केजरीवाल सरकार की नई शराब नीति में गड़बड़ और घोटाला ? केजरीवाल सरकार के खिलाफ LG का कड़ा कदम

Delhi LG Recommends CBI Inquiry: दिल्ली के LG ने दिल्ली सरकार द्वारा लाई गई नई आबकारी नीति NEW EXCISE POLICY के खिलाफ CBI जांच की सिफारिश की है।
 दिल्ली के LG विजय कुमार सक्सेना
दिल्ली के LG विजय कुमार सक्सेना

Delhi LG Recommends CBI Inquiry: दिल्ली के LG ने दिल्ली सरकार द्वारा लाई गई नई आबकारी नीति के खिलाफ जांच की सिफारिश की है। दिल्ली के LG को लगता है कि दाल में कुछ काला है। LG ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है। अब देखना होगा कि संबंधित विभाग इस दिशा में क्या कार्रवाई करता है।

ये आदेश दिल्ली के LG विजय कुमार सक्सेना ने जारी किये। पिछले साल NEW EXCISE POLICY लागू की गई है। ऐसा माना जा रहा था कि उससे दिल्ली सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी होगी।

एलजी ने ये कदम मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद उठाया है। दावा है कि रिपोर्ट में कई नियमों की अनदेखी की गई है। यही नहीं लाइसेंस लेने वालों को अवैध तौर पर फायदा पहुंचाया गया है। सबसे बड़ा आरोप ये है कि जब कोरोना की वजह से कारोबार बंद हो रहे थे, लोग शहर छोड़कर जा रहे थे तब दिल्ली सरकार ने लोगों की आर्थिक मदद नहीं की। रिश्वत-कमीशन के बदले 144 करोड़ से ज्यादा की लाइसेंस फीस माफ कर दी। इससे सरकारी खजाने को भारी नुकसान पहुंचा है।

उधर, आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा है कि मोदी को एक सीएम से जलन हो रही है।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल

तो क्या अब दिल्ली के उपराज्यपाल को लगता है कि आबकारी नीति की वजह से कुछ लोगों को फायदा पहुंचाया गया है। इस वजह से ये जांच के आदेश दिए गए है।

हाल ही में दिल्ली सरकार ने आबकारी नीति 2022-23 की अनुमति में देरी को लेकर मौजूदा खुदरा शराब की दुकानों की लाइसेंस अवधि अगले दो महीनों के लिए बढ़ा दी थी, जिसमें अन्य लाइसेंस के अलावा शराब की होम डिलीवरी भी शामिल है। दिल्ली कैबिनेट ने 5 मई को हुई अपनी बैठक में आबकारी नीति 2022-23 को मंजूरी दी थी, जिसे उपराज्यपाल से अनुमति मिलना बाकी था।

बीते साल की थी नई नीति लागू

दिल्ली सरकार ने पिछले साल नवंबर में अपनी नई आबकारी नीति लागू की थी, जिसके तहत निजी संचालकों को ओपन टेंडर से खुदरा शराब बिक्री के लाइसेंस जारी किए गए थे। अब तक, नई पॉलिसी लागू होने के बाद दिल्ली के 32 जोन में कुल 850 में से 650 दुकाने खुल चुकी हैं।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in