Delhi Crime: दिल्ली पुलिस के चक्रव्यूह में आया दो सगे भाईयों का सेक्सटॉर्शन (Sextortion) गैंग

Delhi News: ये गैंग शिकार को जाल में फंसाने के लिए फेसबुक सोशल मीडिया पर सुंदर लड़कियों के फर्जी प्रोफाईल बनाता और लोगो को अपने जाल में फंसा लेता था।
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीरTanseem Haider

Delhi Crime News: दिल्ली पुलिस ने सेक्सटॉर्शन (Sextortion) गैंग के दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक ये गैंग (Gang) पहले लोगो को अपने जाल (Trap) में फंसा लेते फिर पुलिस (Police) वाले बन कर फ़ोन करते और पैसे वसूलते (Extortion) थे। लोगो को अपने जाल में फंसाने के लिए ये लोग फेसबुक (Facebook) पर लड़कियों (Girls) के नाम से फेक प्रोफाईल बनाते और लोगो को अपने जाल में फंसा लेते थे।

गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों के नाम अहमद खान और आमिर खान है दोनों सगे भाई हैं। पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी पर 20 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा था। पुलिस ने अहमद को हाथरस से जबकि आमिर खान को रामगढ़ से गिरफ्तार किया। आरोप है कि इस गैंग ने करीब 100 से ज्यादा लोगों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दिया है।

क्राइम ब्रांच की इंटर इस्टेट सेल को एक शिकायत मिली थी कि कुछ लोगो ने खुद को यू ट्यूब, और साइबर क्राइम के पुलिस अधिकरी बात कर 12 लाख से ज्यादा की ठगी की है। इस शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने एफआईआर फर्ज कर ली और जांच शुरू कर दी थी।

पुलिस ने इस गैंग के तीन ठगों को तो पहले ही गिरफ्तार कर लिया था लेकिन दो भाई भाग निकले थे। जिनकी तलाश अब जाकर पूरी हुई है। ये लोग सबसे पहले फेसबुक पर लड़कियों के नाम से फेक प्रोफाईल बनाते थे। और लोगो फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा करते थे। जैसे ही कोई इनका फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार करता ये तुरन्त उसके साथ चैटिंग शुरू कर देते। फिर वाट्सएप नंबर मांग लेते। फिर ये वीडियो कॉल के लिए सामने वाले को कहते थे।

जैसे ही सामने वाला शख्स वीडियो कॉल के लिए राजी होता ये दूसरे मोबाइल से इस तफह से अश्लील वीडियो चलाते थे कि सामने वाले को समझ नही आता और फिर स्क्रीन रिकॉर्डर की मदद से वो पूरी चैटिंग रिकॉर्ड कर लेते और वीडियो को पब्लिक करने की धमकी देकर वसूली शुरू कर देते। कई बार धमकी देने के लिए पुलिस वाले भी बन जाते।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in