पेंच तो करता ही रहता है। ऐसे ही एक शख्स ने हथियारों का लाइसेंस हासिल करने के लिए खुद अपने ही घर पर गोली चलवा दी।

पंजाब की मोगा पुलिस ने फर्जी फायरिंग के सिलसिले में तरलोचन सिंह और उसके दो साथियों कुलविंदर सिंह और सुखवंत सिंह उर्फ फौजी को गिरफ्तार कर लिया है।

बकौल पंजाब पुलिस मोगा पुलिस के पास बांबिहा भाई गांव से एक शिकायत आई थी, जिसमें दावा किया गया था कि सोमवार की सुबह सवेरे कुछ अनजान लोगों ने उसके घर पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने तफ्तीश की और फायरिंग के सिलसिले में कुलविंदर सिंह और सुखवंत सिंह उर्फ फौजी को गिरफ्तार कर लिया।

CCTV ने दिया फ़र्ज़ी फ़ायरिंग का पता

Punjab Police: आरोपियों के पास से .315 बोर का एक कट्टा, और दो कारतूस बरामद किए। इसके अलावा एक .32 बोर का रिवॉल्वर और सात कारतूस के साथ साथ चार मोबाइल और एक पेन ड्राइव बरामद कर ली।

इधर पुलिस के पास तरलोचन सिंह ने ये शिकायत भी दी थी कि उसे गैंग्स्टरों की तरफ से फिरौती के लिए धमकी भी दी जा रही है, लेकिन सोमवार की सुबह उसके घर पर फायरिंग तक कर दी गई। लेकिन जब पुलिस ने इलाके के CCTV की तस्वीरों की पड़ताल की तो उन्हें तरलोचन सिंह की कहानी पर शक होने लगा। लिहाजा पुलिस ने अपनी जांच की दिशा ही बदल दी।

तहकीकात में खुलकर सामने आई असली वजह

Fake Firing: पुलिस ने तब गुमनाम अपराधियों के पीछे भागने के बजाए सीधे तरलोचन सिंह से ही सवाल जवाब करने शुरू कर दिए। पुलिस के लगातार बदलते रंग ने तरलोचन सिंह का रंग उतार दिया और उसने जो क़िस्सा सुनाया उसने फर्जी फायरिंग की पूरी हक़ीक़त और मकसद दोनों ही पुलिस के सामने जाहिर कर दिए।

बकौल पुलिस असल में तरलोचन सिंह शस्त्र लाइसेंस बनवाना चाहता था और उसी के लिए उसने पूरा ड्रामा खुद रचा था। ताकि जान पर खतरे की बात को प्रशासन मानकर उसके लिए शस्त्र लाइसेंस की मंजूरी दे देगा। लेकिन लाइसेंस मिलने से पहले ही तरलोचन सिंह के लिए जेल का टिकट कट गया।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in