Delhi Crime: जिगोलो बनाने के नाम कर ठगी, चार महिलाओं समेत 6 गिरफ्तार

Delhi News: दिल्ली पुलिस ने एस्कॉर्ट जॉब और जिगोलो (Gigolo) बनाने के बहाने लोगों को ठग रहे अंतर्राज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ किया है।
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

Delhi Crime News: दिल्ली पुलिस ने साइबर (Cyber) जालसाजों के एक अंतर्राज्यीय गिरोह (Gang) का भंडाफोड़ किया है और चार महिलाओं सहित छह लोगों को जिगोलो (Gigolo) जैसी एस्कॉर्ट (Escorts) जॉब देने के बहाने लोगों को ठगने (Cheat) के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से जुड़े नौ मोबाइल फोन, नौ सिम कार्ड और नौ डेबिट कार्ड भी बरामद किए हैं।

जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी ने फर्जी मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर जिगोलोक्लब और प्लेबॉय क्लब के नाम पर नौकरी दिलाने के लिए दो वेबसाइट बनाई थी। वे पिछले एक साल से अंतरराज्यीय रैकेट चला रहे थे और 200 से ज्यादा लोगों से लाखों की ठगी कर चुके थे।

आरोपियों की पहचान अमित गांधी, उनकी पत्नी माही गांधी, जय कोचर, हरमन कौर, लिशा और रंजना सिंह के रूप में हुई है। पुलिस मे दिल्ली के तीस हजारी में डीडीए फ्लैट्स में रहने वाले आदिल ने शिकायत दी थी और आरोप लगाया कि वह Google पर नौकरी के प्रस्ताव खोज रहा था, लेकिन पंजीकरण, बैठक और चिकित्सा जैसे विभिन्न शुल्कों के बहाने जालजासें ने 58,158 रुपये का भुगतान करवा लिया।

पुलिस कि गिरफ्त मे आरोपी
पुलिस कि गिरफ्त मे आरोपी

पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। टीम ने कई मोबाइल नंबरों के कॉल डिटेल का तकनीकी विश्लेषण किया और कई बैंक खातों और भुगतान वॉलेट के जरिए लेनदेन को भी ट्रैक किया। जांच में पुलिस ने पाया कि आरोपी पश्चिमी दिल्ली और पंजाब के पटियाला में विभिन्न स्थानों से काम कर रहे थे।

इसके सूचना के बाद पुलिस ने छापेमारी शुरु की और दो आरोपियों अमित और जय को 26 जुलाई को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद, चार महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया, जो कॉल अटेंड करती थीं। पूछताछ के दौरान, आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्होंने दो वेबसाइटें बनाई हैं।

जब भी कोई नौकरी तलाश करता हुआ वेबसाइट पर सर्फ करता था तो गिरफ्तार महिलाएं उनसे पंजीकरण शुल्क के रूप में 2,500 रुपये का भुगतान करने के लिए कहती हैं। वे बाद में पीड़ितों से होटल शुल्क, चिकित्सा शुल्क का भुगतान करने के लिए कहते थे और पैसे मिलने के बाद पीड़ितों के मोबाइल नंबरों को ब्लॉक कर देते थे।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in