ईरान का ऐलान, इस्लामिक अरब देश मिलकर करें इजराइल का सामना

ADVERTISEMENT

फाइल फोटो
फाइल फोटो
social share
google news

World News Iran: ईरान ने इस्लामिक, अरब देशों से इजराइल का मुकाबला करने का आह्वान किया है।ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने इस्लामिक और अरब देशों से इजरायल का मुकाबला करने में सहयोग करने का आह्वान किया है क्योंकि फिलिस्तीनी आतंकवादी समूह हमास के अचानक हमले के कारण इजराइल एक घातक युद्ध छेड़ रहा है। हमास के हमले के दौरान सैकड़ों लड़ाके वाहनों, हवाई और समुद्री मार्ग से इजरायली सीमा में घुस गए थे, जिसमें 1,200 लोग मारे गए और रॉकेटों की बौछार की आड़ में 150 बंधकों को पकड़ लिया गया था।

इजरायली हमलों में लगभग 1,200 लोग मारे गए

गाजा पर हजारों इजरायली हमलों में लगभग 1,200 लोग मारे गए हैं, जबकि 2.4 मिलियन से अधिक लोगों के गरीब फिलिस्तीनी इलाके पर "पूर्ण घेराबंदी" लगाई गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजराइल पर हमास द्वारा किए गए बर्बर आतंकवादी हमले को यहूदियों के लिए ‘यहूदी नरसंहार’ (होलोकॉस्ट) के बाद का ‘सबसे घातक दिन’ करार देते हुए कहा कि इसने सदियों तक की यहूदी विरोधी भावना और उनके खिलाफ नरसंहार की दर्दनाक यादों को ताजा कर दिया है।

गरीब फिलिस्तीनी इलाके पर "पूर्ण घेराबंदी" 

बाइडन ने कहा कि अमेरिका इजराइल के हालात पर लगातार बारीकी से नजर बनाए हुए है। बाइडन ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम इजराइल में स्थिति की बहुत बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। उपराष्ट्रपति और मैं तथा मेरी सुरक्षा टीम के अधिकतर सदस्यों ने आज सुबह फिर इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से बात की।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ इस हमले ने सदियों तक यहूदी विरोधी भावना और यहूदी लोगों के खिलाफ नरसंहार की दर्दनाक यादों और जख्मों को फिर से हरा कर दिया है।’’

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...