Viral Video MP: शर्म नहीं आती अस्पताल वालों को! गरीबी का इतना मजाक मत उड़ाओ! छोटे भाई के शव को गोद में लेकर बैठा रहा बड़ा भाई

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

हेमंत शर्मा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Madhya Pradesh News: ये तस्वीर आपको विचलित कर सकती है, लेकिन शायद अस्पताल वालों को नहीं करती, क्योंकि वो तो रोज ये सब देखते है। अस्पताल इलाज तक अपनी जिम्मेदारी निभा रहा है। गरीब गरीबी से लड़ रहा है। तो फिर इसके लिए जिम्मेदार कौन है ? सरकार या फिर वो इंसान जो गरीब है। मध्य प्रदेश के मुरैना की घटना है। शनिवार को एक 8 साल का बच्चा अपने 2 साल के छोटे भाई के शव को गोद में लेकर बैठा हुआ था, इसलिए क्योंकि अस्पताल ने समय रहते एम्बुलेंस मुहैया नहीं कराई।

छोटे भाई के शव को गोद में लेकर बैठा Full Video देखिए

पूरा मामला जानिए

ADVERTISEMENT

मुरैना जिले के अंबाह के बड़फरा गांव में एक अस्पताल है। पूजाराम जाटव पंचर की दुकान चलाता है। उसके दो साल के बेटे राजा की तबीयत अचानक खराब हो गई। वो बच्चे को लेकर मुरैना जिला अस्पताल पहुंचा। पूजाराम के साथ उनका बड़ा बेटा गुलशन भी अस्पताल गया हुआ था। कुछ देर के बाद मुरैना जिला अस्पताल में राजा की मौत हो गई। पूजाराम ने अस्पताल से एम्बुलेंस की मांग की ताकि वो अपने बच्चे को घर ले जा सके, लेकिन पिता की मांग को अस्पताल ने ठुकरा दिया। दूसरे वाहन से जाने के लिए उसके पास भुगतान करने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं थे। वह व्यक्ति अपने बच्चे के शव के साथ अस्पताल से बाहर आया और वाहन की व्यवस्था में लग गया।

पूजाराम का बड़ा बेटा गुलशन अपने मृत भाई का सिर गोद में लेकर आधे घंटे तक वहीं बैठा रहा। जब भीड़ ने ये सब देखा तो अधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई। पुलिस ने एक एम्बुलेंस की व्यवस्था की और ड्राइवर को पूजाराम जाटव के घर जाने के लिए कहा। इस मामले पर मुरैना के सिविल सर्जन विनोद गुप्ता ने कहा, ''हमने एंबुलेंस का इंतजाम किया। जब तक गाड़ी पहुंची तब तक बच्चे का पिता जा चुका था।''

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...