पुलिस अधिकारी से लेकर नेता जिस बाबा से लेते थे आशीर्वाद, वो बलात्कारी निकला, रेप केस होते ही फरार

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Rewa Rape News : ये बाबा तो बलात्कारी निकला. वही बाबा जिसके नाम का कुछ दिन पहले ही मध्य प्रदेश के रीवा शहर में जयकारा हो रहा था. जिसके नाम के पोस्टर शहर में लगे थे. इस बाबा को कथा वाचक सीतारामदास महाराज (Sitaramdas Maharaj) के नाम से लोग जानते हैं.

जिनसे आशीर्वाद लेने के लिए क्या मंत्री और क्या पुलिस अधिकारी. सभी लाइन में लगते थे. इन्हें कोई मंत्री का दर्जा भी नहीं है. लेकिन सुरक्षा में हमेशा पुलिसवाले तैनात रहते हैं. ये कोई सरकारी वीआईपी नहीं हैं. लेकिन इनके लिए शहर का सबसे बड़ा सरकारी गेस्ट रहने के लिए खोल दिया जाता है.

इसी सरकारी गेस्ट हाउस में एक लड़की को नशीला पदार्थ देकर इस बाबा का रेप का आरोप लगा है. पुलिस के आला अधिकारी जो कल तक इस बाबा से आशीर्वाद लेते थे उन्होंने आदेश देकर अब एफआईआर दर्ज करा दी है. लेकिन बाबा अब फरार हैं. इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. पर बाबा अब कहां गायब हो चुके हैं, कोई नहीं जानता.

ADVERTISEMENT

अब पुलिस में रेप की रिपोर्ट दर्ज होते ही उसी बाबा की कई आपत्तिजनक तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर शेयर होने लगीं. आखिर क्या है पूरा मामला. आइए बताते हैं.

भागवत कथा के लिए पूरे शहर में लग गए थे पोस्टर

Rewa Baba Sitaramdas Maharaj : रीवा में पिछले एक हफ्ते से जगह-जगह कथावाचक बाबा सीताराम दास महाराज के पोस्टर लगे हैं. इस पोस्टर में बताया गया है कि 1 अप्रैल से 10 अप्रैल तक श्रीमद भागवत का आयोजन किया जाएगा.

ADVERTISEMENT

इसके लिए बड़े जोर-शोर से तैयारी चल रही थी. इसके लिए कथावाचक बाबा सीताराम दास कुछ दिन पहले ही शहर में आ गए. बाकायदा उन्हें रहने के लिए रीवा के सरकारी गेस्ट हाउस में सबसे वीआईपी कमरा दिया गया. जहां पर पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मिलने आते थे.

ADVERTISEMENT

एसएसपी से लेकर कमिश्नर और नेता भी लेते थे आशीर्वाद

Rewa Baba Sitaramdas Maharaj New : सोशल मीडिया पर एसएसपी से लेकर कमिश्नर समेत बड़े कारोबारी और राजनेता आशीर्वाद लेने आ रहे थे. इसी बीच, 28 मार्च को एक सनसनीखेज मामला सामने आया. जिसमें बताया जा रहा है कि रीवा के एक कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा का कुछ काम मैनेजमेंट में फंसा हुआ था.

लेकिन काफी समय से ये काम पेंडिंग था. शहर में बाबा के आने को लेकर किसी ने बताया कि वो अगर महाराज से मिलेगी तो काम हो जाएगा. इसलिए वो छात्रा बाबा से मिलने पहुंच गई. बताया जा रहा है कि वो लड़की बाबा से मिलने के लिए सरकारी गेस्ट हाउस में पहुंच गई.

बाकायदा लड़की को खाने-पीने के लिए दिया गया. इस दौरान उसे कोल्ड्रिंक्स भी दी गई. जिसमें कुछ नशीला पदार्थ मिलाकर दे दिया गया. जिसे पीते ही वो लड़की नशे की हालत में हो गई. जिसके बाद उसके साथ अश्लील हरकत और दुष्कर्म किया गया. यहां से जब छात्रा को दूसरे स्थान पर ले जाया जा रहा था तब वो किसी तरह से चंगुल से छूटकर बाहर निकली.

इसके बाद छात्रा ने परिजनों को जानकारी दी और फिर पुलिस में शिकायत दी गई. नशे में होने की वजह से लड़की का बयान अगले दिन यानी 29 मार्च को लिया गया. लड़की के बयान के बाद ही 29 मार्च को आरोपी सीतारामदास महाराज, विनोद पांडे, धीरेंद्र मिश्रा और मोनू मिश्रा के खिलाफ गैंगरेप की धारा आईपीसी-376(D) के अलावा मारपीट, बंधक बनाना, गाली-गलौच और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया गया. इस केस में आरोपी विनोद पांडे पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है लेकिन मुख्य आरोपी बाबा समेत कई अन्य अभी फरार हैं.

विनोद पांडे पर 40 से अधिक मुकदमे हैं दर्ज

पुलिस की जांच में पता चला कि जिस विनोद पांडे को गिरफ्तार किया गया उस पर पहले से ही 40 से अधिक केस हैं. रीवा सर्किट हाउस यानी सरकारी गेस्ट हाऊस में उसी अपराधी के नाम पर कमरा भी बुक किया गया था.

रीवा के डबल मर्डर केस में भी वो आरोपी है. बताया जा रहा है कि बाबा के चेलों ने ही लड़की को झांसे में लेकर काम पूरा कराने की बात कही थी. ये भी बताया जा रहा है कि आरोपी देश के नामी संत और पूर्व राज्यसभा सांसद वेदांती महाराज का करीबी रिश्तेदार भी है. हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT