अमेरिका फिर दहला, मॉल में अंधाधुंध फायरिंग से गई चार लोगों की जान, हमलावर भी मारा गया

America Mall Shootout: अमेरिका के इंडियाना (Indiana Mall) के एक मॉल में हुई अंधाधुंध फायरिंग (Shootout) में चार लोगों की मौत (Four Dead) हो गई जबकि दो लोग बुरी तरह से जख़्मी हो गए।
फायरिंग के बाद इंडियाना मॉल के बाहर सुरक्षा कर्मी
फायरिंग के बाद इंडियाना मॉल के बाहर सुरक्षा कर्मी

America Shootout: अमेरिका (America) में एक बार फिर गोली चली...अमेरिका में एक बार फिर मॉल (Mall) में खून बहा। अमेरिका में एक बार फिर गन कल्चर (Gun Culture) को लेकर बहस शुरू हो गई। ये शायद अमेरिका में अब रोज रोज का सिलसिला बन गया है जब यहां खुलेआम फायरिंग (Shootout) हुई और चार लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और वो भी फ्री फंड में।

अमेरिका के इंडियाना प्रांत के एक मॉल में एक बार फिर गोलीबारी की वारदात हुई। इस फायरिंग में चार लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा जबकि दो लोग बुरी तरह से जख़्मी हो गए। हालांकि इस फायरिंग के बाद आर्म्ड सिविलियन ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें हमलावर मारा गया। और हमलावर के मारे जाने के बाद इस बात का पता नहीं चल सका कि हमलावर ने ये फायरिंग क्यों की?

फूडकोर्ट में घुसकर की फायरिंग, टायलेट के पास मिला संदिग्ध बैग

America Shootout: एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक फायरिंग की वारदात ग्रीनवुड पार्क के एक मॉल में हुई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इंडियानापोलिस से क़रीब 16 किलोमीटर दूर मॉल में एक अनजान शख्स भीतर गया और सीधा फूड कोर्ट चला गया और वहां उसने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस की शुरूआती तफ्तीश में मॉल के फूडकोर्ट के टॉयलेट के पास पास एक संदिग्ध बैग बरामद हुआ है। शुरुआती तफ्तीश में यही बात सामने आई है कि जिस शख्स ने अंधाधुंध फायरिंग की उसके पास एक हैंडगन थी। जबकि अमेरिका के इंडियाना प्रांत में हैंडगन रखने पर पाबंदी है।

हैंडगन से फायरिंग, कौन था हमलावर?

America Shootout: इससे भी खासबात ये है कि यहां 18 साल से कम उम्र के लोग और आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगों को हैंडगन रखने की पूरी तरह से मनाही है।

लिहाजा अब पुलिस के लिए ये जांच का विषय है कि जिस शख्स ने हैंडगन से फायरिंग की उसका क्या कोई आपराधिक अतीत है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in