'बिभव कुमार ने फॉर्मेट कर दिया फोन, CCTV डेटा भी डिलीट...' पुलिस ने कोर्ट में रखे ऐसे फैक्‍ट्स, मिली 5 दिन की रिमांड

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Swati Maliwal Case: आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सदस्य स्वाति मालीवाल के साथ कथित बदसलूकी और मारपीट के मामले में आरोपी विभव कुमार (bibhav kumar) को पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. कोर्ट में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पीए विभव कुमार के वकील ने कई दलीलें दीं, लेकिन दिल्ली पुलिस ने कोर्ट के सामने ऐसे तथ्य पेश किए कि अदालत ने आरोपी को रिमांड में भेजने का आदेश दे दिया. दिल्ली पुलिस की ओर से पेश वकील ने कोर्ट में प्रभावी दलील दी, जिसके सामने आरोपी के वकील की दलीलें कमजोर पड़ गईं.

तीस हजारी कोर्ट ने उन्हें 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया है. कोर्ट ने यह निर्णय देर रात सुनाया. दिल्ली पुलिस ने विभव के लिए 7 दिन की रिमांड की मांग की थी. अब 23 मई को विभव को फिर से अदालत में पेश किया जाएगा.

दिल्ली पुलिस ने विभव कुमार को रिमांड पर भेजने के लिए कोर्ट में कई तथ्य प्रस्तुत किए

  1. यह एक गंभीर मामला है, जिसमें राज्यसभा की महिला सदस्य पीड़ित है और उनकी बुरी तरह पिटाई की गई है.
  2. पीड़िता की मेडिकल जांच से भी उनके बयान की पुष्टि हुई है.
  3. आरोपी का फोन जब्त किया गया है, लेकिन उसे एक दिन पहले मुंबई में फॉर्मेट भी किया गया था और उसका पासवर्ड भी नहीं बताया जा रहा.
  4. एक जूनियर इंजीनियर ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मुहैया करवाई है, लेकिन उस समय का फुटेज ब्लैंक है. जरूरी साक्ष्य के साथ छेड़छाड़ की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.
  5. बिना किसी वजह या उकसावे के इस गंभीर हमले के कारण का पता लगाना है.
  6. आरोपी विभव कुमार ने जांच में सहयोग नहीं किया.
  7. आरोपी के खिलाफ नोएडा में भी एक आपराधिक मामला दर्ज है.
  8. आरोपी को मुख्यमंत्री के पीएस पद से हटा दिया गया था, फिर भी घटना वाले दिन वह मुख्यमंत्री आवास पर क्यों गए थे?
  9. आरोपी को घटनास्थल (मुख्यमंत्री निवास) से ही पकड़ा गया, क्या वे सबूतों को मिटाने के लिए वहां गए थे?

कल सीएम हाउस से हुए थे गिरफ्तार

स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने शनिवार को विभव कुमार को गिरफ्तार किया. उससे पूछताछ जारी है. सिविल लाइन पुलिस ने पहले विभव कुमार को हिरासत में लिया था और फिर गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी से पहले विभव कुमार ने दिल्ली पुलिस को दो ईमेल भेजे थे. पहले ईमेल में उन्होंने स्वाति मालीवाल की शिकायत की थी और दूसरे ईमेल में उन्होंने दिल्ली पुलिस की जांच में सहयोग करने की बात कही थी.

ADVERTISEMENT

 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT