Agneepath scheme : क्या है अग्निपथ योजना ? जानिए इस रिपोर्ट से

Agneepath Scheme : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सेना में चार साल के लिए युवाओं को भर्ती किया जाएगा। 'अग्निपथ भर्ती योजना' (Agneepath Recruitment Scheme) का ऐलान कर दिया गया है।
Agneepath scheme : क्या है अग्निपथ योजना ? जानिए इस रिपोर्ट से
रक्षा मंत्री ने इस योजना का ऐलान किया

मंजीत नेगी/जितेंद्र बहादुर सिंह/पॉलोमी साहा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Agneepath scheme Latest: सेना में चार साल के लिए युवाओं को भर्ती किया जाएगा। 'अग्निपथ भर्ती योजना' (Agneepath recruitment scheme) का ऐलान कर दिया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ये ऐलान किया। इसके साथ ही नौकरी छोड़ते वक्त सेवा निधि पैकेज मिलेगा। इस योजना के तहत सेना में शामिल होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा।

अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को पहले साल 4.76 लाख का सालाना पैकेज मिलेगा। चौथी साल तक बढ़कर ये 6.92 लाख तक पहुंच जाएगा। इसके अलावा अन्य रिस्क और हार्डशिप भत्ते भी मिलेंगे। चार साल की नौकरी के बाद युवाओं को 11.7 लाख रुपए की सेवा निधि दी जाएगी। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।

आपको बताते है कि अग्निपथ योजना की बड़ी बातें क्या है।

इसमें

- चार साल की नौकरी के बाद सेवा निधि पैकेज मिलेगा।

- 17.5 साल से 21 साल के युवाओं को मौका मिलेगा।

- ट्रेनिंग 10 हफ्ते से 6 महीने तक होगी।

- 10/12वीं के छात्र कर सकेंगे आवेदन।

- 90 दिन अग्निवीरों की पहली भर्ती होगी।'

- अगर कोई अग्निवीर देश सेवा के दौरान शहीद हो जाता है, तो उसके परिजनों को सेवा निधि समेत 1 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि ब्याज समेत मिलेगी। इसके अलावा बाकी बची नौकरी का भी वेतन दिया जाएगा।

- अगर कोई अग्निवीर डिसेबिल हो जाता है, तो उसे 44 लाख रुपए तक की राशि दी जाएगी। इसके अलावा बाकी बची नौकरी का भी वेतन मिलेगा।

इस बाबत तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस योजना का प्रेजेंटेशन भी दिया था। चार साल के बाद ज्यादातर जवानों को उनकी सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा। इसके अलावा सेना में 25 फीसदी जवान बने रह पाएंगे जो निपुण और सक्षम होंगे। हालांकि, ये भी तभी संभव रहेगा अगर उस समय सेना में भर्तियां निकलीं हों। इस प्रोजेक्ट की वजह सेना को करोड़ों रुपये की बचत भी हो सकती है। एक तरफ पेंशन कम लोगों को देनी पड़ेगी तो वहीं दूसरी तरफ वेतन में भी बचत हो जाएगी।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in